हाईकोर्ट ने हरियाणा सरकार को फटकारा, 'मुरथल में हुआ था गैंगरेप, 28 फरवरी तक करें आरोपियों की पहचान'

Subscribe to Oneindia Hindi

चंडीगढ़। हरियाणा में जाट आरक्षण आंदोलन के दौरान मुरथल में हुए कथित गैंगरेप को लेकर हाईकोर्ट ने राज्य सरकार को कड़ी फटकार लगाई है। गुरुवार को इस मामले पर सुनवाई करते हुए कोर्ट ने कहा, 'कुछ गवाहों के बयान और घटनास्थल से मिले महिलाओं के अंडरगारमेंट्स इस और इशारा कर रहे हैं कि मुरथल में गैंगरेप हुआ था। हरियाणा सरकार इससे इनकार नहीं कर सकती। कोर्ट अब सरकार और एसआईटी को आखिरी मौका दे रहा है कि वे 28 फरवरी तक पीड़ित, आरोपी और गवाहों की पहचान करें और जांच के कदमों की जानकारी कोर्ट को दें।

court हाईकोर्ट ने हरियाणा सरकार को फटकारा, 'मुरथल में हुआ था गैंगरेप, 28 फरवरी तक करें आरोपियों की पहचान'

आपको बता दें कि हरियाणा की सियासत में हलचल मचाने वाले इस मामले पर हाईकोर्ट ने स्वत: संज्ञान लेते हुए सुनवाई जारी रखी है। गुरुवार को एसआईटी ने अपनी रिपोर्ट कोर्ट में पेश की। एसआईटी की रिपोर्ट में बताया गया कि महिलाओं के अंडरगारमेंट्स पर जो सीमन मिले थे, वो हिरासत में लिए गए आरोपियों के सीमन से मेल नहीं करता। ऐसे में उन आरोपियों से रेप की धारा हटाकर चालान पेश किया गया है।

वरिष्ठ वकील और मामले में एमिकस क्यूरी अनुपम गुप्ता ने एसआईटी पर गलत तरीके से जांच करने का आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि जिन पांच आरोपियों के खिलाफ चालान पेश किए गए हैं, उसमें कहा गया है कि सरकार ने गैंगरेप की धारा ही एफआईआर से बाहर कर दी है। इसपर हाईकोर्ट ने सख्त आपत्ति जाहिर करते हुए कहा सरकार गैंगरेप की घटना से इस तरह कैसे इनकार कर सकती है।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
haryana government could not denied murthal gang rape, says high court.
Please Wait while comments are loading...