महानदी को लेकर आमने-सामने छत्तीसगढ़ और ओडिशा, केन्द्र करेगा बीच-बचाव

Posted By:
Subscribe to Oneindia Hindi

छत्तीसगढ़। कावेरी नदी के जल बंटवारे को लेकर कर्नाटक और तमिलनाडु के बीच चल रहा विवाद अभी थमा नहीं है कि महानदी पर बांध बनाने को लेकर ओडिशा और छत्तीसगढ़ की सरकार में ठन गई है।

 

mahanadi

 

महानदी के पानी और हीराकुंड बांध को लेकर कई बार दोनों राज्यों के बीच आरोप-प्रत्यारोप होते रहे हैं। अब नया मामला छत्तीसगढ़ सरकार के महानदी पर सात मंजिला बैराज बनाने को लेकर है।

ओडिशा सरकार का आरोप है कि छत्तीसगढ़ सरकार उन्हें बिना किसी जानकरी के ही ये बैराज बना रही है, जिससे ओडिशा को नुकसान होगा। वहीं छत्तीसगढ़ सरकार का कहना है कि इससे ओडिशा को मिलने वाले पानी पर कोई फर्क नहीं पडे़गा।

इस पूरे मामले पर चर्चा के लिए आज (शनिवार) को ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक और छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री जल संसाधन मंत्री उमा भारती के साथ बैठक करेंगे। दोनों मुख्यमंत्री अपना-अपना पक्ष इस बैठक में रखेंगे।

 

कमैटी करेगी पूरे मामले की जांच

 

अखिलेश के समर्थकों पर भड़के मुलायम, बोले- ये तमाशा नहीं होने दूंगा

 

महानदी पर बांध को लेकर चल रहा विवाद दो राज्यों का तो है ही, ये दो पार्टियों की खींचतान की वजह भी बन गया है। बीजू जनता दल और भारतीय जनता पार्टी के नेता लगातार एक-दूसरे पर आरोप-प्रत्यारोप लगा रहे हैं।

इस बांध को लेकर बीजू जनता दल के सांसद भातृहरि माहताब ने मानसून सत्र में इस मामले को उठाया था। अब सबकी नजर आज की मीटिंग पर है। जल संसाधन मंत्री उमा भारती ने मामले के जल्दी सुलझ जाने की आशा जताई है।

उमा भारती ने ट्वीट कर कहा कि एक सप्ताह के अंदर एक कमैटी गठित की जाएगी, जो पूरे मामले की जांच करेगी। उमा का कहना है कि इस पर दोनों पक्ष सहमत हैं।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
After Cauvery, row brewing over Mahanadi
Please Wait while comments are loading...