गुड़गांव: गौ रक्षकों को गौ तस्करों से है खतरा, मांगा हथियार का लाइसेंस

Subscribe to Oneindia Hindi

गुड़गांव हरियाणों के गुड़गांव में गौ रक्षकों ने गौ तस्करों से जान के खतरे को वजह बताकर हथियारों के लाइसेंस के लिए आवेदन किया है। उनका कहना है कि गौ तस्कर हथियार लेकर चलते हैं। गौ तस्करों को रोकते समय उनकी जान को खतरा रहता है।

READ ALSO: एनजीओ ने कहा, क्रूरता है गाय का दूध पीना

gau rakshak

रात में गौतस्करों से निबटने में खतरा

गौ रक्षकों का कहना है कि जब रात में वो गौ तस्करों को रोकने की कोशिश करते हैं तो वो हथियारों से उन पर हमला कर देते हैं। उनके ऊपर गौ तस्कर कई बार फायर कर चुके हैं इसलिए उनको भी हथियारों की जरूरत है।

समूह में चलते हैं गौ तस्कर

हरियाणा में गौ रक्षक समूह के प्रमुख धर्मेंद्र यादव ने इस बारे में कहा कि अब गौ तस्कर आठ-दस लोगों के समूह चलते हैं और उनमें से सबके पास हथियार रहते हैं।

उन्होंने कहा, 'मुझ पर अब तक तीन बार गौ तस्कर हमला कर चुके हैं इसलिए मैंने पुलिस से सुरक्षा और हथियार का लाइसेंस मांगा है।'

धर्मेंद्र यादव ने एक साल पहले हथियार के लिए आवेदन दिया था और उन्होंने इसके लिए हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर को भी लिखा है।

गौ तस्करों ने की थी विक्रांत यादव की हत्या

24 अगस्त 2013 को गौ तस्करों ने विक्रांत यादव की हत्या कर दी थी। विक्रांत गौ तस्करों का पीछा कर रहे थे। उनकी हत्या के बाद गुस्साए ग्रामीणों ने काफी बवाल किया था। लगभग डेढ़ महीने पहले गौ रक्षकों पर सोहना और पटौदी इलाके में फायर किया गया था।

गौ रक्षकों को तभी मिलेगा लाइसेंस जब...

गुड़गांव पुलिस कमिश्नर संदीप खिरवार का कहना है कि किसी भी आदमी को इसलिए लाइसेंस नहीं दिया जा सकता कि उसको गौ तस्करों से खुद को बचाना है। इस मामले में पहले जांच की जाएगी। लाइसेंस मिलने के सभी मापदंडों को पूरा करने के बाद ही इसे दिया जाएगा।

READ ALSO: भारत V/s पाकिस्तान: पढ़ लीजिए किसमें कितना है दम?

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Gau rakshaks of Gurgaon applied for arms licence citing the case that they face threat of life from Gau smugglers.
Please Wait while comments are loading...