सरकार ने बढ़ाया नोटिस पीरियड तो भड़का पायलट, FB पर निकाली अपनी भड़ास

Posted By:
Subscribe to Oneindia Hindi

नई दिल्ली। केंद्र सरकार ने पायलट के लिए नोटिस पीरियड की अवधि बढ़ाकर 1 साल कर दी है। नोटिस पीरियड की अवधि बढ़ाए जाने से एयर इंडिया का एक पायलट नाराज है और उसने अपनी नाराजगी फेसबुक के जरिए जाहिर की है। उसने सरकार पर कई सवाल दागे है।

 Air India pilot seeks notice period for 'Aya Ram Gaya Ram netas' as DGCA seeks to double captain's notice period

एयर इंडिया के पायलट एस साबू ने सरकार ने कहा है कि पायलट की तरह नेताओं और जनप्रतिनिधियों के लिए भी नोटिस पीरियड होनी चाहिए। एस साबू ने 'आया राम और गया राम' नेताओं और जनप्रतिनिधियों को रोकने के लिए सरकार से अपील की है। उन्होंने कहा है कि सरकार को जनप्रतिनिधियों को एक दल से दूसरे दल में जाने से रोकने के लिए नोटिस पीरियड की व्यवस्था करनी चाहिए। इसके लिए उन्होंने तर्क भी दिए है।

साबू ने फेसबुक पर लिखा है कि सरकार को ऐसा कानून लाना चाहिए जिसके तहत चुनाव आयोग में पंजीकृत दलों से संबंध रखने वाले नेताओं और जनप्रतिनिधियों को अपनी पार्टी बदलने से पहले 1 साल का नोटिस पीरियड देना पड़े। ये नियम नौकरशाहों के लिए भी लागू होना चाहिए। साबू ने लिखा है कि जनप्रतिनिधियों के एक दल से दूसरे दल में जाने पर सरकार अस्थिर हो जाती है। जिसके चलते चुनाव कराने पड़ते हैं और उसका बोझ सरकारी खजाने पर पड़ता है।

इसलिए सरकार ने जिस तरह से पायलटों के लिए नोटिस पीरियड को 6 महीने से बढ़ाकर 1 साल कर दिया है उसी तरह से उन्हें नेताओं और जनप्रतिनिधियों के लिए भी नोटिस पीरियड का नियम लाना चाहिए। गौरतलब है कि सिविल एविएशन मिनिस्ट्री ने बुधवार को पायलटों को रिजाइन करने से पहले एक साल और को-पायलट्स को 6 महीने पहले नोटिस देने का नियम लागू कर दिया है।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
With the DGCA buckling under big airlines' pressure and proposing to double commanders' notice period to a year, a senior Air India pilot has sought similar notice period for 'Aya Ram Gaya Ram politicians'.
Please Wait while comments are loading...