आया नया ट्रेंड, ताकि मोबाइल पर धड़ल्‍ले से बात कर सकें गर्भवती महिलाएं!

Subscribe to Oneindia Hindi

नई दिल्ली। गर्भवती महिलाओं को अक्सर मोबाइल और कंप्यूटर से दूर रहने की सलाह दी जाती है क्योंकि इन सारी चीजों से निकलने वाली रेडिएशन कोख में पल रहे बच्चे के ऊपर बुरा असर डालती है इसलिए गर्भवती महिलाओं को मोबाइल पर लंबी-लंबी बातें करने से रोका जाता है। जिसके कारण अक्सर महिलाएं काफी परेशान हो जाती हैं।

आधे घंटे की वॉक बचा सकती है आपके डेढ़ लाख रुपए

लेकिन अब उन्हें खुश करने के लिए बाजार में एक नया ट्रेंड आया है, और वो है रेडिएशन प्रूफ ड्रेस या रेडिएशन प्रूफ कंबल, जो महिलाओं के गर्भ में पल रहे बच्चे की रक्षा करता है। सबसे बड़ी बात ये है कि इन चीजों को खुद डॉक्टर्स भी अब सजेस्ट कर रहे हैं।

Pics: ओबामा, बिल गेट्स और अमिताभ ब्रेकफास्ट में क्या खाते हैं?

रेडिएशन प्रूफ प्रसूती ड्रेस का धड़ल्ले से प्रयोग चीन पिछले दो दशकों से करता आ रहा है लेकिन अब ये अमेरिका और यूके में भी लोकप्रिय हो रहा है। रेडिएशन प्रूफ कंबल और चादर का प्रयोग बहुतायत में इन देशों में कामकाजी महिलाएं कर रही हैं क्योंकि वो इनके सहारे घंटों बैठकर कंप्यूटर या लैपटॉप के सामने काम कर सकती हैं।

बड़ी सफलता: कैंसर के बारे में पहले से बता देगा 'स्मोक डिटेक्टर' टेस्ट

जानिए चिकनगुनिया के बारे में: लक्षण और बचाव के तरीके

आगे की खबर तस्वीरों में...

हाइपरएक्टिविटी

सेलफोन की रेडिएशन गर्भवती महिलाओं के भ्रूण के लिए घातक है क्योंकि इससे होने वाले बच्चे के दिमाग पर बुरा असर पड़ता है।मोबाइल और कंप्यूटर के रेडिएशन से होने वाले बच्चे को जन्मजात ही अतिसक्रियता (हाइपरएक्टिविटी) की समस्या हो सकती है।

सुस्त और मोटा

सेलफोन गर्भवती महिलाओं को सुस्त और मोटा बना देता है और इससे उसके होने वाले बच्चा भी आलसी और मोटापे का शिकार हो सकता है।सेलफोन की रेडिएशन से गर्भवती महिलाओं में, ह्रदय की बीमारी और स्ट्रोक का खतरा भी बढ़ा सकता है।

डाक्टरों की बात सुनें

डाक्टरों की नजर में गर्भवती महिलाएं जब भी सेलफोन का प्रयोग करें तो फोन हैंड फ्री मोड पर हो।गर्भवती महिलाओं को हमेशा सेलफोन पर एयरफ़ोन या स्पीकर लगाकर बात करनी चाहिए।

रेडिएशन प्रूफ ड्रेस

अब गर्भवती महिलाओं को रेडिएशन से बचाने के लिए चलन में आयी रेडिएशन प्रूफ ड्रेस, जिसकी खास बात ये है कि इन चीजों को खुद डॉक्टर्स भी अब सजेस्ट कर रहे हैं।

ड्रेसेज के प्रति आकर्षण

इन दिनों इन ड्रेसेज के प्रति आकर्षण भारत के बड़े शहरों में भी बढ़ा है। मुंबई में ऑन लाइन सेलिंग ड्रेस का बिजनेस करने वाली नेहा मेहता ने कहा है कि मैंने ये बिजनेस साल 2015 में शुरू किया था लेकिन मुझे बिल्कुल भी अंदाजा नहीं था कि ये इतना सफल हो जायेगा। नेहा ने कहा कि मैं हर महीने करीब 5-6 रेडिएशन-फ्री ड्रेसेज बेच लेती हूं , महिलाओं के बीच में इन कपड़ों की डिमांड काफी बढ़ रही है, जिसकी मुझे बेहद खुशी है।

कपड़े काफी महंगे

हालांकि आपको बता दें कि ये कपड़े काफी महंगे हैं, इन कपड़ों की शुरूआत ही 3000-4000 रूपये से होती है, बावजूद इसके गर्भवती महिलाओं के बीच में इन कपड़ों के प्रति आकर्षण बढ़ता ही जा रहा है।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Expectant moms are now wearing radiation-proof garments to protect their unborn babies. These are effective and even necessary.
Please Wait while comments are loading...