बस हाथ के इशारे से खुल जाएंगे घर से लेकर कार तक के दरवाजे

Posted By:
Subscribe to Oneindia Hindi

नई दिल्ली। यूं तो आपने बहुत सी फिल्मों में देखा होगा कि कोई जासूस अपने शरीर के अंदर एक चिप फिट कर लेता है और फिर उसकी मदद से उसे सैटेलाइट के जरिए ढूंढ़ा जा सकता है।

तो ये है एयरटेल के 5 जीबी मुफ्त इंटरनेट डेटा की हकीकत, जानिए कंपनी ने कैसे की कमाई

ऐसे कारनामे जेम्स बॉन्ड, मिशन इमपॉसिबल और ऐसी ही जासूसी फिल्मों में देखने को अक्सर मिल जाते हैं। जरा सोचिए अगर रोजमर्रा के कामों में इस चिप का इस्तेमाल होने लगे तो कैसा होगा।

यूरोप में शुरू हुआ चलन

यूरोप में शुरू हुआ चलन

यूरोप में कई जगहों पर लोग अपने हाथ में सिलेंडर जैसी शीशे की एक चिप लगवा रहे हैं, जिससे स्मार्टफोन, गाड़ी, घर का दरवाजा, माटरसाइकिल और अन्य कई चीजें एक्टिवेट या यूं कहें कि अनलॉक हो जाते हैं। अभी इस तकनीक का इस्तेमाल भारत में नहीं हो रहा है, लेकिन जल्द ही यह तकनीक भारत में भी आ जाएगी।

सानिया मिर्जा ने किस इंडियन खिलाड़ी को कहा जहरीला?

अब कभी नहीं खोएगी आपकी चाबी

अब कभी नहीं खोएगी आपकी चाबी

इसका सबसे बड़ा फायदा यह है कि आपको कई तरह के कार्ड हर वक्त अपने साथ नहीं रखने होंगे। साथ ही आपको घर की चाबी या अपनी गाड़ी की चाबी भी अपने साथ नहीं रखनी होगी। इस तरह से जब यह तकनीक भारत में आ जाएगी तो आपको अपने घर की चाबी या गाड़ी की चाबी खोने का भी डर नहीं रहेगा, क्योंकि ये सारी चीजें आप बस अपना हाथ दिखाकर ही अनलॉक कर लेंगे।

जानिए कौन थे उरी आतंकी हमले में शहीद वो 18 सपूत?

ये नाम है इस चिप का

ये नाम है इस चिप का

इस चिप को रेडियो फ्रीक्वेंसी आइडेंटिफिकेशन डिवाइस (RFID) कहते हैं, जो आरएफआई तकनीक के आधार पर काम करती है। इस छोटी सी चिप में बहुत सारी जानकारी जमा की जा सकती है, जिसे आसानी से आपके शरीर में भी लगाया जा सकता है। इसे सामान्यतः आपके हाथों में लगाया जाता है। अधिकतर लोग इसे हाथ के पिछले हिस्से पर अंगूठे और उंगली के बीच के मांसल भाग में लगवाते हैं।

तस्वीरें : देश के 17 जांबाज शहीदों को अंतिम विदाई, रो पड़ा हर भारतीय

चंद सेकेंडों में लग जाती है ये

चंद सेकेंडों में लग जाती है ये

आप सोच रहे होंगे कि इसे शरीर में लगाने के लिए किसी ऑपरेशन की जरूरत पड़ती होगी। आपको बता दें कि यह चिप आपके शरीर में लगाने में महज कुछ सेकेंड लगते हैं। यानी मिनट भर से भी पहले आपके शरीर में इस चिप को लगा दिया जाता है। यह चिप बहुत अधिक बड़ी नहीं होती है। इसका आकार महज किसी चावल के दाने जितना बड़ा होता है।

VIRAL VIDEO: कश्मीर तो होगा, लेकिन पाकिस्तान नहीं होगा

50 हजार लोग कर रहे हैं इस्तेमाल

50 हजार लोग कर रहे हैं इस्तेमाल

इस चिप कोई भी लगा सकता है, लेकिन अगर कोई विशेषज्ञ ही इस चिप को लगाए तो ज्यादा अच्छा है। इसे लगाने में महारत हासिल कर चुके लोग अगर इस चिप को किसी के शरीर में लगाते हैं तो इससे इंफेक्शन का खतरा भी बहुत कम रहता है।

#UriAttack: आर्मी कैंप में हुए आतंकी हमले की इनसाइड स्टोरी, नक्शे में लिखी थी पूरी साजिश

इस बात का कोई आधिकारिक आंकड़ा नहीं है कि आखिर दुनिया भर में कितने लोग इस चिप का इस्तेमाल कर रहे हैं, लेकिन पूरी दुनिया में करीब 30,000 से 50,000 लोग इस तकनीक को इस्तेमाल कर रहे हैं।

कुछ समय तक इधर-उधर खिसकती है चिप

कुछ समय तक इधर-उधर खिसकती है चिप

एक बार जब चिप शरीर में लगा दी जाती है तो इसे एडजस्ट होने में कुछ समय लग सकता है। दरअसल, चिप लगाने के बाद अक्सर यह चिप अपनी जगह से इधर-उधर खिसकती है, जब तक कि उसे अपने हिसाब से एकदम सही जगह न मिल जाए। हालांकि, इससे कोई दिक्कत नहीं होती है। जिन भी लोगों ने इस चिप को लगवाया है वे इससे काफी खुश हैं।

12 बार सांपों ने काटा तब भी जिंदा है ये शख्स, डॉक्टर हैरान

ये सारे काम कर सकती है ये चिप

ये सारे काम कर सकती है ये चिप

इस चिप का इस्तेमाल करके घर का गेट खोला जा सकता है, फोन अनलॉक किया जा सकता है, अपनी गाड़ी के लॉक दरवाजे को खोल सकते हैं, कुछ एयरपोर्ट पर तो आप इस चिप के इस्तेमाल से ही अपनी पहचान कंफर्म कर सकते हैं और इसके अलावा भी इस चिप के हर वो काम आसान हो जाएगा, जिसमें रेडियो फ्रीक्वेंसी चिप का इस्तेमाल होता है।

उरी हमला: यही थे वो चारों पाकिस्तानी दरिंदे, जिन्हें सेना ने मार गिराया

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
radio frequency identification devices will make the life easier
Please Wait while comments are loading...