'चिकनगुनिया' के प्रकोप से बचने के लिए क्या करें और क्या ना करें?

Posted By:
Subscribe to Oneindia Hindi

नई दिल्ली। मानसून आने में अभी देर है लेकिन अभी से ही मच्छरों ने अपना आतंक फैलाना शुरू कर दिया है, लोग बुरी तरह से आतंकित है।

हृदय रोग से भारत में सर्वाधिक मौतें इसलिए रखिए हार्ट का खास ख्याल

क्योंकि स्वास्थ्य मंत्रालय का अनुमान है कि इस बार मच्छरों के कारण चिकनगुनिया, डेंगू और मलेरिया जैसी बीमारियां पिछले साल से ज्यादा तांडव कर सकती हैं इसलिए मंत्रालय की ओर से अस्पतालों को इस बारे में एलर्ट रहने को कहा गया है।

 सावधानी ही बचाव है ...

सावधानी ही बचाव है ...

हालांकि ये प्रशासन है जो अपने स्तर पर काम करेगा लेकिन असली सावधानी तो लोगों को बरतनी है, जिसके लिए आवश्यक है कि वो खुद अपने स्वास्थ्य को लेकर जागरूक रहें क्योंकि सावधानी ही बचाव है और अगर उन्हें जरा भी अपने या अपनों की हेल्थ को लेकर शक हो तो तुरंत डाक्टर से मिले।

आईए आपको बताते हैं चिकनगुनिया, डेंगू और मलेरिया के लक्षण, जिन्हें जानना आपको बहुत जरूरी है...

क्या है चिकनगुनिया?

क्या है चिकनगुनिया?

चिकनगुनिया एक वायरस है, जो कि एडिस मच्छर के काटने से होता है। जैसे ही वायरस बॉडी में प्रवेश करता है, इंसान बुखार, खांसी, जुकाम से ग्रसित हो जाता है।चिकनगुनिया बुखार में इंसान के जोड़ों में काफी दर्द होता है।

मरीज को हमेशा बुखार रहता है

मरीज को हमेशा बुखार रहता है

कभी-कभी तो ये दर्द ठीक होने में 6 महीने से ज्यादा का समय लग जाता है। मरीज को हमेशा बुखार रहता है (100 डिग्री के आस-पास)। एक निर्धारित समय आने पर बुखार एकदम से तेज भी हो जाता है। शरीर पर लाल रंग के रैशेज बन जाते हैं। मरीज को भूख नहीं लगती और हमेशा थकान महसूस होती है।

चिकनगुनिया से बचने के उपाय...

चिकनगुनिया से बचने के उपाय...

  • चिकनगुनिया का मच्छर दिन में काटता है आमतौर पर चिकनगुनिया का मच्छर दिन में काटता है इसलिए दिन में भी मच्छर कॉयल जलाकर रखें।
  • अपने घर के अंदर और आस-पास हमेशा सफाई रखें।
  • घर में पानी एकत्रित होने ही ना दें।
  • कूलर के पानी को रोज बदलिये।
बाहर का खुला खाना या पानी पीने से बचें

बाहर का खुला खाना या पानी पीने से बचें

  • बाहर का खुला खाना या पानी पीने से बचें, कोशिश करें कि घर पर ही खायें।
  • सोते समय मच्छरदानी का प्रयोग कीजिये।
अपने डॉक्टर खुद ना बनें

अपने डॉक्टर खुद ना बनें

  • फूल बांह वाले कपड़े पहनिये और हमेशा अपने आप को ढ़ककर घर से निकलें।
  • लक्षणों के आधार पर डॉक्टर से सलाह लेकर ही दवा लें, अपने डॉक्टर खुद ना बनें।
  • शाम होते ही खिड़की-दरवाजों को बंद रखें, ताकि मच्छर घर में प्रवेश ना कर पायें।
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Cases of chikungunya and dengue have already sprung up in large numbers in Delhi and it’s just April.Here Are the DOs and DON’Ts.
Please Wait while comments are loading...