पन्नीरसेल्वम बनाम शशिकला: तमिलनाडु में संकट बरकरार, निगाहें अब राव पर

Posted By:
Subscribe to Oneindia Hindi

चेन्नई| तमिलनाडु की सत्ता में इस वक्त भूचाल आया हुआ है। अन्नाद्रमुक महासचिव वी.के.शशिकला और कार्यवाहक मुख्यमंत्री ओ. पन्नीरसेल्वम के बीच चल रही जंग ने पूरी राजनीति को हिलाकर रख दिया है।

पन्नीरसेल्वम बनाम शशिकला की जंग में किसकी होगी जीत?

दोनों ने दावा किया है कि उनके पास सरकार बनाने को बहुमत है और जे जयललिता के ही बताए रास्तों पर चलकर वो पार्टी और राज्य के विकास का मार्ग प्रशस्त करने वाले हैं।

कौन हैं 'शशिकला नटराजन', जो संभालेंगी 'जयललिता' की गद्दी?

राज्यपाल सी. विद्यासागर राव के हाथ में अंतिम फैसला

राज्यपाल सी. विद्यासागर राव के हाथ में अंतिम फैसला

इन दोनों दलों में सही कौन है, इस बारे में अंतिम फैसला राज्यपाल सी. विद्यासागर राव को लेना है, जो आज गुरूवार दोपहर को चेन्नई पहुंचेंगे। मालूम हो कि महाराष्ट्र के राज्यपाल राव के पास तमिलनाडु के राज्यपाल का अतिरिक्त प्रभार है।

शशिकला के समर्थक अज्ञात जगह पर

शशिकला के समर्थक अज्ञात जगह पर

आपको बता दें कि एआईएडीएमके के शशिकला के समर्थकों को किसी अज्ञात जगहों पर पहुंचा दिया गया है, जो कि दिल्ली में राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी से मुलाकात कर सकते हैं।

पन्नीरसेल्वम हुए बागी

पन्नीरसेल्वम हुए बागी

ये झगड़ा तब शुरू हुआ जब मंगलवार रात पन्नीरसेल्वम ने यह कहते हुए शशिकला के खिलाफ विद्रोह किया कि उनसे जबरन मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा लिया गया है। अपनी बात कहने से पहले वो जयललिता की समाधी पर गए और वहां आधे घंटे तक ध्यान किया और वहां से आने के बाद उन्होंने शशिकला नटराजन के खिलाफ अपना बिगुल फूंक दिया। उन्होंने दावा किया है कि 234 सदस्यीय विधानसभा में वह अपना बहुमत साबित कर देंगे।

 जयललिता के निधन के मामले की जांच

जयललिता के निधन के मामले की जांच

यही नहीं बुधवार को पन्नीरसेल्वम ने जयललिता के निधन के मामले की जांच का आदेश देकर सबको चौंका दिया। उन्होंने कहा है कि सर्वोच्च न्यायालय के न्यायाधीश की अध्यक्षता में एक समिति गठित की जाएगी, जो जयललिता के निधन के मामले की जांच करेगी।

 अन्नाद्रमुक के 130 से 134 विधायक

अन्नाद्रमुक के 130 से 134 विधायक

तो दूसरी ओर शशिकला के समर्थकों का कहना है कि अन्नाद्रमुक के 130 से 134 विधायक उनकी नेता के साथ हैं। शशिकला को रविवार को पार्टी ने अपना विधायक दल का नेता चुना था। शशिकला ने बुधवार को पन्नीरसेल्वम को 'विश्वासघाती बताते हुए कहा कि समय ही बताएगा कि पन्नीरसेल्वम ने किसकी शह पर उनके खिलाफ बगावत की है और वो तमिलनाडु की पूर्व मुख्यमंत्री जयललिता की मौत के मामले में किसी भी जांच से नहीं डरतीं।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
With uncertainty looming large over Tamil Nadu politics following the revolt of outgoing chief minister O Panneerselvam against chief minister-in-waiting VK Sasikala, in charge governor Ch Vidyasagar Rao is in the limelight again.
Please Wait while comments are loading...