इस दिवाली पर जरूर करें ये काम तभी रौशन होगी जिंदगी

Posted By:
Subscribe to Oneindia Hindi

नई दिल्ली। दिवाली खुशी और उल्लास का पर्व है, मन के अंधकार को दूर करके ज्ञान के दीपक को जलाने का त्योहार है लेकिन कहीं जोश में आकर हम लोग वो ना कर बैठें जिसके चलते हमारी प्रकृति ही हमसे नाराज हो जाए इसलिए इस दिवाली पर रखें कुछ खास बातों का ख्याल तभी रौशन होगी जिंदगी।

हैप्पी एंड सेफ दिवाली मनानी है तो अपनाएं ये टिप्स

आईये डालते हैं उन खास बातों पर एक नजर...

वायु प्रदूषण

क्या आप जानते हैं कि भारत में लोगों के मौत की पांचवीं वजह वायु प्रदूषण है। ऐसा कहना हमारा नहीं है बल्कि ग्लोबल बर्डन ऑफ डिसीज स्टडी में ये बात सामने आई है। डब्ल्यूएचओ के मुताबिक वायु प्रदूषण अस्थमा, लंग केंसर और हार्ट अटैक जैसी गंभीर बीमारियों का मुख्य कारण है। इसलिए अगर हम दिवाली के दिन बम पटाखे कम जलाएं तो वायु प्रदूषण को कम करने में मदद मिलेगी। इसके अलावा लाखों लोगों की जान भी बच पाएगी।

Diwali 2016: जब मां लक्ष्मी का वाहन 'उल्लू' तो वो अशुभ कैसे?

जरूरतमंदों की करें मदद

पटाखों में हम हजारों पैसे फूंक देते हैं लेकिन अगर उन पैसों का चौथाई हिस्सा भी गरीब बच्चों के मुस्कान पर खर्च कर दिए जाए तो शायद ये दिवाली बेहतरीन बन सकती है इसलिए कोशिश कीजिए आप अपने पैसों का एक हिस्सा गरीब बच्चों को मिठाई खिलाने में खर्च करें जिससे आपकी दिवाली भी शानदार हो और उस बच्चे की भी।

बुरी आदतों को करें बॉय-बॉय

कहते हैं दिवाली और दशहरा पर बुराई का अंत हुआ था। इसलिए  इस बाार इस पर्व पर आप अपनी सारी बुरी आदतों को हमेशा के लिए बाय बाय कह सकते हैंं। अच्छी आदतों और लोगों से दोस्ती बढ़ाई जा सकती है और मोहब्बत बिखेरी जा सकती है।

स्वच्छता का रखें ख्याल

अपने घर की सफाई के साथ आप इस दिवाली पर अपने घर के बाहर भी सफाई का ख्याल रखें क्योंकि घर के बाहर यानी सड़क भी आपके लिए काफी जरूरी है। साथ ही इस पर्व पर आप अपने अंदर के मैल को भी साफ करने का संकल्प ले तभी आपकी होगी जगमग दिवाली।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
This articles endeavours to sensitise the readers towards celebrating an environmentally safe Diwali by pointing out the major impacts that Diwali has on our environment.
Please Wait while comments are loading...