कोटखाई गैंगरेप: 'बेटी के साथ दरिंदगी करनेवालों को मुझे सौंप दो'

Subscribe to Oneindia Hindi

शिमला। हिमाचल प्रदेश के कोटखाई में स्कूली छात्रा से गैंगरेप व मर्डर मामले में पिता ने कहा है कि जिन्होंने मेरी बेटी को मारा है मैं उनको भी उसी तरह मारना चाहता हूं। मेरी बेटी के साथ दरिंदगी करने वालों को मुझे सौंपा जाये। दांदी के जंगलों में छात्रा की आत्मा की शांति के लिये आयोजित शांति पाठ व हवन के मौके पर फफक कर रोते हुये यह बात कही तो वहां मौजूद लोागें के आंसू भी छलक आये।

Read also: कोटखाई गैंगरेप केस पर आफत में कांग्रेस, राहुल गांधी ने मंगाई रिपोर्ट

'सीबीआई जांच पर हमें भरोसा नहीं है'

'सीबीआई जांच पर हमें भरोसा नहीं है'

वहीं पीड़िता की मां ने कहा कि मैं चाहती हूं कि पुलिस असल दोषियों को गिरफ्तार करे लेकिन पुलिस ऐसा नहीं कर रही। मां ने कहा कि उन्हें सीबीआई पर भरोसा नहीं रहा है। छात्रा के परिजनों को संयुक्त संघर्ष समिति का सर्मथन मिल रहा है जो इंसाफ के लिये किसी भी हद तक जाने को तैयार बैठे हैं। इस मामले में मंगलवार को जहां शिमला में विरोध प्रर्दशन होने जा रहा है वहीं गुम्मा में भी 25 पंचायतों के लोग विराध प्रर्दशन गुम्मा में करेंगे।

मंगलवार को शिमला-गुम्मा में विरोध प्रदर्शन

मंगलवार को शिमला-गुम्मा में विरोध प्रदर्शन

छात्रा की बड़ी बहन ने कहा कि परिवार की उम्मीद तो अब सीबीआई जांच ही है। वहीं संयुक्त संघर्ष समिति के अध्यक्ष बी आर चौहान ने कहा कि गुम्मा में होने जा रहे विरेाध प्रर्दशन में इंसाफ की मांग के लिये दस हजार लोग शामिल होंगे। हम आरोपियों को बाहर निकलने पर विवश कर देंगे व पुलिस को सरकार को भी बता देंगे कि जनता कि ताकत क्या होती है।

घटना की जांज हाईकोर्ट जज से कराने की मांग

घटना की जांज हाईकोर्ट जज से कराने की मांग

वामपंथी सर्मथक शिमला नागरिक सभा जो इस मामले में शुरू से ही मुखर रही है, ने सारे मामले की जांच प्रदेश हाईकोर्ट के जज से कराने की मांग की है। सीपीआईएम के राज्य सचिवालय के सदस्य कुलदीप सिंह तंवर ने कहा कि हमारा मानना है कि सारे मामले में असली दोषियों को बचाने की कोशिशें की जा रही हैं। सरकार ने मामले को सीबीआई को रेफर किया है लेकिन यह एजेंसी मामले की जांच ही कर सकती है। उन्होंने कहा कि यह आम धारणा है कि मामले में रसूखदार परिवारों के लोग शामिल हैं। यह पैसे के बल पर आगे भी जांच को प्रभावित करेंगे। लिहाजा इसकी प्रदेश हाईकोर्ट के सिटिंग जज की देखरेख में जांच होनी चाहिये। प्रदेश सरकार पर माफिया हावी हो चुका है। कानून व्यवस्था की हालत लचर है। अपराधी बेखौफ हैं। नागरिक सभा 18 जुलाई को विशाल विरोध प्रर्दशन शिमला में करेगी। यह विरोध प्रर्दशन डीसी आफिस से चलकर गवर्नर हाउस तक जायेगा।

मंगलवार को होने वाले प्रदर्शन से पहले सरकार परेशान

मंगलवार को होने वाले प्रदर्शन से पहले सरकार परेशान

मंगलवार को शिमला जिला के विभिन्न भागों में होने वाले इन धरना प्रर्दशनों ने सरकार की नींद उड़ा कर रख दी है व पुलिस प्रशासन से लेकर सरकार तक बैठकों का दौर जारी है। सरकार मान कर चल रही है कि अगर ठियोग की तरह गुम्मा में भी हालात बेकाबू हो गये तो फिर स्थिति संभालना मुश्किल होगा। यही वजह है कि अतिरिक्त सुरक्षा बल शिमला व गुम्मा में सोमवार से ही तैनात किये जा रहे हैं।

Read Also: कोटखाई गैंगरेप: भाजपा ने की वीरभद्र सरकार को बर्खास्त करने की मांग

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Kotkhai victim's father wished death for perpetrators.
Please Wait while comments are loading...