जानिए, कैसे काम करेगा रिलायंस जियो का कॉलिंग फीचर, डाटा ऑफ करने पर हो सकती है ये समस्या

Subscribe to Oneindia Hindi

नई दिल्ली। रिलायंस जियो के आने से मोबाइल की दुनिया में एक नया उछाल आया है। सस्ते 4जी प्लान और जबरदस्त फीचर्स के साथ मार्केट में आए रिलायंस जियो को लेकर जितने फायदे गिनाए जा रहे हैं, उतने ही कन्फ्यूजन भी सामने आ रहे हैं। जानिए क्या है जियो में VoLTE, LTE और 4G के मायने...

jio

क्या है VoLTE?
VoLTE वायस से जुड़ा फंक्शन है और LTE नेटवर्क में वायस डाटा ट्रांसमिशन के लिए एक नया प्रोटोकॉल है। 2जी और 3जी नेटवर्क सर्किट स्विच पर आधारित हैं, जबकि 4जी या LTE नेटवर्क पैकेट स्विचिंग पर आधारित हैं। जब 2जी या 3जी नेटवर्क से कॉल की जाती है तो यह एक निर्धारित नेटवर्क बैंडविथ बनाता है जिसकी वजह से वायस कॉल तब तकसडिस्कनेक्ट नहीं होती जब तक कि इसे किया ना जाए। लेकिन VoLTE में ऐसा नहीं है।

जानिए, कैसे बिना नंबर बदले पाएं जियो का मुफ्त सिम

VoLTE नेटवर्क में वायस कॉल थोड़े-थोड़े पैकेट के रूप में होती है और फुट डाटा पाइपलाइन के जरिए भेजी जाती हैं। इसका रिजल्ट यह होता है कि बेहतर बैंडविथ वाले नेटवर्क पाइपलाइन पर कॉल क्वालिटी बेहतर होगी।

LTE और VoLTE एक नहीं हैं
LTE (4G-LTE) पूरी तरह से एक आईपी आधारित कम्युनिकेशन प्रोटोकॉल है। अब तक मौजूद फोन में 2जी, 3जी और 4जी सेटअप हैं, जो 2जी या 3जी बैंड से कॉल के दौरान भी डाटा को 4जी बैंड तक जाने की छूट देते हैं। LTE डाटा ट्रांसमिशन प्रोटोकॉल है जो हायर बैंडविथ में बेहतर काम करता है। VoLTE के जरिए वायस कॉल को डिजिटल पैकेट में कन्वर्ट किया जा सकता है और इसे LTE नेटवर्क में ट्रांसमिट किया जा सकता है। इसे LTE टेक्नोलॉजी का सबसेट भी कहा जा सकता है।

मिनटों में कैसे लुट गई राहुल गांधी की खाट, देखिए तस्वीरें

क्या है रिलायंस जियो की खूबी
रिलायंस जियो नेटवर्क पूरी तरह LTE है। इसमें 2जी और 3जी के बैंड नहीं है। इस नेटवर्क पर की जाने वाली कॉल पूरी तरह VoLTE पर आधारित होंगी। इसके लिए आपके पास VoLTE फीचर वाला हैंडसेट होना भी जरूरी है। जिन फोन में यह फीचर नहीं है यह संबंधित कंपनी सॉफ्टवेयर अपडेट के जरिए उसमें ला सकती है।

फोन यूजर LTE नेटवर्क का इस्तेमाल कर सकता है लेकिन VoLTE एक अलग फीचर है और दूसरे नेटवर्क पर कॉल के लिए इसका होना जरूरी है। अगर आपके पास LTE सर्विस से युक्त फोन है तो आप जियो सिम की डाटा सर्विसेज का लाभ उठा सकते हैं। लेकिन रिलायंस जियो नेटवर्क में फोन करने के लिए आपके पास VoLTE सर्विस युक्त फोन होना जरूरी है। या फिर LTE युक्त फोन में जियो ज्वाइन एप (जो एंड्रायड फोन के वर्जन 4.0 और उससे ऊपर में उपलब्ध है) का होना जरूरी है।

पढ़ें: जियो के सिम के लिए मशहूर अभिनेत्री भी लगीं लाइन में

डाटा ऑफ करना भी सही नहीं
रिलायंस जियो नेटवर्क में आप डाटा ऑफ नहीं कर पाएंगे क्योंकि इसकी अधिकतर सेवाएं डाटा पर आधारित हैं। यानी डाटा ऑफ करते ही फोन एयरप्लेन मोड की तरह हो जाएगा। रिलायंस ने यह भी साफ किया है कि हर महीने मिलने वाले डाटा में वायस कॉल में इस्तेमाल होने वाला डाटा नहीं जोड़ा जाएगा।

HD कॉलिंग की सुविधा
जियो में HD कॉलिंग की सुविधा VoLTE saga फीचर के जरिए उपलब्ध है. लेकिन इसमें भी एक समस्या है। HD कॉलिंग के लिए दोनों कॉलर का जियो नेटवर्क में होना जरूरी है। कॉल VoLTE नेटवर्क से ही जाएगी और इसी पर खत्म होगी। हालांकि आप जियो नेटवर्क के अलावा भी कॉल कर पाएंगे, लेकिन उसकी वीडियो क्वालिटी ज्यादा बेहतर नहीं होगी।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
all you need to know about voice-calls feature of Reliance Jio 4G. Mobile data switching off will create problem.
Please Wait while comments are loading...