ये मां अपने बेटे के लिए चाहती है 'मौत', जानिए क्या है मामला

Subscribe to Oneindia Hindi

कोयंबटूरतमिलनाडु के कोयंबटूर में एक महिला अपने बच्चे के लिए इच्छा मृत्यु की मांग कर रही है। इसके लिए उसने डिस्ट्रिक्ट मजिस्ट्रेट से मुलाकात करके करीब 10 साल से बीमार अपने 17 साल के बेटे के लिए इच्छा मृत्यु की मांग की है।

euthanasia

जी मनीमेकलई नाम की 38 वर्षीय यह महिला अपने माता पिता के साथ रहती हैं। उनके दो बेटे हैं, जबकि उनके पति की 13 साल पहले ही मौत हो गई है। उनके बड़े बेटे की उम्र 23 साल है और छोटे बेटे की उम्र 17 साल है। उनका छोटा बेटा जयगणेश पिछले एक दशक से बुरी तरह से बीमार है और वह उसका ध्यान नहीं रख पा रही हैं।

सुहाना होगा सफर: सिर्फ 6 घंटे में पहुंच जाएंगे मुंबई टू गोवा

उनका बेटा अचानक बहुत ही हिंसक हो जाता है और घर में तोड़-फोड़ मचा देता है। जयगणेश की मां का कहना है कि उसके इस व्यवहार की वजह से वह काम पर भी नहीं जा पाती हैं। वह कहती हैं कि उनके माता-पिता शीशे का काम करते हैं और उनका बेटा अपने हिंसक व्यवहार के चलते सारा सामान तोड़ देता है। ऐसी स्थिति में उसे संभालना भी मुश्किल हो जाता है।

वड़ा पाव सेंटर और जलेबी वालों पर मारे जा रहे आयकर के छापे

उनका कहना है कि उन्होंने और उनकी परिवार ने बच्चे का पूरा ध्यान रखने में कोई कमी नहीं छोड़ी, लेकिन दिन पर दिन जयगणेश की तबियत खराब ही होती गई। जयगणेश के बड़े भाई गौतम कहते हैं कि जब कभी उनके छोटे भाई को काबू करना मुश्किल हो जाता है तो उन्हें भी अपने भाई को संभालने के लिए ऑफिर से घर आना पड़ता है।

जयगणेश को पिछले 10 सालो में कोयंबटूर, त्रिची, अरनथंगी, मयिलादुथुरई, पलानी और पोल्लाची के मानसिक चिकित्सालयों में भी भर्ती कराया गया, लेकिन कहीं भी उसका इलाज नहीं हो सका है।

jio के बाद BSNL ने किया धमाका, देगा लाइफटाइम मुफ्त कॉलिंग

गौतम ने बताया कि जयगणेश को किलपॉक के मानसिक चिकित्सालय में भी भर्ती कराया गया था, जहां पर उसकी हालत में हल्का-फुल्का सुधार देखने को भी मिला, लेकिन दो महीनों के बाद ही अस्पताल प्रशासन ने उसे घर ले जाने को कह दिया। जयगणेश के हिंसक व्यवहार की वजह से रोज ही पड़ोसी और मकान मालिक रोज ही गुस्सा होते हैं।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
a mother in coimbatore pleads for mercy killing
Please Wait while comments are loading...