क्‍यों आज महंगा हो सकता है पेट्रोल-डीजल, जानिए इसके पीछे की वजह?

Subscribe to Oneindia Hindi

नई दिल्‍ली। देश में एक बार फिर पेट्रोल और डीजल की कीमतें बढ़ सकती हैं। साथ ही इसकी घोषणा भी आज की सकती है।

petrol-diesel

 

महंगा होने की अहम वजह

पेट्रोल और डीजल महंगा होने की अहम वजह सामने आ गई है। क्‍योंकि अंतर्राष्‍ट्रीय स्‍तर पर कच्‍चे तेल की कीमत अंतर्राष्‍ट्रीय स्‍तर 53.11 डॉलर प्रति बैरल के स्‍तर पर पहुंच गई है। पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस मंत्रालय के तहत पेट्रोलियम नियोजन और विश्लेषण प्रकोष्ठ के आंकड़ों के मुताबिक भारतीय बास्केट के कच्चे तेल का अंतर्राष्ट्रीय मूल्य 14 दिसंबर को 53.11 अमेरिकी डॉलर प्रति बैरल के स्‍तर पर पहुंच गया है। वहीं अमेरिका में फेडरल रिजर्व की तरफ से ब्‍याज दरों में में बढ़ोतरी करने का असर भी इस पर पड़ सकता है और डॉलर की तुलना में रुपया गिर सकता है।

ये भी पढ़ें: पीएफ खाताधारकों के काम की खबर, 19 दिसंबर को होगा बड़ा फैसला

 

रुपया हुआ कमजोर

रुपए में भारतीय बास्केट के कच्चे तेल की कीमत 14 दिसम्बर, 2016 को घटकर 3588.29 रुपए प्रति बैरल हो गई। रुपया 14 दिसंबर, 2016 को कमजोर होकर 67.56 रुपया प्रति अमेरिकी डॉलर के स्तर पर बंद हुआ, जबकि 13 दिसंबर, 2016 को यह 67.49 रुपए प्रति अमेरिकी डॉलर के स्‍तर पर था। गुरुवार को रुपया गिरकर 67.83 के स्‍तर पर पहुंच गया।

अक्‍टूबर-नवंबर दोनों महीनों में महंगा पेट्रोल

30 नवंबर को पेट्रोल 13 पैसे महंगा और डीजल 12 पैसे सस्‍ता हुआ था। पेट्रोलियम एवं प्राकृतिक गैस मंत्रालय के अधीन आने वाले पेट्रोलियम नियोजन एवं विश्‍लेषण प्रकोष्ठ (पीपीएसी) के आंकड़ों के मुताबिक भारतीय बास्‍केट के कच्चे तेल की अंतर्राष्‍ट्रीय स्‍तर पर कीमत 29 नवम्बर, 2016 को 45.23 अमेरिकी डॉलर प्रति बैरल दर्ज की गई थी। 28 नवंबर को कच्‍चे तेल की कीमत 45.18 डॉलर के स्‍तर पर थी। आपको बताते चलें कि इससे पहले केंद्र सरकार ने 15 नवंबर को पेट्रोल और डीजल की कीमतों में कमी की घोषणा की थी। 15 नवंबर पेट्रोल की कीमत में 1.46 रुपए प्रति लीटर और डीजल की कीमत में 1.53 रुपए प्रति लीटर कम किए गए थे।

ये भी पढ़ें: 7 ऐसे तरीके जिनके जरिए बैंक वाले कर रहे हैं कालेधन को सफेद करने का खेल

भारतीय बास्‍केट के कच्चे तेल की अंतर्राष्‍ट्रीय कीमत 14 नवंबर, 2016 को 42.12 अमेरिकी डॉलर प्रति बैरल थी। इससे पहले तेल कंपनियों ने 5 नवंबर को पेट्रोल और डीजल की कीमतों में इजाफा किया था। तेल कंपनियों ने तब पेट्रोल में 89 पैसे प्रति लीटर और डीजल में 86 पैसे प्रति लीटर की बढ़ोतरी की थी। वहीं 15 अक्टूबर को तेल कंपनियों ने कीमतें बढ़ाई थीं। तब पेट्रोल की कीमतों में 1.34 रुपए प्रति लीटर की बढ़ोतरी की गई थी जबकि डीजल में 2.37 रुपए प्रति लीटर का इजाफा किया गया था।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
petrol and diesel price may be hike soon know what is reason behind it
Please Wait while comments are loading...