आधार कार्ड से जुड़ी बड़ी खबर, यूआईडीएआई न उठाया सख्त कदम

यूआईडीएआई ने आधार कार्ड से जुड़ी करीब 50 वेबसाइटों और मोबाइल ऐप को बैन कर दिया है। ये साइट गैरकानूनी तरीके से लोगों की जानकारी हासिल कर रही थी।

By:
Subscribe to Oneindia Hindi

नई दिल्ली। आधार कार्ड से जुड़ी बड़ी खबर आई है। ये खबर आपके लिए बेहद अहम है। भारतीय विशिष्ट पहचान प्राधिकरण (यूआईडीएआई) ने बड़ा कदम उठाते हुए आधार कार्ड बनाने वाली 50 फर्जी साइटों को बैन कर दिया है। यूआईडीएआई ने ऐसी 12 मोबाइल ऐप और 12 वेबसाइटों को बैन कर दिया है जो पैसे लेकर आधार संबंधित सेवाएं देना का वादा करती थी।

 UIDAI clamps down on 50 fraud sites offering Aadhaar services

यूआईडीएआई ने सख्त कार्रवाई करते हुए गूगल प्लेस्टोर पर उपलब्ध 12 वेबसाइटों और 12 मोबाइल एप्लिकेशन को बंद करवा दिया है। यूआईडीएआई ने ऐसी 26 और फर्जी वेबसाइटों को फौरन बंद करने का आदेश दिया है। दरअसल प्राधिकरण के पास शिकायत पहुंची थी कि गूगल प्लेस्टोर पर कुछ ऐसी साइटें और मोबाइल एप्लिकेशन हैं जो आधार संबंधी ऑनलाइन सेवाएं देती है। ये वेबसाइट और ऐप लोगों को आधार कार्ड बनवाने से लेकर आधार कार्ड को डाउनलोड करने, पीवीसी आधार कार्ड जैसी सुविधाएं दे रही थी, लेकिन ये सेवाएं गैरकानूनी है।

ये वेबसाइट और ऐप गैर कानूनी तरीके से लोगों के आधार नंबर और उनकी निजी जानकारी हासिल करती है। अब ऐसी वेबसाइटों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की गई है। यूआईडीएआई ने साफ कर दिया है कि उसने किसी भी वेबसाइट या मोबाइल ऐप को आधार संबंधी कार्य के लिए अधिकृत नहीं किया है।

यूआईडीएआई ने कहा है कि ऐसका करने पर इन वेबसाइटों और मोबाइल ऐप के खिलाफ आधार अधिनियम की धारा 38 और खंड 7 के तहत सजा का प्रावधान है। आपको बता दें कि आधार कार्ड संबंधी सेवाओं के लिए यूआईडीएआई की वेबसाइट www.uidai.gov.in की मान्य है। इसके अलावा आधार के लिए किसी भी अन्य वेबसाइट पर भरोसा न करें। आप आधार की आधिकारिक वेबसाइट पर निशुल्क सेवा पा सकते हैं।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
In a massive crackdown on unauthorised agencies offering Aadhaar-related services illegally and charging excessive money from the public, UIDAI has shut down 12 such websites and 12 mobile apps available on the Google Playstore.
Please Wait while comments are loading...