यूपी: मजदूर के जन-धन खाते में आए करीब 4 करोड़ रुपये, हुआ लापता

एटा में एक मजदूर ने जन-धन खाता खुलवाया था। बताया जा रहा है कि शुरू में उसके अकाउंट में ज्यादा पैसे नहीं थे, लेकिन अचानक ही उसके अकाउंट में 3.72 करोड़ रुपये जमा हो गए।

Subscribe to Oneindia Hindi

नई दिल्ली। नोटबंदी के बीच जहां लोग कैश निकालने को लेकर परेशान हैं। इस बीच ऐसे मामले भी सामने आ रहे जिसमें बैंक अकाउंट लगातार करोड़ों रुपये अचानक जमा हो जा रहे हैं। ताजा मामला यूपी के एटा का है।

पल भर में पंजाब का गरीब टैक्सी ड्राइवर बना खरबपति, खाते में आए 10,000 करोड़ रुपए

एटा में रहने वाले शख्स के अकाउंट में आए 3.72 करोड़

एटा में एक मजदूर ने जन-धन खाता खुलवाया था। बताया जा रहा है कि शुरू में उसके अकाउंट में ज्यादा पैसे नहीं थे, लेकिन अचानक ही उसके अकाउंट में करीब 4 करोड़ रुपये जमा हो गए।

नोटबंदी: पेंशन निकालने गए बैंक ने पकड़ा दिए 2 रु. के सिक्के

अकाउंट में करोड़ों मिलने के बाद से लापता है मजदूर

बैंक अधिकारियों को जैसे ही इस बात की जानकारी मिली उनके होश उड़ गए। उन्होंने तुरंत ही मामले की तफ्तीश शुरू की। इस दौरान मजदूर का खाता भी फ्रीज कर दिया गया है। बताया जा रहा है कि जिस मजदूर के खाते में ये रुपये में मिले हैं उसका नाम अरविंद कुमार है और वो दिल्ली में रहकर मजदूरी करता था।

उसने कुछ समय पहले एटा के आईसीआईसीआई बैंक में जनधन खाता खुलवाया था। नोटबंदी के बीच अचानक वो अपने घर एटा पहुंचा। जहां उसे पता चला कि उसके नाम से एटीएम कार्ड आया हुआ है। उसके पास अपना एटीएम कार्ड पहले से था।

खुलासे के बाद बैंक खाता किया गया सील

कहा जा रहा है कि उसने नया एटीएम कार्ड नहीं मंगाया फिर भी नया एटीएम कार्ड आ गया। इसके बाद अरविंद बैंक में गया तो उसके अकाउंट की जांच की गई। जांच में पता चला कि उसके अकाउंट में 3.72 करोड़ रुपये की राशि आ गई है।

हालांकि ये पता नहीं चल पा रहा कि अचानक इतनी राशि कहां से आई। इस खुलासे के बाद से बैंक अधिकारियों ने खाते को फ्रीज कर दिया। वहीं बताया जा रहा है कि अकाउंट धारक अरविंद कुमार भी इस खुलासे के बाद से लापता हैं। फिलहाल बैंक अधिकारियों के साथ-साथ संबंधित विभाग भी मामले की जांच में जुट गए हैं।

 

पंजाब में एक ड्राइवर के अकाउंट में आ गए थे करीब 10 हजार करोड़ रुपये

ये कोई पहला मामला नहीं है जब ऐसी घटना सामने आई हो। इससे पहले पंजाब के बरनाला में गरीब टैक्सी ड्राइवर बलविंदर सिंह के साथ भी कुछ ऐसा ही मामला हुआ था। उनके बैंक अकाउंट में भी अचानक ही करीब 10,000 करोड़ रुपए क्रेडिट हो गए थे।

उनका स्टेट बैंक ऑफ पटियाला में जन धन खाता था। हालांकि उनके ये रुपये सिर्फ एक दिन तक उनके खाते में रहे फिर निकाल लिए गए। वो इस मामले में पूछताछ के लिए बैंक गए। पूरे मामले में बरनाला में स्टेट बैंक ऑफ पटियाला बैंक के ब्रांच मैनेजर रविंदर कौर का कहना है कि इस मामले में इनकम टैक्स विभाग जांच कर रही है। बैंक मैनेजर संदीप गर्ग ने इस घटना पर स्पष्टीकरण देते हुए कहा कि असिस्टेंट मैनेजर ने गलती से 200 रुपए की बजाय 11 अंकों के बैंक के लेजर अकाउंट नंबर की एंट्री कर दी। इस गलती को अगले दिन नोटिस किया गया जिसके बाद इस एंट्री को हटाया गया।

 

आगरा में एक शख्स के खाते में आ गए थे 99,99,91,723.36 करोड़ रुपए

इससे पहले यूपी के आगरा में एक व्‍यक्ति के साथ भी कुछ ऐसा ही हुआ। इस व्‍यक्ति के बैंक खाते में 99,99,91,723.36 करोड़ रुपए का बैलेंस शो कर रहा था।

इतनी बड़ी रकम अपने अकाउंट में देखकर इस मजदूर के होश उड़ गए। उसने तुरंत इस बात की सूचना बैंक को दी। जिसके बाद बैंक मामले की जांच में जुट गया।

प्रतापगढ़ में एक व्यक्ति के खाते में आ गए थे 62 लाख रुपये

उत्‍तर प्रदेश के प्रतापगढ़ में भी एक व्यक्ति के खाते में 62 लाख रुपए अपने आप आ गए थे। प्रतापगढ़ में जब एक मजदूर के खाते में अचानक 62 लाख रुपये पहुंचने का मैसेज आया तो वह डर गया।

इसके बाद उसने ग्राम प्रधान को सूचना दी और उनके साथ बैंक पहुंचा। व्‍यक्ति का खाता एक्सिस बैंक में था जिसे बात में सीज कर दिया गया।

 

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
3.72 crore In labour jan dhan account, enquiry on.
Please Wait while comments are loading...