साल 2016 में बिजनेस जगत पर तूफान मचाने वाली 10 बड़ी बातें

By:
Subscribe to Oneindia Hindi

नई दिल्ली। साल 2016 बिजनेस जगत के लिए उठा पटक से भरा रहा। एक के बाद बाद बड़े विवाद सामने आए तो वहीं कई बड़े लॉच ने लोगों में धूम मचा दिया। किसी का बिजनेस ग्राफ आसमान छूने लगा तो कोई धड़ाम हो गया। याहू ने भी एक सूची जारी की है जि‍समें साल 2016 के दौरान भारत में हलचल मचाने वाले वित्तीय घटनाओं के बारे में बताया गया है। इसमें भारत में बिजनेस जगत की उन घटनाओं का जिक्र किया गया है, जिसने साल 2016 में खूब सुर्खियां बंटोरी। हम उनमें से 10 बड़ी घटनाओं का जिक्र कर रहे हैं, जो साल 2016 में चर्चा का मुद्दा बनी।

इन घटनाओं में सबसे ऊपर रहा नोटबंदी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की ओर से 500 रुपए और 1000 रुपए के नोटों को बंद करने का ऐलान ने देश-दुनिया को प्रभावित किया और साल 2016 की सबसे बड़ा फैसला बन गया। आइए डाले इन बड़ी घटनाओं पर एक नजर...

 नोटबंदी

नोटबंदी


जब पूरी दुनि‍या अमरीकी चुनाव और ट्रंप और क्‍लिंटन की कहानी में व्‍यस्‍त था, तभी 8 नवंबर को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अचानक कालेधन को रोकने के लि‍ए नोटबंदी का ऐलान कर दि‍या। लोगों ने इसे कालेधन के खि‍लाफ ‘सर्जि‍कल स्‍ट्राइक' का नाम दे दिया। पीएम मोदी ने ऐलान कर दिया कि अब देश में 500 और 1000 के नोट नहीं चलेंगे। लोगों को अपने नोट बदलने के लिए 50 दिन का वक्त दिया गया। एक के बाद एक बड़े ऐलान किए गए।

 नई इनकम डि‍क्‍लेयरेशन स्‍कीम

नई इनकम डि‍क्‍लेयरेशन स्‍कीम


इससे पहले सरकार ने लोगों को अपनी अघोषित आय को बताने का एक मौका दिया। सरकार ने इनकम डिक्लेयरेशन स्कीम के तहत लोगों को अपनी अघोषित आय बताने के लिए निश्चित वक्त दिया। इस स्कीम के तहत लोगों को मौका दिया गया कि वो अपनी अघोषि‍त आय या संपत्‍तियों का खुलासा कर सकते हैं। उन्‍हें 45 फीसदी टैक्‍स और पेनल्‍टी के साथ अघोषि‍त आय का खुलासा करने का मौका दि‍या गया। इस स्‍कीम से 65,250 करोड़ रुपए सरकारी खजाने में जमा हुए।

 रि‍लायंस जि‍यो की लॉचिंग

रि‍लायंस जि‍यो की लॉचिंग


रि‍लायंस जि‍यो के भारतीय टैलीकॉम इंडस्‍ट्री में कदम रखते ही हलचल मचा दी। 5 सि‍तंबर 2016 को रिलायंस इंडस्ट्री के मालिक मुकेश अंबानी ने जियो‘4जी-ओनली' सर्विस की लांचिग की। इसके तहत लोगों को 31 मार्च 2017 तक 4जीबी 4जी डाटा और अनलि‍मि‍टेड वॉयस कॉल्‍स की सर्वि‍स बिल्कुल फ्री दी गई।

 जीएसटी

जीएसटी


भारत की अर्थव्यवस्था को बदलने के लि‍ए गुड्स एंड सर्वि‍स टैक्‍स (जीएसटी) को पेश कि‍या गया है। इसे देश का सबसे बड़ा टैक्‍स रिफॉर्म कहा जा रहा है। भारी हंगामे के साथ सरकार ने इसे मजबूती के साथ पेश किया।

 वि‍जय माल्‍या का देश छोड़कर भागना

वि‍जय माल्‍या का देश छोड़कर भागना


किंगफिशर के मालिक विजय माल्या पर 17 बैंकों के 9000 करोड़ रुपए का कर्ज है, लेकिन वो बैंकों का पैसा लेकर अचानक देश छोड़कर लदंन जाकर बस गए। इसे लेकर विपक्ष और सरकार में खूब आरोप-प्रत्यारोप हुए। बैंक माल्‍या की संपत्तियों को नीलाम कर पैसे जुटाने की कोशि‍श कर रही है। लेकिन अब तक उसे इसमें सफल ता नहीं मिल पाई है।

 बालकृष्ण का फोर्ब्स की लिस्ट में आना

बालकृष्ण का फोर्ब्स की लिस्ट में आना


बाबा रामदेव कती आर्जुवेदिंक कंपनी पतंजलि ने साल 2016 में 2.5 करोड़ क कारोबार किया। सबसे ज्यादा हैरानी इस बात की हुई कि आचार्य बालकृष्‍ण को फोर्ब्स की सबसे अमीर भारतीयों की लि‍स्‍ट में शामि‍ल किया गया। फोर्ब्स की लि‍स्‍ट में बालकृष्‍ण का नाम 48वें पायदान पर है।

टाटा-मिस्त्री विवाद

टाटा-मिस्त्री विवाद

टाटा समूह ने 24 अक्टूबर को अचानक साइरस मिस्त्री को समूह के चेयरमैन पर से तत्काल प्रभाव से हटा दिया । इस पैसले से बिजनेस जगत में हलचल मचा दी। इस फैसले के बाद टाटा के शेयरों में लगातार गिरावट दर्ज की जा रही है।

 रघुराम राजन का पद से हटना

रघुराम राजन का पद से हटना


18 जून को भारतीय रिजर्व बैंक के पूर्व गवर्नर रघुराम राजन ने ऐलान किया कि वह गवर्नर के दौर पर दूसरा कार्यकाल नहीं चाहते। राजन के इस ऐलान ने सबको चौंका कर रख दिया। उनके पद छोड़ने के बाद सेंसेक्स में 374 अंकों की गिरावट दर्ज की गई।

ब्रेक्‍सि‍ट के बाद भारत पर असर

ब्रेक्‍सि‍ट के बाद भारत पर असर

जब यूके ने यूरोपियन यूनि‍यन से बाहर नि‍कलने का फैसला लि‍या तो भारत पर भी इसके असर पडऩे की चर्चा शुरू हो गई। यूके में भारत तीसरा सबसे बड़ा फॉरेन वि‍देशी प्रत्‍यक्ष नि‍वेशक है। इस घटना का भारत के व्यापार जगत पर असर पड़ा।

 2000 के नोट

2000 के नोट


नोटबंदी के बाद सरकार ने पहली बार 2000 के नोट लांच किए। इस नोट को लेकर लोगों ने खूब सवाल खड़े किए। किसी ने इसमें चिप की बात कही तो किसी ने रेडियोएक्टिव इंक की। किसी ने इसकी क्वालिटी पर सवाल खड़े कर दिए।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
In 2016 many Business decision effect the general people life, here we tell you aboout the top 10 decision.
Please Wait while comments are loading...