मोहन भागवत के कार्यक्रम के लिए कॉलेजों से रुपयों की मांग

Subscribe to Oneindia Hindi

आगरा। उत्तर प्रदेश के आगरा में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ ( आरएसएस ) के 4 दिवसीय कार्यक्रम के लिए रुपयों के मांग की खबर सामने आई है। इस कार्यक्रम में संघ के सरसंघचालक मोहन भागवत आगरा, बरेली और अलीगढ़ मंडल के विश्वविद्यालयों और कॉलेजों के करीब 2,000 शिक्षकों को संबोधित करेंगे।

तब शुरू हुआ विवाद

अंग्रेजी अखबार इंडियन एक्सप्रेस के मुताबिक यह विवाद तब शुरू हुआ जब प्राइवेट कॉलेजों के मैनेजरों ने आगरा स्थित डॉ. भीम राव अंबेडकर विश्वविद्यालय के प्रॉक्टर चीफ मनोज श्रीवास्तव पर यह आरोप लगाया कि सभी आरएसएस के इस कार्यक्रम के लिए 51,000 रुपए जमा करेंगे। मनोज श्रीवास्तव 'विश्वविद्यालयी एवं महाविद्यालयी शैक्षिक सम्मेलन' के इंचार्ज हैं। प्राइवेट कॉलेजों के मैनेजरों ने सेल्फ फाइनेंस्ड कॉलेज एसोशिएसन ऑफ आगरा के बैनर तले विरोध दर्ज कराया।

BJP-RSS पर भड़के नीतीश, कहा गाय-नीलगाय से इतना प्यार तो उन्हें रखें शाखाओं में

इस बैनर के तले आगरा मंडल में 250 कॉलेज हैं। अखबार के अनुसार एसोशिएसन के महासचिव आशुतोष पचौरी ने उन्हें बताया कि उन्होंने से इस संबंध में शिकायत करने के लिए आगरा विश्वविद्यालय के कुलपति से मिलने के लिए समय मांगा है लेकिन अभी तक उन्हें समय नहीं मिल सका है। पचौरी ने कहा है कि एसोशिएसन के सदस्य आगरा के जिलाधिकारी से बृहस्पतिवार को मिलेंगे और अपने शिकायत की कॉपी उत्तर प्रदेश के प्रमुख सचिव को भी भेजेंगे।

ये है आरोप

शिकायत में पचौरी ने कहा है कि उन्हें कुछ कॉलेजों के मालिकों से इस बात की शिकायत मिली है कि मनोज श्रीवास्तव बुलाया और उन्हें आरएसएस के कार्यक्रम के नाम पर 51,000 रुपए जमा करने के लिए कहा है।

पचौरी ने कहा कि वो न तो भागवत के खिलाफ हैं, न ही कार्यक्रम के लेकिन राज्य के विश्वविद्यालयों के वरिष्ठ अधिकारियों द्वारा ऐसे कार्यक्रम का आयोजन कराना कुछ नहीं है, सिवाय शिक्षा के भगवाकरण के। अगर वो भगवाकरण करना चाहते हैं तो करें लेकिन कॉलेजों का शोषण मंजूर नहीं है।

एसोशिएसन के अध्यक्ष ब्रजेश चौधरी ने आरोप लगाया है कि उनसे खुद आरएएस के कार्यक्रम के लिए रुपयों की मांग की गई है। उन्होंने आरोप लगाया कि 'श्रीवास्तव कॉलेजों के मालिकों को धमकी दे रहे हैं कि अगर वो पैसे जमा नहीं करेंगे तो उनकी संबद्धता खत्म कर दी जाएगी।'

अपने बयान पर माफी मांगे राहुल गांधी या फिर ट्रायल फेस करें: SC

गलत हैं मुझ पर लगाए गए आरोप

इस मामले पर मनोज श्रीवास्तव ने कहा कि एसोशिएसन के लोग उनके खिलाफ व्यक्तिगत गुस्सा निकाल रहे हैं। मनोज श्रीवास्तव के अनुसार 'प्राइवेट कॉलेज प्रैक्टिकल परीक्षाओं के अंक जमा करने को तैयार नहीं हैं, जो परिणाम जारी करने के लिए आवश्यक है। अभी तक उन्होंने प्रैक्टिकल परीक्षाएं तक आयोजित नहीं कराई हैं। मैंने उन्हें बताया कि जब तक अंक जमा नहीं कराए जाएंगे तब तक परीक्षा परिणाम जारी नहीं किए जा सकेंगे, उन्होंने दबाव बनाने के लिए मुझ पर गलत आरोप लगाना शुरू कर दिया।' वहीं आरएसएस के ब्रज प्रांत प्रचारक प्रमुख प्रदीप ने कहा कि कार्यक्रम में पंजीकरण शुल्क के लिए सिर्फ 100 रुपए मांगे जा रहे हैं।

बता दें कि आगरा में 20 अगस्त से शुरू हो रहे चार दिवसीय कार्यक्रम में भागवत विश्वविद्यालयों के कुलपितयों और शिक्षकों के साथ सम्मेलन तो करेंगे ही साथ ही विवाहित जोड़ों के साथ युवा दंपति सम्मेलन भी करेंगे।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
In agra their is 4 day programme of rss for which they demanded money from private colleges.
Please Wait while comments are loading...