पैन कार्ड नंबर दे देता है आपके नाम का सुराग, पढ़िए कैसे

Posted By:
Subscribe to Oneindia Hindi

नई दिल्ली। पैन (परमानेंट अकाउंट नंबर) कार्ड कभी सिर्फ टैक्स चुकाने के लिए इस्तेमाल किया जाता था, लेकिन आज के समय में बहुत से कामों में पैन कार्ड की जरूरत होती है।

आजकल पैन कार्ड को आईडी प्रूफ के तौर पर खूब इस्तेमाल किया जाता है। इसलिए अगर नौकरी या बिजनेस मैन नहीं हैं तो भी आपके पास पैन कार्ड होना आपके लिए फायदे का सौदा है।

पैन कार्ड का इस्तेमाल करके आप नया सिम ले सकते हैं, कहीं पर भी इसे आईडी प्रूफ की तरह दिखा सकते हैं और अगर आप अच्छी कमाई करते हैं तो टैक्स जमा करने के काम तो ये आएगा ही।

क्या होता है पैन कार्ड

पैन कार्ड एटीएम कार्ड जैसा होता है, जिस पर 10 अंकों का एक खास नंबर लिखा होता है। इसमें कुछ अंक होते हैं, तो कुछ अंग्रेजी के अक्षर। किसी से उसका पैन कार्ड नंबर पूछा जाए तो वह झटपट बता देगा, लेकिन उसे यह नहीं पता होता कि आखिर उन नंबरों का मतलब क्या होता है।

दरअसल, पैन कार्ड पर लिखे नंबर का हर अंक और अक्षर एक खास मकसद से लिखा गया होता है। आइए जानते हैं आखिर क्या होता है पैन कार्ड पर लिखे हुए नंबर का मतलब-

पहले तीन डिजिट

पहले तीन डिजिट

पैन कार्ड के नंबर के शुरुआती तीन डिजिट अंग्रेजी के अक्षर होते हैं जो A से Z तक कुछ भी हो सकते हैं। यह अक्षर क्या होंगे और किस क्रम में होंगे, इसका निर्धारण आयकर विभाग की तरफ से किया जाता है।

ये भी पढ़ें-ऑनलाइन पासपोर्ट बनवाना है बहुत आसान, जानिए कैसे बनवाएं

चौथा अक्षर है सबसे खास

चौथा अक्षर है सबसे खास

यूं तो पैन कार्ड के नंबर का चौथा अक्षर भी अंग्रेजी का अक्षर ही होता है, लेकिन इससे यह पता चलता है कि कार्ड किसी व्यक्ति का है या कंपनी का या फिर किसी और का। जानिए किस अक्षर का होता है क्या मतलब-

P- एकल व्यक्ति

F- फर्म

C- कंपनी

A- AOP ( एसोसिएशन ऑफ पर्सन)

T- ट्रस्ट

H- HUF (हिन्दू अनडिवाइडेड फैमिली)

B- BOI (बॉडी ऑफ इंडिविजुअल)

L- लोकल

J- आर्टिफिशियल ज्युडिशियल पर्सन

G- गवर्नमेंट

ये भी पढ़ेंं-आपको पता नहीं होगा, आपके खाते से काटते हैं इन चीजों के पैसे

आपके सरनेम से बनता है पांचवां अक्षर

आपके सरनेम से बनता है पांचवां अक्षर

पैन कार्ड का पांचवा अक्षर आपके सरनेम का अंग्रेजी का पहला अक्षर होता है। इस तरह आपके सरनेम का पहला अक्षर आपके पैन कार्ड नंबर का पांचवा डिजिट बनाता है।

ये भी पढ़ें- आप भी बन सकते हैं करोड़पति, बस 5 स्टेप में जानिए कैसे

छठवें से लेकर नौवें तक होते हैं अंक

छठवें से लेकर नौवें तक होते हैं अंक

पांचवें डिजिट के बाद छठवें डिजिट से लेकर नौवें डिजिट तक अंक होते हैं। ये अंक 0001 से लेकर 9999 तक कुछ भी हो सकते हैं। दरअसल, यह वह नंबर होता है, जिसकी सीरीज आपका पैन कार्ड बनवाते समय आयकर विभाग में चल रही होती है।

ये भी पढ़ेंं-30 साल की उम्र तक कर लें ये 8 काम, वरना पड़ेगा पछताना

आखिरी अक्षर होता है अल्फाबेट चेक डिजिट

आखिरी अक्षर होता है अल्फाबेट चेक डिजिट

पैन कार्ड नंबर का आखिरी डिजिट एक लेटर होता है, जो एक अल्फाबेट चेक डिजिट होता है।

ये भी पढ़ें-ये हैं वो आसान से 5 तरीके, जिनसे घर बैठे होगी मोटी कमाई

देश-दुनिया की तबरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Do you know the meaning of pan card number. It tells about the status of card holder and give a clue of your surname.
Please Wait while comments are loading...