भारत में नोटबंदी से अमेरिकी -चीन की चांदी, जानें कैसे?

By:
Subscribe to Oneindia Hindi

नई दिल्ली। भारत में नोटबंदी से अमेरिका और चीन की चांदी हो गई है। जहां देश के लोग कैश की किल्लत से परेशान हैं तो वहीं ये अमेरिका, चीन समेत जापान, डेनमार्क समेत कई देश मुनाफा कमा रहे हैं। खासकर ऑन लाइन शॉपिंग और ट्रांजैक्शन से इन देशों को खूब फायदा हो रहा है।

note ban

वहीं 2000 के नोट आने के बाद भारतीय एटीएम में सॉफ्टवेयर और ट्रे आदि बदलने की जरूरत पड़ी है। इन एटीएम में जो नए पार्ट्स लगाए जा रहे हैं वो चीन से ही खरीदा जा रहा है।

कैश की किल्लत होने के बाद लोगो ने कैशलेश ट्रांजेक्शन को खूब बढ़ावा दिया है। लोग अधिकांश शॉपिंग कार्ड के जरिए कर रहे हैं, जिसकी वजह से कार्ड स्वैपिंग मशीन के अलावा रसीद प्रिंट करने वाले प्रिंटर की भी डिमांड खूब बढ़ी है।

आपको बता दें कि ये पार्ट्स मुख्य तौर पर अमेरिका और चीन से खरीदे जाते हैं। अमेरि‍का की कंपनी Epson की POS प्रिंटर मशीनों का भारत में इंपोर्ट 32 फीसदी बढ़ा है। वहीं नोटबंदी के बाद से 500 और 2000 के नए नोट की छपाई के लिए आवश्यक सि‍क्‍युरि‍टी फीचर्स, इंक और पेपर डेनमार्क से लेकर कुवैत से मंगाए जा रहे हैं। ऐसे में कहना गलत नहीं होगा कि भारत में नोटबंदी से विदेशों का फायदा हो रहा है।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
After The Demonetisation in India china and America business increase.Demonetisation may drag India behind China in GDP growth.
Please Wait while comments are loading...