कोर्ट के फैसले से खिन्न आशुतोष बोले अब लोग अपनी दिक्कते एलजी के पास लेकर जाएं

Posted By:
Subscribe to Oneindia Hindi

नई दिल्ली। दिल्ली हाई कोर्ट में एलजी व दिल्ली सरकार के बीच विवाद को लेकर मुंह की खाने के बाद आम आदमी पार्टी ने दिल्ली के लोगों को अपनी समस्या को लेकर एलजी के पास जाने को कहा है। आप नेता आशुतोष ने कहा कि दिल्ली हाई कोर्ट ने एलजी को दिल्ली का प्रशासनिक मुखिया बताया है ऐसे में लोगों को अपनी दिक्कतों के लिए एलजी के पास जाना चाहिए।

केजरीवाल विपश्यना पर, पार्टी ने जारी की पंजाब चुनाव की पहली लिस्ट

AAP leader Ashutosh says now Delhi people should go to LG for their problems

आशुतोष ने कहा कि हमें देश की न्याय व्यवस्था पर पूरा भरोसा है लेकिन हम हाई कोर्ट के फैसले से असहमत हैं। आशुतोष ने कहा कि गुरुवार को कोर्ट के फैसले के बाद परिस्थितियां बदल गयी है, उन्होंने कहा कि जो भी काम दिल्ली सरकार लोगों के लिए कर रही थी, या भ्रष्टाचार के खिलाफ कदम उठा रही थी हमें उम्मीद है एलजी भी उसी विश्वास के साथ लोगों की समस्या का निदान करेंगे।

हाई कोर्ट के फैसले से नाखुश आशुतोष ने कहा कि हमें उम्मीद है कि सुप्रीम कोर्ट हमारे पक्ष में फैसला देगी, उन्होंने कहा कि पार्टी के तौर पर हम संविधान और न्याय व्यवस्था पर भरोसा करते हैं और हम हाई कोर्ट के फैसले का पालन करेंगे। वहीं जो तमाम कमेटियों का गठन किया गया है उसपर आशुतोष ने कहा कि इन मुद्दों पर एलजी फैसला लेंगे और इसे आगे बढ़ायेंगे। केजरीवाल की 49 दिनों की सरकार के दौरान शीला दीक्षित, मुकेश अंबानी के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गयी थी हमें उम्मीद है कि एलजी इस मामले में कदम उठायेंगे।

आप के मंत्री ने लगाई गुहार, कहा मुझे अरविंद केजरीवाल से बचाओ!

दिल्ली के घोटालों पर बोलते हुए आशुतोष ने कहा कि सीएनजी फिटनेस घोटाला, दिल्ली डिस्कॉम घोटाला, डीडीसीए घोटालों जोकि अब एलजी की देखरेख में है उम्मीद है कि इसपर वह कार्यवाही करेंगे। आशुतोष ने कहा कि जब यह मामला सुप्रीम कोर्ट में है हमें उम्मीद है कि एलजी अपनी ताकत इस्तेमाल करते हुए आप की भ्रष्टाचार विरोधी अभियान को जारी रखेंगे। लेकिन अगर वह अपना दायित्व निभाने में विफल रहते हैं तो हम यह मामला कोर्ट के सामने रखेंगे।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Ashutosh says since the Delhi High Court had held the LG as the “administrative head” of the capital.
Please Wait while comments are loading...