साल भर की दी जा रही एडवांस सैलरी, इन नायाब तरीकों से कालेधन को लगाया जा रहा है ठिकाने

Subscribe to Oneindia Hindi

नई दिल्ली। 500 और 2000 रुपए के नोट बैन क्या हुए, कालाधन रखने वालों ने इसे खपाने के तरीके भी निकाल लिए। तरीके भी ऐसे-ऐसे, जो सरकार ने भी नहीं सोचा होगा कि कालाधन रखने वाले ये करेंगे।

हालांकि, पीएम मोदी के इस अहम फैसले से बहुत सारा कालाधन बाहर आने भी लगा है। आइए जानते हैं कुछ खास तरीकों के बारे में जिनसे कालेधन वाले सफेद कर रहे हैं अपना पैसा।

एडवांस सैलरी देकर

एडवांस सैलरी देकर

बहुत से कालाधन रखने वाले ऐसे लोग हैं, जिसका कोई न कोई कारोबार है। उन लोगों ने अपने काले धन को सफेद करने के लिए अपने स्टाफ को साल-साल भर की सैलरी एडवांस में देनी शुरू कर दी है।

इस तरह से सभी कर्मचारी उन पैसों को अपने बैंक खातों में जमा करा देंगे और वो कालाधन बेकार होने से बच जाएगा। वहीं दूसरी ओर, बैंक में जमा करा देने से वह कालाधन बिना कोई टैक्स दिए ही सफेद हो जाएगा।

यहां छपे थे 500 और 2000 के नोट, इटली से आया था कागज

सोना खरीदकर

सोना खरीदकर

भारत में निवेश का सबसे अच्छा और पारंपरिक स्रोत है सोना। हर घर में सोने की चीजें जरूर होती हैं। और हो भी क्यों ना, सोना परंपरा से तो जुड़ा हुआ है ही, साथ ही बुरे वक्त पर काम भी आता है।

अब यही सोना कालाधन रखने वालों के बुरे वक्त का संकटमोचन बना हुआ है। बहुत से लोग अपने पैसों से दोगुनी, तीनगुनी कीमत देकर सोना खरीद रहे हैं, ताकि सिर्फ कागज का टुकड़ा बन जाने से तो अच्छा है कि वह पैसा कुछ न कुछ काम आ जाए।

दुकानदार भी लालच में पड़कर सोने को अधिक कीमत पर बेच रहे हैं। भले ही सरकार 2.5 लाख से अधिक पैसे जमा करने वालों पर नजर रखेगी, लेकिन अगर छोटे-छोटे दुकानदार 2.5 लाख रुपए से कम जमा करते हैं तो उनसे कोई पूछताछ नहीं की जाएगी।

सावधान! नोट बदलने के चक्कर में कहीं आपसे भी न हो जाए ये गलती

मंदिरों में पैसे जमा करके

मंदिरों में पैसे जमा करके

कुछ लोग मंदिरों के पुजारियों से सेटिंग करके कालेधन को सफेद करने में जुटे हुए हैं। दरअसल, मंदिरों में लोग पैसे दान करते हैं, इसलिए मंदिर से ये पूछा नहीं जाएगा कि आप ये पैसे कहां से लाए।

सीधे-सीधे कहा जाए तो मंदिर प्रशासन को यह बताने की जरूरत नहीं होगी कि उनके पैसों का स्रोत क्या है। इसी का फायदा उठाकर ये गोरखधंधा भी चल पड़ा है। हाल ही में मथुरा का एक पुजारी इसी तरह से कालेधन को कुछ कमीशन लेकर सफेद करते हुए पकड़ा भी गया है।

जल्द ही आने वाला है रिलायंस जियो का ब्रॉडबैंड और DTH, बोलकर सर्च कर सकेंगे प्रोग्राम

दोस्तों-रिश्तेदारों के खातों में पैसे जमा करके

दोस्तों-रिश्तेदारों के खातों में पैसे जमा करके

बहुत से लोग अपने दोस्तों और रिश्तेदारों के खातों में पैसे जमा करके अपने कालेधन को सफेद करने में लगे हुए हैं। वे लोग अपने दोस्त या रिश्तेदार के खाते में 2.5 लाख से कम की ही रकम जमा करा रहे हैं, ताकि कोई पूछताछ न हो।

इस तरह से अगर वह 20 खातों में पैसे जमा करवाने में सफल हो जाते हैं, तो आसानी से 50 लाख रुपए के कालेधन को ठिकाने लगाया जा सकता है। हालांकि, अगर बैंक में पैसे जमा करते वक्त कोई शक हुआ तो उस पर नजर रखी जा सकती है।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
people are converting black money to white by these ways
Please Wait while comments are loading...