यूबीएस-प्राइसवॉटरहाउसकूपर्स रिपोर्ट: चीन को हर पांचवें दिन में मिल रहा नया अरबपति

Subscribe to Oneindia Hindi

नई दिल्‍ली। यूबीएस और प्राइसवॉटरहाउसकूपर्स की नई रिपोर्ट में चौंकानें वाले आंकड़ें सामने आए हैं। यूबीएस और प्राइसवॉटरहाउसकूपर्स दुनिया भर के अरबपतियों को लेकर जारी की गई रिपोर्ट के मुताबिक हर तीसरे दिन एशिया में एक व्‍यक्ति अरबपति बन जाता है। वहीं रिपोर्ट यह भी बताती है कि एक साल के अंदर सबसे ज्‍यादा नए करोड़पति चीन में ही पैदा हुए हैं।

china

रिपोर्ट में यह बताया गया है कि पूरी दुनिया में एशिया में हर सप्‍ताह एक व्‍यक्ति अरबपति बन जाता है। वर्ष 2015 में चीन के अंदर 71 फीसदी नए करोड़पति पैदा हुए हैं। अगर वर्ष 2009 से इसकी तुलना की जाए तो यह दोगुने से भी ज्‍यादा है। यूबीएस और प्राइसवॉटरहाउसकूपर्स की नई रिपोर्ट में यह पता तब चली जब 1300 से ज्‍यादा अरबपतियों से जुड़े आंकड़ों पर गौर किया गया तो यह बात सामने आई है।

एसबीआई प्रमुख अरूंधति भट्टाचार्य बन सकती है वर्ल्‍ड बैंक की एमडी और सीओओ

यूबीएस और प्राइसवॉटरहाउसकूपर्स की रिपोर्ट में बताया गया कि वर्ष 2015 में एशिया में 113 उद्यमी अरबपति बने थे। इनमें से अकेले चीन के 80 उद्यमी शामिल थे। रिपोर्ट के मुताबिक दुनिया भर में बन रहे अरबपतियों की संख्‍या पर अगर गौर करें तो पता चलेगा कि नए बने अरबपतियों की संख्‍या आधे से ज्‍यादा है।

रिपोर्ट के मुताबिक चीन के युवा वर्ग के उद्यमी को इस लिस्‍ट में ज्‍यादा स्‍थान मिला है।

रिपोर्ट बताती है कि जो उद्यमी अरबपतियों की सूची में शामिल हुए हैं उनमें से 19 फीसदी टेक्‍नोलॉजी, 15 फीसदी कंज्‍यूमर एंड रिटेल, 15 फीसदी रियल एस्‍टेट सेक्‍टर से जुड़े हुए थे। चीन में इन दिनों ई-कॉमर्स का बाजार बहुत तेजी से बढ़ रहा है। उसका फायदा भी वहां के उद्यमी को मिल रहा है।

रिपोर्ट बताती है कि दुनिया भर के अरबतियों के मामले में हॉन्‍ग-कॉन्ग और भारत एशिया के ऐसे देश निकले जहां पिछले साल अरबतियों की सूची में 11-11 लोगों का इजाफा हुआ। पूरी रिपोर्ट के लिए क्लिक करें---यहां

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
ubs pricewaterhousecoopers billionaires report 2016
Please Wait while comments are loading...