आधार कार्ड की भी होती है वैलिडिटी, ऐसे चेक करें एक्टिव है या नहीं आपका आधार

Posted By:
Subscribe to Oneindia Hindi

नई दिल्ली। केंद्र सरकार एक के बाद एक योजनाओं और सर्विसेज को आधार कार्ड से जोड़ती जा रही है। आने वाले दिनों में आधार सबसे महत्वपूर्ण दस्तावेज बन जाएगा, लेकिन क्या आप जानते हैं कि आधार कार्ड की भी वैलिडिटी होती है? जी हां आपका आधार कार्ड भी निष्क्रिय हो जाता है।

 आधार कार्ड की वैलिडिटी

आधार कार्ड की वैलिडिटी

आपको बता दें कि अगर आपने अपने आधार को लगातार 3 साल तक कहीं भी इस्तेमाल नहीं किया तो आपका आधार कार्ड इनएक्टिव हो जाएगा। अगर आपने आधार बनवाने के तीन साल तक किसी भी सरकारी योजना या बैंकिंग से जुड़े किसी भी काम में आधार का इस्तेमाल नहीं किया तो आपका आधार कार्ड निष्क्रिय हो जाएगा।

आधार कार्ड हो जाएगा निष्क्रिय

आधार कार्ड हो जाएगा निष्क्रिय

इकॉनोमिक टाइम्स के मुताबिक यूनिक आईडेंटिफिकेशन अथॉरिटी ऑफ इंडिया की हेल्पलाइन के मुताबिक अगर आपने तीन साल तक लगातार आधार का प्रयोग कहीं भी नहीं किया तो आपका आधार कार्ड इनएक्टिव हो जाएगा।

 ऐसे करें चेक

ऐसे करें चेक

आपको घबराने की जरूरत नहीं है। अगर आप जानना चाहते हैं कि आपका आधार कार्ड एक्टिव है या नहीं तो आप आसानी से चेक कर सकते है। आप यूआईडीएआई की वेबसाइट पर जाकर अपने आधार कार्ड की वैलिडिटी चेक कर सकते हैं। आप

https://uidai.gov.in/ पर लॉग इन कर अपने कार्ड के बारे में जान सकते है।

 कैसे करे वैरिफाई?

कैसे करे वैरिफाई?

यूआईडीएआई की वेबसाइट पर लॉगइन करने के बाद आपको Verify Aadhaar Number का विकल्प चुनना होगा। इसके बाद आपको अपना आधार नबंर और सिक्योरिटी कोड भरना होगा। इसे भरने के बाद आप जान सकते हैं कि आपका कार्ड सक्रिय है कि नहीं।

अगर हो गया निष्क्रिय तो क्या करें?

अगर हो गया निष्क्रिय तो क्या करें?

अगर आपका आधार कार्ड निष्क्रिय हो गया है तो आपको घबराने की जरूरत नहीं बल्कि आपको अपने सभी डॉक्यूमेंट लेकर नजदीकी आधार पंजीकरण केंद्र पर जाना है। वहां आपको आधार अपडेट फॉर्म भरना होगा, जिसके बाद बॉयोमिट्रिक मशीन से आपकी उंगलियों के निशान को वेरीफाई किया जाएगा और वेरिफिकेशन होते ही आपका आधार दोबारा सक्रिय हो जाएगा। इसके लिए आपको 25 रुपए का शुल्क चुकाना होगा।

देश-दुनिया की तबरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Aadhaar has become a crucial document and a 'must have' given its increasing importance for financial transactions and the government's social security schemes.
Please Wait while comments are loading...