साक्षी के सम्मान में कराया कार्यक्रम, सारी महफिल खुद लूट ले गए नेता

Subscribe to Oneindia Hindi

मोखरा। नेता जी लोगों के हाथ में माइक हो और वो कम बोले ऐसा बहुत ही कम होता है। कुछ ऐसा ही नजारा देखने को मिला साक्षी मलिक के सम्मान में कराए गए कार्यक्रम के दौरान।

sakshi malik

हरियाणा के रोहतक स्थित साक्षी मलिक के गांव मोखरा में रियो ओलंपिक में कांस्य पदक हासिल करने पर उनके सम्मान में कार्यक्रम हो रहा था।

लोगों को उम्मीद थी कि उनकी साक्षी दीदी कुछ बोलेंगी लेकिन राज्य सरकार के मंत्रियों से लेकर विधायक तक ने उन्हें कोई मौका ही नहीं दिया।

साक्षी के सम्मान में रखे गए कार्यक्रम के समय के दौरान भारी बारिश हो रही थी। इस बारिश को दरकिनार करते हुए 36 गांवों के करीब 15,000 लोग आए थे।

Video: जब हरियाणा के सीएम खट्टर ने सिंधु को बोला कर्नाटक वाली..

कार्यक्रम करीब ढाई घंटे चला लेकिन सारा समय नेताओं ने माइक अपने पास ही रखा। साक्षी पूरे समय सिर्फ मुस्कुराई और हाथ हिलाते रहीं।

एक के बाद एक माननीय आते गए और साक्षी के गुणगान की झड़ी लगा दी और उसके बाद पूरा कार्यक्रम एक राजनीतिक मंच बन गया।

मंत्रालय की उपलब्धियों का किया बखान

अंग्रेजी अखबार टाइम्स ऑफ इंडिया के अनुसार हरियाणा के शिक्षा मंत्री राम बिलास शर्मा ने अपने मंत्रालय की उपलब्धियों का बखान किया और उसके बाद घोषणा की कि जल्द ही मोखरा में कॉलेज शुरू किया जाएगा जो साक्षी के नाम पर होगा।

ओलंपिक पदक विजेता साक्षी मलिक के फेसबुक पेज पर अश्लील कॉमेंट करने वाले युवक के खिलाफ मामला दर्ज

इतना सुनते ही मेहाम से कांग्रेस विधायक आनंद सिंह डांगी माइक की ओर बढ़े और कहा कि गांव में पहले से ही एक महिला महाविद्यालय है जो पूर्ववर्ती कांग्रेस सरकार द्वारा शुरू किया गया था।

इसके बाद शर्मा ने कहा 'तब हम इसको साक्षी मलिक महिला महाविद्यालय नाम करवा देंगे।'

साक्षी बिटिया ने मेरी बात सुनी

इसके बाद इनेलो के अभय सिंह चौटाला में माइक संभाला। उन्होंने कहा कि 'मैं विपक्ष में रहते हुए भी रियो गया। अपने हरियाणा के एथलीट्स की हौसला आफजाई करने। साक्षी बिटिया ने मेरी बात मानी और देखिए आपके सामने मेडल है। मेरी बात अगर साक्षी बिटिया सुने तो अगले ओलंपिक गोल्ड पक्का है।'

सिंधु, साक्षी, दीपा को डायमंड नेकलेस गिफ्ट करेगा एनएसी ज्वैलर्स

इसके बाद कांग्रेस नेता और रोहतक से सांसद दिपेंद्र सिंह हूडा ने कहा कि 'मैं सासंद फंड से 25 लाख साक्षी के नाम एक स्पोर्ट्स फसिलिटी हो इसके लिए ऐलान करता हूं। उम्मीद करता हूं मिनिस्टर जी भी उभरते हुए खिलाड़ियों के लिए स्टेडियम बनवाएंगे।'

हम तो साक्षी को सुनने आए थे

कार्यक्रम के दौरान लगातार चले राजनीतिक ड्रामे से वो लोग नाखुश नजर आए जो सिर्फ साक्षी को सुनने आए थे।

खेल रत्न साक्षी मलिक की ये तस्वीर हो रही है VIRAL, क्यों?

जूनियर लेवल रेसलर सुमन ने कहा कि 'मैं मखरौली कलां से यहां आई थी और साी मलिक को सुनना चाहती थी लेकिन नेताओं ने पूरा समय खुद ही बोलते रहे। यह बहुत अविश्वसनीय है कि पूरे कार्यक्रम के दौरान साक्षी को बोलने का मौक नहीं दिया गया।'

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
There is a felicitation function of sakshi malik in her village mokhra.
Please Wait while comments are loading...