पंजाब चुनाव के लिए नवजोत सिंह सिद्धू का साथ क्यों चाहती है कांग्रेस, ये हैं 5 वजहें

Subscribe to Oneindia Hindi

चंडीगढ़। पंजाब चुनाव में भाजपा-शिरोमणि अकाली दल गठबंधन, कांग्रेस और आम आदमी पार्टी में कांटे की टक्कर होने की संभावना है। ऐसी चुनावी फिजा में भाजपा का साथ छोड़ चुके पूर्व क्रिकेटर और आवाज ए पंजाब के नेता नवजोत सिद्धू काफी अहम किरदार के रूप में उभरे हैं।

भाजपा से अलग होने के बाद सिद्धू नई पार्टी की तलाश में पहले आम आदमी पार्टी की तरफ मुड़े लेकिन वहां बात नहीं बनी तो कांग्रेस उनको लपक लेने की कोशिशों में लग गई।

कांग्रेस के रणनीतिकार प्रशांत किशोर समेत कई अहम नेता नवजोत सिंह सिद्धू को पार्टी से जोड़ना चाहते हैं क्योंकि सत्ता के शतरंज की बिसात पर भाजपा-शिअद गठबंधन को मात देने की कोशिशों में लगी पार्टी के मंसूबों को पूरा करने में सिद्धू अहम मोहरा साबित हो सकते हैं।

Read Also: पंजाब: कांग्रेस ने नवजोत सिंह सिद्धू को दिया उप मुख्यमंत्री बनाने का ऑफर

navjot singh sidhu1

कांग्रेस की सीटों में इजाफा कर सकते हैं सिद्धू

पंजाब चुनाव के परिणामों पर आए ओपिनियन पोल ने त्रिशंकु विधानसभा होने की भविष्यवाणी करते हुए बाकी दलों की अपेक्षा कांग्रेस को ज्यादा सीटें दी हैं।

पंजाब में सत्ता हासिल करने को बेताब कांग्रेस मेँ इस ओपिनियन पोल की वजह से काफी उत्साह जगा है। एक ओपिनियन पोल ने कांग्रेस को 49 से 55 सीटें दी हैं और आम आदमी पार्टी को 42-46 सीटें दी हैं।

अगर ओपिनियन पोल की उम्मीदों के मुताबिक चुनाव परिणाम आए तो नवजोत सिंह सिद्धू का साथ मिलने से कांग्रेस को ज्यादा सीटें मिल सकती हैं।

एक ओपनियन पोल के परिणाम
कांग्रेस -49-55
आप - 42-46
भाजपा-शिअद - 17-21

navjot singh sidhu2

कांग्रेस के लिए बेहद अहम हैं पंजाब चुनाव

कांग्रेस पार्टी की हालत देशभर में खराब है और अपनी स्थिति को मजबूत करने के लिए पार्टी के लिए पंजाब चुनाव बेहद अहम हैं।

अगले साल उत्तर प्रदेश में भी चुनाव होनेवाले हैं लेकिन वहां की अपेक्षा पंजाब चुनाव से कांग्रेस को ज्यादा उम्मीदें हैं। इसलिए पार्टी पंजाब चुनाव पर बहुत ज्यादा फोकस कर रही है और इसको जीतने में कोई कोर कसर नहीं छोड़ना चाहती।

सिद्धू का साथ मिलने से कांग्रेस को फायदा होता दिख रहा है इसलिए किसी भी सूरत में उनको साथ लाने की कोशिशों में कांग्रेस जुटी हुई है।

navjot singh sidhu3

एंटी अकाली वोट पर कांग्रेस की नजर

नवजोत सिंह सिद्धू के समर्थन से कांग्रेस पार्टी के पक्ष में अकाली विरोधी वोट पड़ सकते हैं। इस वजह से भी सिद्धू कांग्रेस के लिए महत्वपूर्ण हैं।

सिद्धू को मनाने के लिए कांग्रेस ने उनको डिप्यूटी सीएम पद का ऑफर दिया, ऐसी खबरें भी सामने आ रही हैं। सिद्धू के साथ डील अभी फाइनल नहीं हुई है। कहा जा रहा है कि प्रदेश अध्यक्ष कैप्टन अमरिंदर सिंह चाहते हैं कि सिद्धू अपनी पार्टी आवाज ए पंजाब का कांग्रेस में विलय करें।

अमरिंदर सिंह को डर है चुनाव परिणाम आने के बाद सत्ता समीकरण बिठाने के चक्कर में सिद्धू कांग्रेस का साथ छोड़ आम आदमी पार्टी का दामन थाम सकते हैं।

navjot singh sidhu4

सिद्धू के सेलिब्रिटी स्टेटस का फायदा

सिद्धू सेलिब्रिटी हैं और युवाओं का वोट उनकी तरफ आकर्षित हो सकता है। सिद्धू के सेलिब्रिटी स्टेट्स का लाभ भी कांग्रेस को मिल सकता है।

पंजाब में कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व प्रदेश अध्यक्ष प्रताप सिंह बाजवा ने सिद्धू को यूथ आइकॉन और अच्छा इंसान बताया है। बाजवा ने उनको कांग्रेस पार्टी मं शामिल करने का जोरदार समर्थन किया है।

navjot singh sidhu5

आम आदमी पार्टी में विवाद, कांग्रेस और सिद्धू

पंजाब में आम आदमी पार्टी, पूर्व कन्वीनर सुच्चा सिंह छोटेपुर को लेकर विवादों में घिरी और उसके बाद पार्टी के बड़े नेताओं पर महिलाओं के शोषण के आरोप लगे।

आम आदमी पार्टी की छवि इन विवादों से धूमिल हुई है जिसका सीधा फायदा कांग्रेस को मिलने की संभावना है। इन सारी परिस्थियों में कांग्रेस को सिद्धू का साथ मिलने से और फायदा हो सकता है।

ओपिनियन पोल के मुताबिक, आम आदमी पार्टी को कांग्रेस से कुछ ही कम सीटें मिलने की भविष्यवाणी की गई है। सत्ता समीकरणों के लिए कांग्रेस, आम आदमी पार्टी के साथ नहीं जाना चाहेगी लेकिन सिद्धू की पार्टी से वह सामंजस्य बिठा सकती है।

Read Also: भारत को जवाब देने के लिए पा‍क और चीन के बीच अब तक की सबसे बड़ी डिफेंस डील

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
To win in Punjab election next year, Congress trying to woo Aawaj a Punjab leader Navjot Singh Sidhu.
Please Wait while comments are loading...