जिस कार की मदद से अंग्रेजों को चकमा देकर भागे थे नेताजी, अब ऑर्डी कंपनी करेगी उसकी मरम्मत

By:
Subscribe to Oneindia Hindi

कोलकाता। नेताजी सुभाष चंद्र बोस ने साल 1941 में जिस कार की मदद से अंग्रेजों को चकमा देकर भागने में कामियाबी पाई थी, अब उस वंडर कार की मरम्मत कराई जा रही है। नेताजी का परिवार इस कार को फिर से मरम्मत करावा रहा है। इसकी जिम्मेदारी जर्मनी की ऑटोमोबाइल कंपनी ऑर्डी को दी गई है।

 netaji car

ऑर्डी चमकाएगी नेताजी की कार

नेताजी रिसर्च ब्यूरो से मिली जानकारी के मुताबिक इस कार की पेंटिंग और पुराने पार्ट्स की मरम्मत का काम शुरू कर दिया गया है। उम्मीद की जा रही है कि दिसंबर तक इस कार को छोटी दूरी तक चलने के लायक बना दिया जाएगा। उनका परिवार चाहता है कि इस कार को100 या 200 मीटर तक चलने के लायक बनाया जा सके। नेताजी की कार BLA 7169 पर अब तक ये नंबर प्लेट लगी हुई है।

इस कार का आखिरी बार इस्तेमाल साल 1971 में एक डॉक्यूमेंट्री की शूटिंग के दौरान किया गया था, जिसके नेताजी के बड़े भाई शरत चंद्र बोस के बेटे शिशिर बोस ने बनाया था। उसके बाद से ये कार बंद पड़ी है। इसे लोगों के देखने के लिए रखा गया था, लेकिन अब उनका परिवार चाहता है कि नेताजी की इस धरोहर का इस्तेमाल हो सके। लोग इसे सड़क पर चलता हुआ देख सके।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
The car in which Netaji Subhas Chandra Bose had made his 'great escape' from his ancestral house here in 1941 when he was under house arrest by the then British government, is being restored by his family.
Please Wait while comments are loading...