68वां गणतंत्र दिवस: पहली बार यूएई की सेना ने लिया भारत के गणतंत्र दिवस की परेड में हिस्‍सा

भारत के 68वें गणतंत्र दिवस के मौके पर पहली बार संयुक्‍त अरब अमीरात की सेना ने भी परेड में हिस्‍सा लिया।

Subscribe to Oneindia Hindi

नई दिल्ली। भारत के 68वें गणतंत्र दिवस के मौके पर पहली बार संयुक्‍त अरब अमीरात की सेना ने भी परेड में हिस्‍सा लिया। आपको बताते चले कि इस बार गणतंत्र दिवस समारोह में बतौर मुख्‍य अतिथि भाग लेने के लिए संयुक्‍त अरब अमीरात देश के उप प्रमुख कमांडर शेख मोहम्‍मद बिन जायद अल नाहयन शामिल हुए।

68वां गणतंत्र दिवस: पहली बार यूएई की सेना ने लिया भारत के गणतंत्र दिवस की परेड में हिस्‍सा

इस दौरान यूएई की सेना के 149 सैनिकों के दस्‍ते ने लेफ्टिनेंट कर्नल अबूद मुसबेह अबूद मुसबेह अलगफेली की अगुवाई में भारतीय गणतंत्र दिवस की परेड में हिसा लिया। यूएई के सैन्‍य दस्‍ते में प्रेसिडेंशियल गॉर्ड, एयर फोर्स, नेवी और सेना के जवानों के अलावा 35 म्‍यूजिशियन का एक समूह शामिल था। इस दस्‍ते ने परेड के दौरान भारत के राष्‍ट्रपति प्रणब मुखर्जी को सलामी भी दी।

फ्रांस के बाद यूएई दूसरा देश बन गया है जिसने भारतीय गणतंत्र दिवस की परेड में शामिल होने के लिए अपने सैन्‍य दस्‍ते को भेजा। इस दौरान नेशनल सिक्‍योरिटी गॉर्ड ने भी पहली बार अपनी राजपथ पर परेड में हिस्‍सा लिया। इस दौरान भारत में स्‍पेशल फोर्स के तौर पर एनएसजी कंमाडों की यूनिट का गठन वर्ष 1984 में ऑपरेशन ब्‍लू स्‍टार के दौरान हुआ था। इस यूनिट का मुख्‍य काम आतंकवाद का खात्‍मा करना और आतंरिक अशांति के उभरने पर राज्‍य की सुरक्षा करना है। इस दौरान पहली बार गणतंत्र दिवस परेड में पहली बार भारत में बने तेजस एयरक्रॉफ्ट ने भी हिस्‍सा लिया।

Read more:गणतंत्र दिवसः राजपथ पर दिखी देश की आन-बान-शान, तस्वीरों में देखें पूरी परेड

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
68th Republic Day Parade In A First, Military Contingent Of UAE Participates
Please Wait while comments are loading...