जो महिलाओं को छोटे कपड़े पहनने देते, वह उनका सम्मान नहीं करते- आजमी

Written By:
Subscribe to Oneindia Hindi

नई दिल्ली। समाजवादी पार्टी के नेता अबू आजमी ने महिलाओं के बारे में दिए बयान के बाद एक बार फिर से विवादित बयान दिया है। अबू आजमी ने पहले महिलाओं के छोटे कपड़ों पर टिप्पणी की थी जिसके बाद वह विवादों में घिर गए थे, लेकिन अपने उस बयान से सबक सीखने की बजाए अबू आजमी ने कहा कि मैंने कभी भी महिलाओं का अपमान नहीं किया, लेकिन जो लोग महिलाओं को छोटे कपड़े पहनने की इजाजत देते हैं वह वास्तव में महिलाओं का अपमान करते हैं।

abu azmi

महिलाओं को अपनी सुरक्षा के लिए सतर्क रहना चाहिए

आजमी ने कहा कि महिलाओं को अपनी सुरक्षा को लेकर सतर्क रहना चाहिए, उन्होंने कहा कि जबतक महिलाओं के खिलाफ अपराध नहीं खत्म होता है उन्हें अपनी सुरक्षा का खयाल रखना चाहिए। जबतक ये लोग अपने रास्ते नहीं बदलते हैं इस तरह की घटनाएं खत्म नहीं होगी, लिहाजा महिलाओं को अपनी सुरक्षा के लिए सतर्क रहना चाहिए। आजमी ने लिव में रहने वालों का भी मजाक उड़ाते हुए कहा कि इस तरह के रिश्तों को इस्लाम में स्वीकार नहीं किया जा सकता है, महिलाओं को सिर्फ उसी पुरुष के साथ रहना चाहिए जिसके साथ उसका विवाह हुआ है।

इसे भी पढ़ें- अबू आजमी के बयान पर ट्विटर पर भिड़े ईशा गुप्ता और आयशा टाकिया के पति फरहान आजमी

टीआरपी के लिए मेरे बयान को तोड़ा गया

अपने पहले के बयान का बचाव करते हुए अबू आजमी ने कहा कि मेरे बयान को गलत तरीके से पेश किया गया, चैलनों ने अपनी टीआरपी के लिए मेरे बयान को अपने हिसाब से तोड़ा मरोड़ा था। मीडिया ने टीआरपी के लिए मेरे बयान को अपने हिसाब से कहीं से काटकर कहीं पेस्ट किया और उसे लोगों को दिखा दिया। बेंगलुरु में छेड़छाड़ मामले पर अबू आजमी ने युवती के पोशाक पर सवाल उठाए थे, लेकिन आलोचना के बाद उन्होंने इस घटना की निंदा करते हुए कहा कि आरोपियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई होनी चाहिए।

अरब देशों की तरह बने कानून

रेप और छेड़छाड़ के खिलाफ अबू आजमी ने सख्त कानून की भी मांग की है। उन्होंने कहा कि दिल्ली में निर्भया रेप केस के बाद कानून में बदलाव किया गया था, लेकिन बावजूद इसके इस तरह की घटनाएं बढ़ रही हैं। दुबई, सऊदी अरब, कुवैत और अरब देशों में भी महिलाएं फैशनेबल कपड़े पहनती हैं लेकिन किसी की भी उन्हें छेड़ने की या छूने की हिम्मत नहीं होती है, क्योंकि वहां के नियम काफी सख्त हैं, ऐसे ही कानून भारत में भी बनाए जाने चाहिए।

इसे भी पढ़ें- सपा नेता अबु आजमी का महिलाओं से छेड़खानी पर बयान, शक्कर गिरेगी तो चींटी आएगी ही

क्या कहा था आजमी ने

आजमी ने कहा कि भारतीय संस्कृति पर उनके बयान पर क लोगों ने अपना समर्थन दिया है। आपको बता दें कि हाल ही में अबू आजमी ने कहा था कि नंगापन भारत का नया फैशन बन गया है। आज के आधुनिक काल में जो लड़की जितने कम कपड़े पहनती है और जिस्म दिखाती है उसे उतना ही फैशनेबल कहा जाता है। मेरा मानना है कि अगर मेरी बेटी या बहन 31 दिसंबर की रात सूरज ढलने के बाद जश्न मनाने जाती है और उसके साथ उसके पिता या पति नहीं है तो और वह किसी अन्य पुरुष के साथ है तो उसका सम्मान नहीं किया जाता है।

देश-दुनिया की तबरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Abu Azmi once again gives controversial statement on women. He says those who allow women to wear short clothes do not respect them.
Please Wait while comments are loading...