आपके खाने की चीज में कहीं मांस तो नहीं, ऐसे करें पहचान

Subscribe to Oneindia Hindi

नई दिल्ली। हम आए दिन बाजार से बहुत सी चीजें खरीद कर खाते हैं, लेकिन कभी भी उसके पैकेट को पटकर उसके पीछे लिखी जानकारी पढ़नी की जहमत नहीं उठाते हैं। क्या आपको पता है कि आप जिस भी पैकेज्ड फूड आइटम को खरीदते हैं उसके पीछे एक खास तरह का निशान होता है।

यह निशान बताता है कि आपका जो खाने जा रहे हैं वह शाकाहारी है या फिर मांसाहारी। अगर आपके द्वारा खरीदी गई चीज शाकाहारी है तो उसे पर इसे दर्शाता हुआ एक निशान होगा और अगर उसमें मांस की मात्रा मिली हुई है तो भी यह पैकेट के पीछे वाले हिस्से पर दर्शाया गया होगा।

ये भी पढ़ें- ये हैं वो आसान से 5 तरीके, जिनसे घर बैठे होगी मोटी कमाई

यूं तो अधिकतर लोग इस निशान को नहीं देखते हैं, लेकिन अगर आप चाहते हैं कि आप कभी शाकाहारी समझ कर कोई मांस वाली चीज न खा लें, तो पैकेट को पलटकर देख लें ये निशान। आइए जानते हैं कौन-कौन से होते हैं ये निशान।

शाकाहारी के लिए हरा निशान

शाकाहारी के लिए हरा निशान

अगर आपके द्वारा खरीदी गई चीज शाकाहारी है तो उसके पीछे एक हरे रंग का डॉट होगा। इस डॉट के चारों ओर हरे रंग से ही एक वर्ग (चौकोर सी आकृति) बना होगा। ध्यान रहे, अगर किसी पैकेट के पीछे आपको ऐसा निशान दिखता है तो आप तुरंत समझ जाएं कि वह प्रोडक्ट शाकाहारी है।

ये भी पढ़ें- 30 साल की उम्र तक कर लें ये 8 काम, वरना पड़ेगा पछताना

हर कंपनी के लिए यह अनिवार्य है कि वह अपने प्रोडक्ट के पीछे इस निशान को जरूर दिखाए, अगर उसका प्रोडक्ट शाकाहारी है तो। वहीं दूसरी ओर, इस निशान की लंबाई, चौड़ाई कितनी होगी, इसके लिए भी नियम बने हैं, जो अलग-अलग प्रोडक्ट के लिए अलग-अलग हो सकते हैं।

मांसाहारी चीज के लिए लाल निशान

मांसाहारी चीज के लिए लाल निशान

अगर आपके द्वारा खरीदे गए सामान में जरा सी भी मात्रा मांस की है, तो इसके पैकेट के पीछे वाले हिस्से पर लाल निशान होगा। यह निशान भी ठीक हरे निशान जैसा ही होगा, सिर्फ इसका रंग लाल होगा।

ये भी पढ़ें- आप भी बन सकते हैं करोड़पति, बस 5 स्टेप में जानिए कैसे

अगर आपने कभी इस निशान को नहीं देखा है तो आप किसी भी दुकान या डिपार्टमेंटल स्टोर में जाएं और चिकन सूप या फिर मांस से बनने वाली किसी अन्य चीज के पैकेट को उठाकर उसे पलटकर देखें। आपको ये लाल रंग का निशान उसके पीछे मिल जाएगा।

नीले रंग का निशान

नीले रंग का निशान

नीले रंग का निशान अभी तक किसी भी प्रोडक्ट के पीछे नहीं छापा गया है, लेकिन इस पर विचार चल रहा है। योजना है कि नीले रंग का निशान उन प्रोडक्ट के पीछे दर्शाया जाएगा, जो डाएबिटीज से पीड़ित लोगों के लिए होंगे।

ये भी पढ़ें- पैन कार्ड नंबर दे देता है आपके नाम का सुराग, पढ़िए कैसे

आज के समय में डायबिटीज आम समस्या हो गई है, जिसके चलते यह फैसला लिए जाने पर विचार किया जा रहा है। हालांकि, इस पर काफी समय से विचार किया जा रहा है, लेकिन अभी तक किसी भी निष्कर्ष पर नहीं पहुंचा जा सका है।

अंडे और दूध के लिए निशान

अंडे और दूध के लिए निशान

यूं तो कई देशों में अंडे को भी शाकाहार में गिना जाता है, लेकिन भारत में अंडे को मांसाहार ही माना जाता है, जिसके चलते अंडे से बनी चीजों पर लाल रंग का निशान होता है।

ये भी पढ़ें- आपको पता नहीं होगा, आपके खाते से काटते हैं इन चीजों के पैसे

वहीं दूसरी ओर, दूध से बनी हर चीज पर हरे रंग का निशान होता है, क्योंकि दूध शाकाहार में आता है। हो सकता है भविष्य में अंडे-दूध के लिए भी कोई निशान लाने की सोची जाए, जैसा कि डायबिटीज के मरीजों के लिए सोचा गया है।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
vegetarian and non-vegetarian marks on the food products
Please Wait while comments are loading...