मंदिर पर पक्षपात का आरोप, पुजारी ने मांगे 1000 करोड़

By:
Subscribe to Oneindia Hindi

हैदराबाद। तेलंगाना के चिलकुर बालाजी मंदिर के पुजारी एमवी सुंदर राजन ने वेंकटेश्वर मंदिर से 1000 करोड़ दिलाने को कोर्ट का दरवाजा खटखटाया है।

court

कहा जाता है कि भगवान के लिए तो सबी बराबर होते हैं लेकिन यहां भगवान पर ही पक्षपात का आरोप है। इसके लिए बाकायदा हाइकोर्ट में पक्ष रख कर वेंकटेश्वर मंदिर से 1000 करोड़ की मांग की गई है।

हिजबुल मुजाहिदीन ने वीडियो जारी कर कहा, कश्मीरी पंडित घर लौटें हम सुरक्षा देंगे

आन्ध्रा प्रदेश के सबसे अमीर मंदिरों में गिने जाने वाले तिरुमाला के वेंकटेश मंदिर से तेलंगाना को 1000 करोड़ देने के लिए चिलकुर बालाजी मंदिर के मुख्य पुजारी डॉ. एमवी सुंदर राजन ने हैदराबाद हाईकोर्ट में मंगलवार को एक याचिका दायर की है।

याचिका में उन्होंने कहा कि आंध्रप्रदेश के तिरुमाला स्थित लॉर्ड वेंकटेश्वर मंदिर, तेलंगाना को 1000 करोड़ रुपए दे। उन्होंने आरोप लगाया है कि तिरुमाला मंदिर का प्रबंधन संभालने वाली संस्थान तिरुमाला तिरुपति देवस्थानम (टीटीडी) तेलंगाना के सैंकड़ों मंदिरों की उपेक्षा कर रही है।

2003 से नहीं दी गई है बकाया राशि

हाईकोर्ट ने सुंदर राजन की याचिका स्वीकार करते हुए आंध्रप्रदेश, तेलंगाना सरकार और टीटीडी को नोटिस जारी किए हैं। कोर्ट इस मामले की सुनवाई तीन हफ्ते बाद करेगी।

बीवी को बिना मेकअप देख पति के उड़े होश, दिया तलाक

पुजारी सुंदर राजन का कहना है कि वेंकेटेश्वर मंदिर ने 2003 से बकाया राशि जारी नहीं की है। साल 2014 में जब आंध्रप्रदेश और तेलंगाना अलग-अलग हुए थे तो यह राशि 2300 करोड़ थी।

राजन ने कहा कि 2014 में आंध्रप्रदेश से तेलंगाना के अलग होने से पहले का बकाया 1000 करोड़ होता है, जो तेलंगाना को मिलना चाहिए।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
priest goes to court demanding Rs 1000 crore due from Tirumala shrine
Please Wait while comments are loading...