कोटखाई गैंगरेप केस: पुलिस ने 4 आरोपियों को दबोचा

Posted By:
Subscribe to Oneindia Hindi

शिमला। कोटखाई मर्डर एवं गैंगरेप केस में गठित एसआईटी को आज उस समय बड़ी कामयाबी मिली जब पुलिस ने मामले के चार आरोपियों को दबोच लिया। एसआईटी प्रमुख शिमला रेंज के आईजी एस जहूर जैदी की अगुवाई में यह कार्रवाई की गई। बताया जा रहा है कि आरोपी प्रभावशाली व संपन्न घरों से हैं। ये भी बताया जा रहा है कि सभी नशे के आदी हैं। हालांकि पुलिस की ओर से अभी तक अधिकारिक तौर पर इस मामले में कुछ भी नहीं कहा जा रहा है।

LATEST UPDATE के लिए ये खबरें पढ़ें-

कोटखाई कांड पर लोगों में जबरदस्त गुस्सा, फेसबुक पर पूछे गए ऐसे-ऐसे सवाल?

कोटखाई गैंगरेप: पुलिस की कहानी पर लोगों को नहीं हो रहा भरोसा

कोटखाई गैंगरेप केस का पुलिस ने किया खुलासा, पढ़िए छात्रा से दरिंदगी की कहानी

गुपचुप तरीके से की कार्रवाई

गुपचुप तरीके से की कार्रवाई

मिली जानकारी के मुताबिक मंगलवार को पुलिस की एसआईटी टीम ने चार युवकों को पुख्ता सुबूत मिलने के बाद कोटखाई के पास एक गांव में दबोच लिया। इन्हें लेकर पुलिस का एसआईटी दस्ता शिमला ला रहा है। पुलिस ने ये सारी कार्रवाई इस कदर गुपचुप तरीके से की है कि किसी को भनक तक नहीं लगी। उधर, पुलिस का कोई भी अधिकारी इस मामले में कुछ भी नहीं कह रहा है। पुलिस सूत्रों का कहना है कि यदि आम जनता को पता चल जाए तो बड़ा बवाल मच सकता है। यही कारण है कि पुलिस सारी कार्रवाई गुपचुप तरीके से कर रही है।

यह भी पढ़ें- कोटखाई गैंगरेप केस: CBI जांच की मांग, अपराधियों पर BJP सांसद ने रखा 1 लाख का इनाम

सुबह मुख्यमंत्री ने जल्द कार्रवाई करने को कहा था

सुबह मुख्यमंत्री ने जल्द कार्रवाई करने को कहा था

इस मामले की जांच तेज करने के लिये आज सुबह ही मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह ने डीजीपी सोमेश गोयल को तलब कर जांच को तेज कर आरोपियों को जल्द पकडऩे की हिदायत दी थी। इससे पहले छात्रा से रेप व हत्या में शामिल लोगों की तलाश को पुलिस ने एसआईटी का गठन किया ताकि जांच बिना रुके चले। शिमला रेंज के आईजी एस जहूर जैदी अध्यक्षता में बनी इस एसआईटी में एएसपी (रूरल) भजन देव नेगी, डीएसपी ठियोग मनोज जोशी और एसएचओ कोटखाई राजेंन्द्र को शामिल किया गया था।

बीते सप्ताह हुआ था रेप

बीते सप्ताह हुआ था रेप

बता दें कि बीते सप्ताह जिला शिमला के कोटखाई इलाके में दरिंदों ने दरिंदगी की सभी हदें पार करते हुये एक नाबालिगा से पहले रेप किया व बाद में हत्या कर उसके शव को जंगल में फेंक दिया। यही नहीं जंगल में जब शव बरामद किया गया तो मृतका के बदन पर कोई कपड़ा तक नहीं था। शरीर पर चोटों के निशान भी पाए गए। छात्रा के बदन पर कपड़े नहीं थे। छात्रा कोटखाई के एक सरकारी स्कूल में 10वीं में पढ़ती थी।

देश-दुनिया की तबरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Priyanka gangrape case: shimla Police and sit arrested four accused
Please Wait while comments are loading...