VIDEO: आलमारी, कार्टूनों में भरे 13.5 Cr, 2.6 Cr के नए नोट जब्त

क्राइम ब्रांच ने ग्रेटर कैलाश में एक लॉ फर्म पर छापेमारी की जिसमें भारी मात्रा में कैश आलमारी और कार्टूनों में ठूसे हुए मिले।

Subscribe to Oneindia Hindi

ग्रेटर कैलाश। क्राइम ब्रांच ने दिल्ली के ग्रेटर कैलाश में एक लॉ फर्म पर छापेमारी कर 13.5 करोड़ रुपए जब्त किए हैं। इन रुपयों में 2.60 करोड़ रुपए के नए नोट हैं। लॉ फर्म का मालिक फिलहाल फरार है।

क्राइम ब्रांच के ज्वाइंट सीपी रवींद्र यादव ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में यह जानकारी दी। पहले आई खबरों में यह रकम 10 करोड़ बताई जा रही थी।

Read Also: सीक्रेट बॉथरूम चैंबर से 32 किलो सोना और 5.7 करोड़ रुपए के नए नोट बरामद

Greater kailash raid1

कुल 13.5 करोड़ रुपए आलमारी में बंद मिले, वीडियो

दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच ने शनिवार को ग्रेटर कैलाश के पॉश इलाके में एक लॉ फर्म पर छापा मारा जहां करोड़ों रुपए के नोट आलमारियों में बंद मिले।

ज्वाइंट सीपी रवींद्र यादव ने बताया कि कुल 13.5 करोड़ रुपए बरामद हुए जिनमें 3 करोड़ रुपए 100 के नोटों में हैं, 7 करोड़ रुपए बैन किए गए 1000 रुपए के नोटों में जबकि 2.60 करोड़ रुपए नोटबंदी के बाद जारी किए गए 2000 रुपए के नोटों में हैं। बाकी रुपए 50 रुपए की करेंसी में हैं।

Greater kailash raid3

कहां से आए लॉ फर्म के पास 2.60 करोड़ रु के नए नोट?

ज्वाइंट सीपी ने बताया कि इन नोटों की बरामदगी के बारे में इनकम टैक्स डिपार्टमेंट को बता दिया गया है। आईटी अधिकारी इस बात की जांच कर रहे हैं कि लॉ फर्म के पास 2000 के नए नोटों में 2.60 करोड़ रुपए कहां से आए?

लॉ फर्म पर छापेमारी में 2 काउंटिंग मशीन भी जब्त की गई हैं। इस मामले में आईटी डिपार्टमेंट और ईडी ने केस दर्ज कर लिया है।

Greater kailash raid2

लॉ फर्म का मालिक फरार

ज्वाइंट सीपी ने यह भी बताया कि ग्रेटर कैलाश के लॉ फर्म का मालिक फरार हो चुका है। इस फर्म के बारे में कुछ दिन पहले से खुफिया सूचनाएं मिल रही थीं, जिसके बाद छापेमारी की गई।

इस मामले की आगे जांच जारी है और मालिक की तलाश में पुलिस लगी है।

Read Also: सूरत में पकड़े 76 लाख रुपए, सभी नोट 2000 के

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Crime branch seized a huge amount of cash, 13.5 crore rupees in a raid on a law firm in Greater Kailash in New Delhi.
Please Wait while comments are loading...