डिजिटल बैंकिंग में ज्‍यादा से ज्‍यादा बिजनेस के अवसर खोजे बैंक: अरुण जेटली

Posted By:
Subscribe to Oneindia Hindi

नई दिल्‍ली। देश में विमुद्रीकरण के फैसले को लागू करने के बाद विपक्ष का व‍िरोध झेल रही केंद्र सरकार इस फैसले पर अडिग है। अब केंद्र सरकार ने वित्‍त मंत्री अरुण जेटली ने विमुद्रीकरण को लेकर सभी बैंकों के प्रमुखों के साथ बैठक की है।

उस देश का नाम, जहां बैंक से लोग अपना पैसा नहीं निकाल पाते?

arun jaitley

वित्‍त मंत्री ने वीडियो कॉन्‍फ्रेसिंग के जरिए हुई बैंकों के प्रमुखों के संग हुई बैठक में बैंकों को डिजिटल बैंकिंग में ज्‍यादा से ज्‍यादा व्‍यापार के अवसर ढूंढने के लिए कहा है।

पत्रकारों से बातचीत करते हुए अरुण जेटली ने कहा कि पिछले कुछ सालों में देश में ई-वेलेट और डेबिट कार्ड के प्रयोग बहुत ज्‍यादा तेजी से बढ़ा है।

नोटबंदी पर मोबाइल ऐप के जरिए क्‍या असल भारत की राय मिलेगी पीएम मोदी को?

उन्‍होंने कहा कि इस समय देश में 80 करोड़ कार्ड जारी किए जा चुके हैं। इनमें से 40 करोड़ कार्ड एक्टिव हैं।

उन्‍होंने कहा कि इतने कार्ड होने के बाद भी भारतीय लोगों ने डिजिटल बैंकिंग को नहीं अपनाया है। इसको लेकर एक टास्‍क फोर्स का गठन किया कि कैसे डिजिटल बैंकिंग को ज्‍यादा से ज्‍यादा बढ़ावा दिया जा सके।

उन्‍होंने कहा कि सरकार चाहती है कि लोग नगद लेन -देन बंद करके डिजिटल बैंकिंग की तरफ रुख करें। इससे व्‍यापार भी बढ़ेगा।

जिन्‍होंने घोटालों से जुटाया कालाधन, वो आज नोटबंदी का विरोध कर रहे हैं: अरुण जेटली

देश-दुनिया की तबरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
single agenda of meet was to expand the digital banking itself: FM Jaitley
Please Wait while comments are loading...