हिमाचल में मूसलाधार बारिश, 380 करोड़ का हुआ नुकसान

Posted By:
Subscribe to Oneindia Hindi

शिमला। हिमाचल प्रदेश में लगातार हो रही मूसलाधार बारिश ने भारी तबाही मचाई है। सामान्य जनजीवन अस्त व्यस्त होकर रह गया है। विद्युत, संचार, पेयजल और सडक परिवहन बुरी तरह प्रभावित हुआ है। वहीं रेल और हवाई मार्ग भी बंद हो गया है। कई इलाके जलमग्न हैं तो सडकें भारी भूस्खलन से बंद हैं। नदी नाले उफान पर हैं जिससे कई इलाके कट गये हैं। मौसम विभाग ने अगले पांच दिनों तक ऐसी ही मूसलाधार बारिश होने की संभावना जताई है।

173 लोगों की जा चुकी है जान

173 लोगों की जा चुकी है जान

प्रदेश को हो रही मूसलाधार बारिश से सरकारी आंकड़ों के मुताबिक अब तक लगभग 389 करोड़ रुपए का नुकसान हुआ है। मानसून के दौरान कुल 173 मौतें हुई, जिनमें 20 मौतें बाढ़, भू-स्खलन व बादल आदि फटने के कारण हुई हैं और शेष 153 मौतें सडक दुर्घटना इत्यादि के कारण हुई है। मानसून के दौरान प्रदेश में सडक नेटवर्क और पुलों को हुए नुकसान को 291 करोड़ रुपए का आंका गया है, जबकि पेयजल और सिंचाई योजनाओं का नुकसान 80 करोड़ रुपए और विद्युत अधोसंरचना को तीन करोड़ रुपए का नुकसान हुआ है। वहीं, 280 सडकें क्षतिग्रस्त और अवरूद्ध हुई है, जिनमें से मंगलवार देर शाम तक 200 यातायात के लिए खोल दी गई हैं।

भाखड़ा बांध में बढ़ा पानी का स्तर

भाखड़ा बांध में बढ़ा पानी का स्तर

मूसलाधार बारिश से भाखड़ा तथा पौंग बांध का पानी भी लगातार बढ़ रहा है। दोनों बांधों का पानी खतरे के निशान के करीब पहुंचता जा रहा है। पिछले 24 घंटों में डैम के जल स्तर में 3.78 फीट की वृद्धि दर्ज की गई है, जिसके चलते भाखड़ा डैम का जलस्तर 1645.06 फीट तक पहुंच गया है। जलस्तर खतरे के निशान तक या उससे पहले ही बांध के फ्लड गेट खोल दिए जाते हैं, जिससे मंड क्षेत्र में बाढ़ आ जाती है।

14 अगस्त तक होगी ऐसी ही बारिश

14 अगस्त तक होगी ऐसी ही बारिश

इस बीच मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह ने मानसून से हो रहे नुकसान को लेकर समीक्षा बैठक की। उन्होंने आपातकाल में किसी भी स्थिति से निपटने के लिए बचाव उपकरण व प्रशिक्षित श्रमशक्ति तैयार रखने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि जलाशयों व बांधों से पानी छोडने के चौबीस घण्टे पूर्व चेतावनी व सतर्कता का उचित प्रकार से प्रचार सुनिश्चित बनाना होगा। वहीं मौसम विभाग के निदेशक डा. मन मोहन सिंह ने बताया कि राज्य भर में 14 अगस्त तक मौसम खराब बना रहेगा। राज्य के मैदानी व मध्य पर्वतीय क्षेत्रों में 12 अगस्त तक भारी बारिश होगी। उच्च पर्वतीय क्षेत्रों में भी अनेक स्थानों पर बारिश होगी।

देश-दुनिया की तबरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
heavy rain in himachal, state suffered a loss of Rs 380 crore so far
Please Wait while comments are loading...