भोपाल #JailBreak: 8 आतंकियों का 8 घंटे के भीतर खात्‍मा, जानिए कब क्‍या हुआ

Subscribe to Oneindia Hindi

नई दिल्‍ली। जेल से भागे सिमी के 8 आतंकियों को पुलिस ने एक पहाड़ पर घेर कर एनकाउंटर कर दिया। ये आतंकी भोपाल सेंट्रल जेल से दिवाली वाली रात 2-3 बजे भागे थे।
PICS: एनकाउंटर में मारे गए सिमी के 8 आत‍ंकियों के नाम, पते और पूरी क्राइम कुंडली

8 members of SIMI killed hours after daring jailbreak from Bhopal

आतंकियों के फरार होने के 8 घंटे बाद मध्‍य प्रदेश पुलिस और एसटीएफ ने 10 किमी दूर खेजड़ी गांव में आतंकियों का एनकाउंटर कर दिया। लेकिन इन 8 घंटों ने पूरे देश में हड़कंप मचा दिया था। तो आईए विस्‍तार से जानते हैं इन 8 घंटो में क्‍या-क्‍या हुआ।

देर रात 2 से 3 के बीच भागे आतंकी

डीआईजी (भोपाल) रमन सिंह ने कहा- रविवार-सोमवार यानी दिवाली की रात जब पटाखों का शोर कुछ थम रहा होगा तकरीबन 2-3 बजे के बीच आतंकी भाग निकले। आतंकियों ने ड्यूटी बदलते वक्त दो गार्ड पर हमला किया। पहले हेड गार्ड रमाशंकर सिंह की हत्या कर दी।

उनका गला रेत दिया। इसके बाद जेल में ओढ़ने के लिए मिली चादरों की रस्सी बनाई। उसी के सहारे दीवार फांदी। दूसरा गार्ड घायल है। इसमें से कुछ आतंकी वे भी हैं जो 2013 में खंडवा जेल से भागे थे। उन्हें पकड़ कर यहां लाया गया था।

4 बजे हुई घटना की जानकारी

प्रधान आरक्षक रमाशंकर यादव और आरक्षक चंदन सिंह ड्यूटी बदलने के लिए मिले थे। इसी दौरान आठ आतंकियों ने इन पर हमला कर दिया। प्रधान आरक्षक यादव की चम्मच या प्लेट से बनाए गए धारदार हथियार से गला रेतकर हत्या कर दी और आरक्षक चंदन के हाथ-पैर बांध दिए।

इसके बाद चादर में लकड़ी बांधकर उसकी सीढ़ी बनाई और करीब 25 फीट ऊंची दीवार को फांदकर दूसरी तरफ निकल गए। सभी आरोपी बी ब्लॉक में थे। फरार आठ आतंकियों में से चार खंडवा जेल से फरार हुए थे। बताया जा रहा है कि घटना की जानकारी जेल प्रबंधन को सुबह 4:30 पर मिली।

पुलिस हो गई सक्रिय और मिल गई कामयाबी

आतंकियों के फरार होते ही पूरा पुलिस अमला हरकत में आ गया था। रात में ही पुलिस के आला अफसर जेल में पहुंच गए। सुबह सीएम शिवराज सिंह चौहान ने जेल एडीजी और डीआईजी को हटा दिया और आतंकियों को जल्द से जल्द अरेस्ट करने का भरोसा दिलाया। इसी सक्रियता के चलते 8 घंटे के भीतर-भीतर पुलिस को कामयाबी मिल गई और आतंकियों को मार गिराया।

45 मिनट तक चला एनकाउंटर

आतंकी जैसे ही जेल से भागे थे पूरे राज्य में अलर्ट हो गया था। पूरे शहर की घेराबंदी थी। इसी बीच पुलिस को खबर मिली कि आतंकी भोपाल से 10 किमी दूर खेजड़ी गांव में छिपे हुए हैं।

गांव वालों की ओर से ये इनपुट मिला था। फोर्स जब मौके पर पहुंची तो आतंकी अचारपुरा के पास एक पहाड़ पर छिपे हुए थे। पुलिस ने उन्हें सरेंडर करने को कहा, लेकिन आतंकियों ने फायरिंग शुरू कर दी। इसके बाद पुलिस ने एनकाउंटर में सभी को मार गिराया।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Eight members of the banned group Students' Islamic Movement of India or SIMI were killed on Monday hours after they escaped from a high security prison in Madhya Pradesh's Bhopal after slitting the throat of a guard with steel plates.
Please Wait while comments are loading...