पन्नीरसेल्वम ने बैंक को लिखा, उनसे पूछा बिना किसी को ना दिया जाए पार्टी का पैसा

तमिलनाडु के कार्यवाहक मुख्यमंत्री पन्नीरसेल्वम ने खुद को पार्टी का कोषाध्यक्ष बताते हुए बैंक से उनकी इजाजत के बाद ही पार्टी के खाते से रुपए किसी को देने के बात कहते हुए चिट्ठी लिखी है।

By:
Subscribe to Oneindia Hindi

चेन्नई। तमिलनाडु में चल रही राजनीतिक उठापटक के बीच ओ पन्नीरसेल्वम ने बैंक को चिट्ठी लिख कहा है कि वो पार्टी के कोषाध्यक्ष हैं और उनकी इजाजत के बगैर किसी को पार्टी फंड से रुपए ना दिए जाएं। हालांकि अन्नाद्रमुक की मुखिया शशिकला ने मंगलवार देर रात पन्नीरसेल्वम को कोषाध्यक्ष पद से हटा देने की घोषणा की थी। तमिलनाडु के मुख्यमंत्री पनीरसेल्वम ने पद से इस्तीफा देने के बाद बगावती तेवर अपनाते हुए मंगलवार देर शाम शशिकला पर कई आरोप लगाए थे।

पनीरसेल्वम ने बैंक को लिखा, उनसे पूछा बिना पार्टी में किसी को ना दिए जाए रुपए

पन्नीरसेल्वम के बगावती तेवर अपनाने के बाद तमिलनाडु में राजनीतिक हलचल तेज है। बुधवार को अन्नाद्रमुक की मुखिया और विधायक दल की नई नेता वीके शशिकला की अध्यक्षता में हुई बैठक में 131 विधायकों के शरीक होने का दावा किया।राज्यपाल सी. विद्यासागर राव गुरूवार को चेन्नई लौटेंगे और आगे के घटनाक्रम पर फैसला करेंगे। शशिकला ने पार्टी के उनके पक्ष में एकजुट होने की बात कही है।

आपको बता दें कि सोमवार को मुख्यमंत्री पद से अपना इस्तीफा राज्यपाल द्वारा स्वीकार किए जाने के बाद ओ पन्नीरसेल्वम मंगलवार शाम तमिलनाडु की पूर्व मुख्यमंत्री जे जयललिता की समाधि पर पहुंचे। पनीरसेल्वम देर तक आंखे बंद करके जयललिता की समाधि पर बैठे रहे। सेल्वम ने इस दौरान अपनी बेइज्जती किए जाने की बात कही और खुद को अम्मा के बताए रास्ते पर चलने वाला बताया। पनीरसेल्वम ने शशिकला पर उन्हें लगातार बेइज्जत करने का आरोप लगाते हए कहा कि खुद मुख्यमंत्री बनने के लिए शशिकला ने उनके काम में बाधाएं खड़ी कीं और उनको इस्तीफा देने के लिए मजबूर किया गया। सेल्वम ने कहा कि इस्तीफा उन्होंने दबाव में दिया और जनता चाहेगी तो वो फिर से मुख्यमंत्री बनने को तैयार हैं। सेल्वम के इस बयान के बाद राज्य की राजनीति में तूफान आ गया और आरोप-प्रत्यारोप का दौर शुरू हो गया।
पढ़ें- तमिलनाडु राजनीतिक संकट: कल चेन्नई लौटेंगे राज्यपाल, करेंगे विधायक और शशिकला से मुलाकात

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
O Paneerselvam writes to bank not allow any transactions in party account without his consent
Please Wait while comments are loading...