करुणा मर्डर की पूरी कहानी, प्यार में जलन पर फेसबुक ने छिड़का पेट्रोल

Subscribe to Oneindia Hindi

बुराड़ी। दिल्ली के बुराड़ी में दिनदहाड़े सड़क पर लोगों ने एक बर्बर हत्या का तमाशा देखा। प्यार में जलन का शिकार सुरेंद्र सिंह उर्फ आदित्य युवती करुणा पर बेरहमी से कैंची चला रहा था। उसी करुणा से वह एक घंटे पहले जीटीबी नगर मेट्रो स्टेशन के पास अकेले में मिला था।

इसी जगह दोनों पहले भी मिला करते थे। 2012 में जिस रिश्ते का आगाज हुआ, वह 2015 में ब्रेकअप से होते हुए 2016 के सितंबर में करुणा के खौफनाक हत्या के अंजाम तक कैसे पहुंचा?

रुचिका छेड़छाड़ मामला: पूर्व DGP राठौड़ की सजा बरकरार पर नहीं जाएंगे जेल 

ऐसा क्या हो गया कि आदित्य आशिक से शैतान बन गया? पुलिस मामले की जांच कर रही है, लेकिन आदित्य के बयानों से इस बर्बर हत्या के पीछे की कहानी की ऐसी झलक मिलती है जिसमें सारे सवालों के जवाब छुपे हैं।

READ ALSO: CCTV में जो नहीं दिखा, करुणा के साथ दरिंदे ने और क्या-क्या किया?

karuna1

2012 में शुरू हुआ प्यार, 2015 में ब्रेकअप

आदित्य और करुणा एक कंप्यूटर सेंटर में मिले थे। दोनों का रिश्ता यहीं से जुड़ा। आदित्य की मानें तो करुणा और उसके बीच प्यार का रिश्ता था। पुलिस को आदित्य ने वो तस्वीरें दिखाईं जिनमें दोनों साथ-साथ थे। इससे यह पता चलता है कि दोनों के बीच संबंध तो थे।

आदित्य पहले से शादीशुदा था। किसी वजह से करुणा से 2015 में उसका ब्रेकअप हो गया। करुणा की मांं का कहना है कि पहले सुरेंद्र खुद को कुंवारा बताता था। जब करुणा को पता चला कि वह शादीशुदा है और दो बच्चों का बाप है तो वो उससे अलग हो गई।

करुणा की हत्या की कहानी दरअसल इसी ब्रेकअप से शुरू होती है।

karuna2

2015 के बाद आदित्य बना पागल आशिक

करुणा से ब्रेकअप को आदित्य बर्दाश्त नहीं कर पाया और वह किसी भी तरह से करुणा को हासिल करना चाहता था। 2015 से 2016 के बीच ऐसा नहीं था कि करुणा से उसकी बातचीत नहीं होती थी।

क्या बातचीत होती थी यह तो किसी को नहीं मालूम, लेकिन कॉल रिकॉर्ड और मोबाइल के लोकेशन से यह पता चला कि कत्ल से ठीक एक घंटे पहले आदित्य और करुणा की मुलाकात जीटीबी नगर मेट्रो स्टेशन के पास हुई थी।

दोनों पहले भी अक्सर यहीं मिला करते थे। आदित्य बीवी को तलाक देकर करुणा से शादी करना चाहता था।

करुणा आखिर आदित्य के बारे क्या सोचती थी?

करुणा किसी और की हो यह आदित्य को मंजूर नहीं था? 2015 में ब्रेकअप के बाद आदित्य ने करुणा का पीछा नहीं छोड़ा। वह उसे कॉल करता रहा, रास्ते में उसे रोकता रहा और उसे फिर से रिश्ते में लौटने के लिए दबाव डालता रहा।

करुणा के पीछे आदित्य के हाथ धोकर पीछे पड़ने का यह मामला लेकर परिजन पुलिस के पास गए। लेकिन पुलिस के अनुसार, करुणा ने इस मामले को आगे बढ़ाने से इनकार कर दिया। एक महिला कॉन्स्टेबल करुणा से मिली मगर करुणा ने आदित्य के खिलाफ कुछ भी कहने से इनकार कर दिया।
48 घंटे में भारत छोड़कर भाग जाएं पाकिस्‍तानी कलाकार नहीं तो... 

करुणा ने चूंकि आगे शिकायत दर्ज नहीं कराई इसलिए पुलिस भी कुछ नहीं कर पाई। यहां देखें तो किसी वजह से करुणा ने आदित्य को या तो बचाया था या वह मामले को और आगे ले जाने से डरती थी।

पुलिस का मानना है कि कुछ महीने पहले भी आदित्य ने करुणा पर हमला किया था इसलिए शायद वह खुद को उसके गुस्से से बचाने के लिए उसकी भावनाओं को सहलाने की कोशिश करती थी। इसलिए शायद वह कत्ल से एक घंटे पहले वह आदित्य से मिलने जीटीबी नगर पहुंच गई।

क्या करुणा और मोहित के बीच कोई रिश्ता था?

आदित्य को उसके दोस्त मोहित ने बताया कि करुणा उसके साथ मिलती-जुलती है। मोहित ने यह भी पूछा कि आदित्य को इससे ऐतराज तो नहीं है? साथ ही उसने आदित्य को करुणा की प्राइवेट तस्वीरें भी दिखाईं। आदित्य के कातिल बनने की घटना यहीं से शुरू होती है।

क्या मोहित की वजह से आदित्य से करुणा दूर हुई थी या आदित्य से दूर होने के बाद वह मोहित के करीब आई थी? यह फिलहाल स्पष्ट नहीं है लेकिन मोहित के कैरेक्टर ने आदित्य और करुणा के रिश्ते को प्रेम त्रिकोण में बदल दिया, जिसका अंजाम वैसे भी अच्छा नहीं होता।

आदित्य के पास करुणा के फेसबुक का पासवर्ड था

आदित्य को लगा कि करुणा उसके हाथ से निकलकर किसी और की हो चुकी है। उसकी जलन और ज्यादा बढ़ गई। उसने कत्ल की पिछली रात को करुणा का फेसबुक प्रोफाइल खोलकर चेक किया। आदित्य के पास करुणा के फेसबुक का पासवर्ड था।

पुलिस को आदित्य ने बताया कि उसने पाया कि करुणा फेसबुक पर मोहित से प्राइवेट चैट करती थी और अपने प्राइवेट फोटो उससे शेयर करती थी। पुलिस ने भी इस बात की पुष्टि की कि आदित्य ने करुणा का फेसबुक चेक किया था।

फेसबुक ने आदित्य की जलन पर पेट्रोल छिड़क दिया और उसके अंदर बदले की आग धधक उठी। इसके बाद उसने करुणा को इस बेवफाई के लिए सबक सिखाने का फैसला लिया। लेकिन अभी शायद उसने कत्ल का फैसला नहीं लिया था।

उसने करुणा को जीटीबी नगर मिलने के लिए बुलाया

कत्ल से ठीक एक घंटे पहले उसने करुणा को जीटीबी नगर मेट्रो स्टेशन के पास मिलने के लिए बुला लिया। करुणा आई तो उसने फेसबुक, मोहित, प्राइवेट चैट और प्राइवेट फोटोज के बारे में पूछना शुरू किया।

दोनों के बीच में जबरदस्त झगड़ा हुआ। करुणा ने आदित्य को जासूसी करने के लिए बुरा-भला कहा। आदित्य के अनुसार, तभी करुणा के पिता का फोन आया और घर चली गई। इसी झगड़े के बाद गुस्से से भरे आदित्य ने आखिरकार करुणा पर वार करने का फैसला लिया।

कैंची लेकर रास्ते में इंतजार करता रहा आदित्य

करुणा के आने जाने के रास्ते से आदित्य परिचित था। जब करुणा बहन नेहा के साथ स्कूल जा रही थी वह रास्ते में कत्ल का सामान लेकर इंतजार कर रहा था। उसने करुणा पर पहला वार किया लेकिन आदित्य के अनुसार, वह वार चूक गया। वार चूकने पर करुणा ने उसकी हंसी उड़ाते हुए कहा, 'देखो, तुम एक चाकू तक ठीक से नहीं चला सकते।'

आदित्य का कहना है कि करुणा के मुंह से यह सुनने के बाद वह गुस्से में पागल हो गया और चाकू चलाने का जौहर दिखाने लगा और यह बर्बर तमाशा लोगों ने ही नहीं, सीसीटीवी फुटेज के जरिए दुनिया ने देखा।

लोग करुणा के बचाने के बजाय आदित्य को लगे पीटने

लहूलुहान करुणा बचाव के लिए चिल्ला रही थी और लोगों की भीड़ उसको बचाने के बजाय पहले आदित्य को मारने -पीटने में लग गई।

जब आदित्य करुणा पर वार कर रहा था तब भी लोग तमाशा देख रहे थे और उसके बाद भी उन्होंने एक नए तमाशे के लिए आदित्य को चुन लिया लेकिन करुणा को किसी भी हाल में नहीं बचाया।

आदित्य ने खुद किया पुलिस को कॉल

पुलिस ने इस बात की पुष्टि की है कि कत्ल के बाद आदित्य ने फोन कर बताया था कि उसने एक लड़की का कत्ल कर दिया है। प्यार के जलन में आदित्य आखिर में करुणा का कत्ल कर जेल की सलाखों के पीछे पहुंच गया।

READ ALSO: शारीरिक संबंध बनाने को कहता था, तीन बहनों ने दी खौफनाक मौत

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Surendra Singh alias Aaditya Malik killed Karuna brutally? What are the circumstances that led Aaditya to murder her ex lover?
Please Wait while comments are loading...