मेडिकल छात्रों ने किया मानवता को शर्मसार, बंदर को क्रूरता से मार डाला

एक बार फिर चेन्नई में मेडिकल छात्रों ने जानवर पर अत्याचार किया है। उन्होंने बंदर को खौफनाक यातना देकर मार डाला।

Subscribe to Oneindia Hindi

चेन्नई। जिन मेडिकल छात्रों पर भविष्य में लोगों की जान बचाने की मानवीय जिम्मेदारी आनेवाली है, वही इंसानियत को लगातार शर्मसार कर रहे हैं। कुछ महीने पहले चेन्नई में एक मेडिकल कॉलेज के छात्र ने छत पर से कुत्ते को फेंकने का अमानवीय काम किया था। फिर से चेन्नई में ही डॉक्टरी पढ़ रहे छात्रों ने बंदर को टॉर्चर किया है जिससे उसकी मौत हो गई।

Read Also:पोस्ट ऑफिस के बचत खाते में जमा करा सकते हैं 500-1000 के नोट

monkey killed by medical student

जानवरों के खिलाफ मेडिकल छात्र कर रहे क्रूरता

वेल्लौर में क्रिश्चियन मेडिकल कॉलेज के चार छात्रों पर आरोप है कि उन्होंने एक बंदर को यातना देकर मार डाला और उसकी लाश को हॉस्टल में दफना दिया। चारों छात्रों के खिलाफ पुलिस ने केस दर्ज कर लिया है और कॉलेज ने उनको सस्पेंड करने का फैसला लिया है।

बंदर को दी अमानवीय यातना

इस घटना के बारे में चेन्नई के एनिमल वेलफेयर एक्टिविस्ट श्रवण कृष्णन ने बताया है कि एक बंदर 19 नवंबर को हॉस्टल में कहीं से भटककर आ गया। चार छात्रों ने उसे एक कंबल में लपेटा। उन्होंने बंदर के हाथ बांध दिए और अन्य छात्रों के सामने उसको बेल्ट और रॉड से पीटा। यही नहीं बंदर के निजी अंगों में उन्होंने रॉड डाल दिए। यातना दे-देकर उन्होंने बंदर को मार डाला।

इस घटना की खबर जैसे ही हॉस्टल के जेनरल सेक्रेटरी को मिली उन्होंने छात्रों को सस्पेंड कर इसकी जानकारी कॉलेज ऑथोरिटीज को दी।

हॉस्टल मेस के पीछे मिली बंदर की लाश

छात्रों ने बंदर को मारकर हॉस्टल मेस के पीछे गाड़ दिया था। कुछ एनिमल वेलफेयर एक्टिविस्ट्स ने पुलिस में शिकायत दर्ज कराई। अधिकारियों और पुलिस के साथ वे हॉस्टल पहुंचे। वहां जब 12 साल के बंदर की लाश बाहर निकाली गई तो लोगों ने रूह कंपाने वाला नजारा देखा। वहां कॉलेज प्रशासन के अधिकारी भी मौजूद थे।

बंदर के हाथ पीठ के पीछे बंधे थे। इसके गले में टेलीफोन का तार कसा हुआ था और एक धारदार चीज बंदर के निजी अंग में ठूसा गया था। कॉलेज प्रिंसिपल ने घटना की भर्त्सना करते हुए बताया है कि 20 नवंबर को सूचना मिलने के बाद बनाई गई एंक्वायरी कमेटी की रिपोर्ट के आधार पर छात्रों को सस्पेंड करने का फैसला लिया गया है।

जुलाई में कुत्ते को फेंकने का वीडियो हुआ था वायरल

इससे पहले चेन्नई के एक मेडिकल कॉलेज के छात्र ने छत पर से कुत्ते को फेंक दिया था जिसका वीडियो वायरल हो गया था। संयोग से कुत्ते की जान बच गई थी। कुत्ते के साथ अमानवीय कृत्य करने वाले छात्र गौतम सुदर्शन और आशीष पाल को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया था। फिलहाल दोनों जमानत पर कोर्ट से छूटे हैं।

Read Also:नोटबंदी के खिलाफ पोस्ट करने पर डीएम ने लगाई पाबंदी, विरोध

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Four medical students has tortured a monkey and killed the animal brutally. Police is taking action against them.
Please Wait while comments are loading...