जापान में पीएम मोदी ने व्यापार सभा को किया संबोधित, जानें 10 बड़ी बातें

जापान में व्यापार सभा को संबोधित करने के लिए दौरान पीएम मोदी ने ऐसा विकास करने की बात कही जिससे वातावरण पर प्रतिकूल असर न पड़े।

Subscribe to Oneindia Hindi

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जापान के तीन दिवसीय दौरे पर हैं। एक व्यापार सभा के दौरान पीएम मोदी ने अपने भाषण में जापान और भारत के द्विपक्षीय रिश्तों पर अपनी बात रखी साथ ही व्यापारिक रिश्तों पर टिप्पणी की।

आईए आपको बताए इस सभा में पीएम मोदी के भाषण की 10 बड़ी बातें।

जापान से मेरा एक दशक पुराना रिश्ता

  • मोदी ने कहा कि भारत में जापान गुणवत्ता, उत्कृष्टता, ईमानदारी और निष्ठा का मानक है। दुनिया के बाकी हिस्सों में भी जापान की ओर से विकास में योगदान से हम सभी परिचित हैं। पीएम ने कहा कि जापान के नेतृत्व, सरकार, उद्योग और जनता से मेरा लगभग एक दशक पुराना रिश्ता है। उन्होंने कहा कि भारत को गौतम बुद्ध और महात्मा गांधी की ओर से दी गई सत्य की शिक्षाओं से प्रेरणा मिलती है।
  • पीएम ने कहा कि भारत और जापान एक साथ काम करने के लिए सबसे उपयुक्त हैं। कहा कि 21वीं सदी एशिया की मानी जाती है। एशिया को वैश्विक विकास का केंद्र माना जा रहा है।हमें साथ काम करना जारी रखना होगा ताकि एशिया के इस उद्भव काल में अहम किरदार अदा कर सकें।

ऐसा भारत की नीतियों के कारण हुआ

  • पीएम ने कहा कि अंतरराष्ट्रीय पर्यावरण के कमजोर परिदृश्य में भारत से मजबूत विकास की खबर है। ऐसा अविश्वसनीय अवसर और भारत के विश्वसनीय नीतियों के कारण हो सका है। कहा कि मैं आपको 10 वर्षीय बिजनेस वीजा, ई- टूरिस्ट और वीजा ऑन एराइवल सरीखी सुविधाओं का प्रयोग करने के लिए प्रोत्साहित कर रहा हूं।
  • पीएम ने कहा कि जापान के साथ सामाजिक सुरक्षा का करार भी लागू किया जा चुका है जो दोनों ओर से पेशेवरों की संख्या बढ़ाने में सहायक है। उन्होंने कहा कि हम आपकी चिंताओं का समाधान करने के लिए सक्रिय है।

भारत की अर्थव्यवस्था हो सबसे ज्यादा खुली

  • पीएम ने कहा कि भारत के विकास के विशाल और मजबूत है। हमारे विकास की प्राथमिकता के लिए तेज उपब्लधियों की जरूरत है। लेकिन यह पर्यावरण के अनुकूल होना चाहिए। उन्होंने कहा कि हम सड़कें और रेलवे तेज गति से बनाना चाहते हैं। हम खनिज पदार्थों और हाइड्रोकॉर्बन पर्यावरण के अनुकूल तरीकों में निकालना है। हमें घर बनाना चाहते हैं लेकिन स्मार्ट तरीके से। हम स्वच्छ तरीके से उर्जा का उत्पादन चाहते हैं।
  • पीएम ने कहा कि 'मेड इन इंडिया और मेड बाय जापान' ने पहले ही शानदार तरीके से काम करना शुरू कर दिया है। हम इसे प्रोत्साहित करने से लिए प्रतिबद्ध हैं। कहा कि भारत आर्थिक सुधारों के लिए नई दिशा का अनुसरण कर रहा है। मेरा संकल्प है कि यह दुनिया के लिए सबसे ज्यादा खुली अर्थव्यवस्था हो।

ई गवर्नेंस सिर्फ शब्द ही नहीं बल्कि सुविधा

  • पीएम ने कहा कि भारत के पैमाने पर, गति और कौशल की जरूरत के दौरान में जापान की भूमिका अहम है। हमारे मेगा प्रोजेक्ट्स में भागीदारी पैमाने और तेजी के प्रतीक है। साथ ही कौशल की पहल जारी है।
  • पीएम ने कहा कि दूसरी पीढ़ी के लिए कुछ भविष्य की योजनाएं हैं जिसमें समर्पित फ्रेट कॉरिडोर, औद्योगिक कॉरिडोर, हाई स्पीड रेलवे, स्मार्ट सिटी, कोस्टल जोन और मेट्रो रेल प्रोजेक्ट शामिल है। जपानी उद्योग के लिए ये सभी ऑफर अद्वितीय अवसर हैं। कहा कि भारत में ई-गवर्नेंस सिर्फ एक लोकप्रिय शब्द ही नहीं है वरन् बुनियादी सुविधा है।

कर रहे हैं वाणिज्यिक कोर्ट की स्थापना

  • पीएम ने कहा कि हमने गुड्स एंड सर्विस टैक्स के तहत नए कानून बना दिए हैं। वाणिज्यिक मामलों के जल्द निपटारे के लिए हम वाणिज्यिक डिवीजन और वाणिज्यिक कोर्ट की स्थापना कर रहे हैं।
  • संबोधन के आखिर में उन्होंने कहा कि आपके हार्डवेयर और हमारे सॉफ्टवेयर का संयोजन बेहद उम्दा है। आईए उज्ज्वल संभावनाओं और बड़ी क्षमताओं के प्रदर्शन के लिए दूसरे से हाथ मिलाएं।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
10 Points of prime minister narendra modi's speech at japan.
Please Wait while comments are loading...