जिसके नाम पर मचा है हंगामा, आखिर कौन था वो तैमूरलंग

Posted By:
Subscribe to Oneindia Hindi

नई दिल्‍ली। मंगलवार को हर कोई बस एक ही नाम के बारे में बातें कर रहा था, तैमूर। यह नाम उस समय सबकी जुबां पर आया जब बॉलीवुड स्‍टार सैफ अली खान और करीना कपूर ने अपने बेटे को तैमूर अली खान नाम दिया।

तैमूर एक अरबी भाषा का शब्‍द है जिसका मतलब होता है, 'लोहा।' लेकिन इस नाम के साथ इतिहास का एक बड़ा अध्‍याय भी जुड़ा है।

तैमूर को दुनिया एक क्रूर मुगल शासक के तौर पर जानती है। पहला मुगल शासक बाबर तैमूर लंग के वंश से था। आखिर कौन था तैमूर और क्‍यों लोग सोशल मीडिया पर अपने बच्‍चे को यह नाम देने पर सैफीना की आलोचना हो रही है।

'स्‍वॉर्ड ऑफ इस्‍लाम'

'स्‍वॉर्ड ऑफ इस्‍लाम'

तैमूरलंग का जन्‍म अप्रैल 1336 में ट्रांसोजियाना में हुआ था इसे अब उजबेकिस्‍तान के नाम से जानते हैं। तैमूर को उसके समय का सबसे मजबूत मुस्लिम शासक माना जाता है। वह खुद को 'स्‍वॉर्ड ऑफ मुस्लिम' कहता था। वह एक मंगोल शासक था।

सिंकदर जैसा बनने की तमन्‍ना

सिंकदर जैसा बनने की तमन्‍ना

तैमूर मंगोल विजेता चंगेज खां की तरह पूरी दुनिया को जीतना चाहता। जैसे चंगेज खान ने मंगोलिया से निकलकर आधे यूरेशिया पर अपना कब्जा किया था, तैमूर भी उसी तरह से दुनिया में अपनी बादशाहत कायम करना चाहता था। वह सिकंदर की तरह दुनिया को जीतने की ख्‍वाहिश रखता था।

मंगोलों को बनाया मुसलमान

मंगोलों को बनाया मुसलमान

तैमूर ने मंगोल क्षेत्र में बसे लोगों को इस्‍लाम धर्म कुबूल करने के लिए मजबूर किया था। अपने मिलिट्री कैंपेन के तहत तैमूर ने करीब 17 मिलियन लोगों की हत्‍या की थी यह आंकड़ा आज दुनिया की आबादी का करीब पांच प्रतिशत है।

लंगड़ा था तैमूर

लंगड़ा था तैमूर

तैमूर लंगड़ा था लेकिन उसकी क्रूरता में कोई कमी नहीं थी। तैमूर लंग का साम्राज्य वेस्‍टर्न एशिया से लेकर सेंट्रल एशिया होते हुए भारत तक फैला था। तैमूर ने अपनी सेना को आदेश दिया हुआ था कि जो भी उसे मिले उसे मार दिया जाए। तैमूर की सेना ने पुरुषों को मार दिया तो महिलाओं और बच्‍चों को बंदी बनाया।

शुरू हुआ तैमूर का आतंक

शुरू हुआ तैमूर का आतंक

1369 में समरकंद के मंगोल शासक के मरने के बाद तैमूर ने उसकी गद्दी पर हथिया ली और अपने आतंक के लिए अभियान शुरू कर दिया। कहते हैं कि उसने चंगेज खां की ही तरह अपनी सेना तैयार की उसकी ही तरह क्रूरता दिखानी शुरू की।

अफगानिस्‍तान से लेकर बगदाद तक तैमूर

अफगानिस्‍तान से लेकर बगदाद तक तैमूर

1380 और 1387 के बीच तैमूर ने खुरासान, सीस्तान, अफगानिस्तान, फारस, अजरबैजान और कुर्दीस्तान आदि पर आक्रमण कर उन्हें अपना गुलाम बना लिया।1393 में उसने बगदाद को लेकर मेसोपोटामिया पर अपना शासन कायम किया।

तुगलक को हराने वाला तैमूर

तुगलक को हराने वाला तैमूर

1398 की शुरुआत में तैमूर ने पीर मोहम्‍मद जो कि उसका पोता था उसके साथ भारत पर हमले की तैयारी की। उसने इसके लिए मुल्‍तान में अपना ठिकाना बनाया और छह माह बाद मुल्‍तान पर भी कब्‍जा कर लिया। अप्रैल 1398 में वह भारत की ओर बढ़ा और सिंधु, झेलम तथा रावी नदी को पार कर भारत आया।

पानीपत पर हमला

पानीपत पर हमला

कई जगह से लोगों को मारता हुआ तैमूर दिसंबर के पहले हफ्ते दिल्ली के पास पहुंचा। यहां पर उसने एक लाख हिंदू कैदियों को कत्ल करवाया। पानीपत के पास निर्बल तुगलक सुल्तान महमूद ने 17 दिसम्बर को 40,000 पैदल 10,000 अश्वारोही और 120 हाथियों की एक विशाल सेना लेकर तैमूर का मुकाबिला किया लेकिन बुरी तरह पराजित हुआ।

 पांच दिन तक दिल्‍ली को लूटा तैमूर ने

पांच दिन तक दिल्‍ली को लूटा तैमूर ने

इसके अगले दिन तैमूर दिल्ली में दाखिल हुआ और पांच दिनों तक दिल्‍ली को लूटता रहा। कहते हैं कि तैमूर के हमले के बाद दिल्‍ली को सुधरने में कई सदियां लग इर्ग। वह अपने साथ बंदी बनाई गई महिलाओं और कारीगरों को भी ले गया। भारत से जो कारीगर वह अपने साथ ले गया उनसे उसने समरकंद में अनेक इमारतें बनवाईं, जिनमें सबसे प्रसिद्ध उसकी अपनी जामा मस्जिद है जिसे शाख-ए-जिंद मस्जिद के नाम से भी जानते हैं।

देश-दुनिया की तबरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Saif and Kareena has named their baby Timur Ali khan know all about Timur.
Please Wait while comments are loading...