तस्वीर दर तस्वीर देखिए तेंदुए का लाइव शिकार, इंसान कैसे बन गए जानवर

मंदावर गांव में साढ़े तीन घंटे तक चला तेंदुए के हमले का यह तमाशा। लोगों की भीड़ ने तेंदुए को मार डाला।

Subscribe to Oneindia Hindi

सोहना। हरियाणा में सोहना इलाके के गांव मंदावर में एक दो-तीन साल का तेंदुआ घुस आया। वन विभाग के अधिकारी तेंदुए को पकड़ने के लिए आए लेकिन तब तक गांव में सैकड़ों लोगों की भीड़ जमा होने से हालात बेकाबू हो गए। अधिकारियों की आंखों के सामने गाववालों ने तेंदुए को मार डाला। आइए आपको तस्वीरों के जरिए बताते हैं कि आखिर प्रशासन के रहते हुए कैसे एक तेंदुआ मार दिया गया?

Read More:दिल्‍ली के लिए शुभ संकेत, बॉयोडावर्सिटी पार्क में दिखा तेंदुआ

गुरुवार की सुबह तेंदुआ ने किया पहला हमला

गुरुवार की सुबह तेंदुआ ने किया पहला हमला

मंदावर गांव के सरपंच धान सिंह के अनुसार, तेंदुए ने सबसे पहले सुबह में लगभग 8 बजे 35 साल के सुंदर पर हमला किया।

सुंदर ने बताया, 'अचानक तेंदुआ मेरे सामने आ गया। मैंने हाथ हिलाकर उसे डराने की कोशिश की। उसने मुझपर हमला कर दिया। मैं मोटा शॉल ओढ़े हुए था इसलिए तेंदुए के खूनी पंजे से बच गया।' सुंदर के दाएं बांह के ऊपरी हिस्से में गहरे जख्म हैं।

एक ग्रामीण ने तेंदुए को सुंदर पर हमला करते देखा तो उसने पत्थर मारना शुरू किया। इसलिए सुंदर की जान बच गई।

वन विभाग और पुलिस को दी गई सूचना

वन विभाग और पुलिस को दी गई सूचना

लोगों ने वन विभाग के अधिकारियों और पुलिस को तेंदुए के बारे में सूचना दी। वे सुबह के 9 बजे तक मौके पर पहुंच गए।

सरपंच का कहना है, 'वन विभाग के सिर्फ चार-पांच अधिकारी सिर्फ जाल लेकर आए थे। अधिकारियों ने बताया कि तेंदुए को बेहोश करने वाला ट्रैंक्विलाइजर वह नहीं ला पाए। ट्रैंक्विलाइजर को फरीदाबाद से लाना होगा जिसमें समय लग सकता है।'

वन विभाग ने सरपंच के इस दावे का खंडन करते हुए कहा कि जिला वन अधिकारी के साथ पर्याप्त स्टाफ भेजे गए थे और उनके पास ट्रैंक्विलाइजर, जाल, पिंजरा, सब था।

तेंदुए की खबर मिलते हुए जमा हुए सैकड़ों लोग

तेंदुए की खबर मिलते हुए जमा हुए सैकड़ों लोग

वन विभाग के अधिकारी का कहना है कि तेंदुए की खबर मिलते ही लगभग 1500 गांववाले लाठी, भाला लिए आ गए और उन्होंने हमें काम नहीं करने दिया।

पुलिस की व्यवस्था पर सुशांत लोक पुलिस स्टेशन के एसएचओ का कहना है कि 15 पुलिसकर्मियों को स्पॉट पर भेजा गया था लेकिन जब तक वे पहुंचे तब तक भीड़ जमा हो चुकी थी।

भीड़ देखकर गांव में अंदर घुस गया तेंदुआ

भीड़ देखकर गांव में अंदर घुस गया तेंदुआ

पुलिस ने लोगों को घर के अंदर रहने को कहा था लेकिन अधिकांश लोग तेंदुए की खबर मिलते ही घर से बाहर निकल आए।

एक ग्रामीण के अनुसार, पहले वन विभाग के कर्मचारियों ने तेंदुए को जाल में पकड़ने की कोशिश की लेकिन वह निकल भागा।

तेंदुआ गांव में भागा और अंदर घुस गया। रास्ते में जो भी आया, वह तेंदुए के हमले का शिकार हुआ। तेंदुआ गांव के अदर घुसता चला गया जिसके बाद हालात को संभालना पुलिस के वश की बात नहीं रही।

एक घर के बरामदे में पहुंचा तेंदुआ

एक घर के बरामदे में पहुंचा तेंदुआ

तेंदुआ के हमले में एक वन अधिकारी समेत 6 लोग घायल हो गए। तेंदुआ भागते-भागते एक घर के बरामदे में पहुंचा, जहां इसने 30 साल के योगेश के हाथ को दबोच लिया।

योगेश ने बताया, 'तेंदुए ने मेरे हाथ को दबोच लिया। मैं अपना हाथ नहीं छुड़ा सका और जमीन पर गिर गया।'

योगेश पर हमले के बाद गांववाले भड़क गए। एक ग्रामीण का कहना है कि वन विभाग के अधिकारी तेंदुआ को पकड़ नहीं पा रहे थे इसलिए योगेश को बचाने के लिए गांववालों ने मामला अपने हाथ में ले लिया।

लोगों का गुस्सा तेंदुए पर उतरा

लोगों का गुस्सा तेंदुए पर उतरा

सरपंच ने बताया कि तेंदुआ लगातार हमला करता जा रहा था और प्रशासन कुछ नहीं कर पा रहा था इसलिए गांव के लोग गुस्से में आ गए। गांववाले तेंदुए का पीछा करते रहे और उसे दबोचने की कोशिश करते रहे।

और देखते-देखते लोगों का गुस्सा तेंदुए पर उतरा। पुलिस और वन विभाग के अधिकारियों के सामने लोगों ने तेंदुए को पीट-पीटकर मार डाला।

साढ़े तीन घंटे तक चला यह तमाशा

साढ़े तीन घंटे तक चला यह तमाशा

पहले हमले के बाद तेंदुए को मारने तक लगभग साढ़े तीन घंटे तक यह तमाशा चलता रहा। तेंदुए की लाश को गांववालों ने घसीटा और उसके साथ तस्वीरें खिंचवाई।

तेंदुए के हमले में घायल 8 लोगों को इलाज के लिए सोहना के सरकारी हॉस्पिटल में ले जाया गया। वन विभाग के कर्मचारियों ने तेंदुए की लाश को जब्त कर लिया है।

पिछले तीन दिनों में 10 बार दिखा था तेंदुआ

पिछले तीन दिनों में 10 बार दिखा था तेंदुआ

सोहना के इस इलाके में तेंदुआ पिछले कई दिनों से घूम रहा था। गांव के लोगों ने उसे देखा था।

सरपंच का कहना है कि ग्रामीणों ने तेंदुए को पिछले तीन दिन में कम से कम 10 बार देखा था लेकिन इस बारे में वन विभाग या पुलिस को इसलिए सूचना नहीं दी क्योंकि यह अक्सर खेतों में घूमता दिखा था।

तेंदुए को पोस्टमॉर्टम के लिए भेजा गया

तेंदुए को पोस्टमॉर्टम के लिए भेजा गया

वन विभाग के अधिकारियों ने तेंदुए की लाश को जब्त करने के बाद पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया है। एक अधिकारी ने बताया कि पोस्टमॉर्टम होने के बाद जो भी प्रक्रिया है उसके तहत तेंदुए का अंतिम संस्कार किया जाएगा।

14 नवंबर को भी एक तेंदुए को गुड़गांव के सेक्टर 54 के पास देखा गया था। इस बारे में वन विभाग के अधिकारियों को बताया गया था लेकिन सर्च के दौरान वह नहीं मिला।

VIDEO: घर में घुसे तेंदुए का कोहराम, वन विभाग की टीम ने पाया काबू


देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
A leopard attacked in a village of Sohna and injured eight people. Villagers beat the leopard and killed.
Please Wait while comments are loading...