नोट बैन पर मोदी सरकार को घेरने के लिए विपक्ष हो रहा एकजुट

Subscribe to Oneindia Hindi

नई दिल्‍ली। 16 नवंबर से शुरु होने वाले संसद के शीतकालीन सत्र में मोदी सरकार को घेरने के विपक्ष एकजुट होना शुरु हो गया है।

Parliament

विपक्षी दल कल फिर करेंगे मंथन

देश भर में 500-1000 के नोट बंद होने के बाद से ही विपक्ष मोदी सरकार पर हमलावर है। आगामी संसद सत्र में मोदी सरकार को कैसे घेरा जाए, इसको लेकर कांग्रेस, टीएमसी, आम आदमी पार्टी, समाजवादी पार्टी, वामदल और बीएसपी ने संयुक्‍त रूप से एक बैठक की। मंगलवार को एक बार फिर से विपक्षी दल बैठक करके इस पर रणनीति बनाएंगे।

अधिक से अधिक नए 500-2000 रुपए के नोट छापे जा रहे

ये बताओ 15 लाख कब आयेंगे?

पूर्व रेल मंत्री और राजद प्रमुख लालू यादव ने पीएम के नोट बैन के फैसले पर उन्‍हें घेरना शुरू कर दिया है। लालू ने सोशल मीडिया साइट ट्वीटर पर लिखा है कि इन हालातों में जनता को भाषण नहीं राशन चाहिए। ऊपर-नीचे, बांए-दांए और ईधर-उधर मत झांकिए, ये बताओ 15 लाख कब आयेंगे?

उन्‍होंने कहा कि नौटंकी बंद करो। किसान मर रहा है, रबी की बुआई कैसे करेगा। बीज व खाद किससे खरीदेगा? तुम्हारे पूंजीपति मित्र किसानों को बीज खरीदवाने आएंगे क्या? इसके बाद लालू ने लिखा कि किसानों की खरीब पैदावार पड़ी है। कोई खरीदने वाला नही है। रबी की बुआई का पैसा नही है। एसी कमरों में नीति बनाने वालों को किसानी का "क" भी नही पता। गांवों में बैंक नहीं, है तो उनमें पैसे नहीं। किसानों को किन पापों की सजा और पूंजीपति मित्रों को किन कर्मों का पुण्य दे रहे हो? बताओ.. आपको बताते चलें कि 8 नवंबर, 2016 को पीएम मोदी के 500-1000 के पुराने नोट बंद करने का ऐलान किया था। इसके बाद से विपक्षी दलों ने इस मुद्दे को संसद में उठाने का फैसला कर लिया है।

राज्‍यसभा और लोकसभा में कार्यस्‍थगित कर नोट बैन पर चर्चा का प्रस्‍ताव पहले ही कांग्रेस दे चुकी है। साथ ही आज एक तरफ संसद का शीतकालीन सत्र शुरू होने से पहले सभी सर्वदलीय बैठक होनी हैं। वहीं विपक्षी दल भी भी मोदी सरकार को घेरने के लिए एक साथ मिलकर हमला बोलने की तैयारी कर रहे हैं।

ईधर-उधर मत झांकिए, ये बताओ 15 लाख कब आयेंगे?

दिल्‍ली विधानसभा का आपातकालीन सत्र बुलाया गया

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि इस मामले के संबंध में कल विधानसभा का सत्र बुलाया गया है। उन्होंने कहा कि दिल्ली सरकार सिविल वालंटियरों को बैंक्स, एटीएम पर लगाएगा जो बिस्किट और रिफ्रेशमेंट सरीखी व्यवस्था देखेंगे साथ ही फॉर्म भरने जैसी दिक्कतों में लोगों की सहायता करेंगे।

केजरीवाल ने कहा कि लोगों के घरों में चूल्हे जलने बंद हो गए हैं और देश के हालात बिगड़ते जा रहे हैं। बदहवाश है केंद्र सरकार उन्होंने कहा कि आज केंद्र सरकार ने यह ऐलान किया कि नोट पहुंचाने के लिए वायुसेना की मदद लेगी इससे यह जाहिर हुआ कि सरकार के पास कोई गेमप्लान नहीं था। ये सरकार की बौखलहट और बदहवासी दिखा रहा है। केजरीवाल ने कहा कि मोदी जी के दोस्त चैन की नींद सो रहे हैं। गरीब पूरी रात बैकों के सामने बिता रहे हैं। उन्होंने कहा कि कड़वी चाय के नाम पे मोदी जी ने ग़रीबों को जहर पिला दिया।

उन्होंने कहा कि आज केंद्र सरकार ने यह ऐलान किया कि नोट पहुंचाने के लिए वायुसेना की मदद लेगी इससे यह जाहिर हुआ कि सरकार के पास कोई गेमप्लान नहीं था। ये सरकार की बौखलहट और बदहवासी दिखा रहा है। केजरीवाल ने कहा कि मोदी जी के दोस्त चैन की नींद सो रहे हैं। गरीब पूरी रात बैकों के सामने बिता रहे हैं। उन्होंने कहा कि कड़वी चाय के नाम पे मोदी जी ने ग़रीबों को जहर पिला दिया। नोट बैन: ताकतवर तानाशाह PM ने अराजकता का माहौल पैदा कर दिया गौरतलब है कि 8 नवंबर को राष्ट्र के नाम दिए संदेश में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 500 और 1,000 की करेंसी को अवैध घोषित कर दिया था जिसके बाद से एक ओर पूरा देश लाइन में खड़ा है वहीं विपक्ष इस फैसले का विरोध कर रहा है।

अखिलेश की टीम के ये छह साथी क्‍या दिखा पाएंगे कमाल?

पीएम दो साल तक कुंभकरण की तरह सोते रहे

बसपा सुप्रीमो मायावती ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर एक बार फिर से हमला बोला है। उन्होंने कहा कि पीएम ने गाजीपुर की रैली में पूरा भाषण थोथा चना बाजे घना रहा है। उन्होंने कहा कि पीएम दो साल तक कुंभकरण की तरह सोते रहे और अब जनता का ध्यान हटाने के लिए हवा-हवाई घोषणा कर रहे हैं।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
after currency ban of 500-1000 rupee note Opposition stands united against Modi
Please Wait while comments are loading...