नीति आयोग के सीईओ अमिताभ कांत बोले-एटीएम और डेबिट-क्रेडिट कार्ड भी साल 2020 तक हो जाएंगे बेकार

देश में नोटबंदी के फैसल के बाद केंद्र सरकार जहां डिजिटल बैंकिंग से डिजिटल पेमेंट तक पर पूरी तरह से जोर देने में लगी हुई है।

Subscribe to Oneindia Hindi

नई दिल्‍ली। देश में नोटबंदी के फैसल के बाद केंद्र सरकार जहां डिजिटल बैंकिंग से डिजिटल पेमेंट तक पर पूरी तरह से जोर देने में लगी हुई है। तो वहीं नीति आयोग ने सीईओ अमिताभ कांत ने एक कदम आगे जाते हुए कहा है कि वर्ष 2020 तक देश एटीएम और प्‍वाइंट ऑफ सेल(पीओएस) मशीन बेकार हो जाएंगी। उन्‍होंने कहा कि भारत लंबी कूद के साथ दुनिया में फैले गैप को कम कर लेगा। अमिताभ कांत ने कहा कि मेरा विचार है कि अगले दो से ढाई सालों के अंदर भारत के अंदर सारे डेबिट, क्रेडिट, सभी एटीएम और पीओएस मशीन बेकार हो जाएंगी। यह बात उन्‍होंने प्रवासी भारतीय दिवस के दौरन के सत्र में कही। उन्‍होंने दावा कि भारत इन सब से आगे निकलकर अंगूठे के जरिए ही 30 सेकेंड में पेमेंट करने लगेगा।

नीति आयोग के सीईओ अमिताभ कांत बोले-एटीएम और डेबिट-क्रेडिट कार्ड भी साल 2020 तक हो जाएंगे बेकार

उन्‍होंने कहा कि डिजिटल पेमेंट को और ज्‍यादा तेजी देने के लिए हम लोग इनोवेटिव तरीकों को अपना रहे हैं। इसी को ध्‍यान में रखते हुए कहा कि भारत में बॉयोमेट्रिक इनेबल इंडिया को मजबूत कर रहे हैं। उन्‍होंने कहा कि हाल में ही जारी किए गए भीम ऐप और आधार आधारित पेमेंट सिस्‍टम के जरिए डिजिटल पेमेंट की शुरुआत की गई है। उन्‍होंने कहा सिर्फ भारत ही एक ऐसा देश है जहां अरबों मोबाइल और अरबो बॉयोमेट्रिक हैं, अभी भारत में सबसे ज्‍यादा केस में ही लेन-देन होता है, इस बात पर भी अमिताभ कांत ने जोर दिया। उन्‍होंने कहा कि देश में अभ्‍ज्ञ सिर्फ 2.5 फीसदी भारतीय टैक्‍स दे रहे हैं। इस तरह से तो असंभव हो जाएगा कि भारत 10 ट्रिलियन की अर्थव्‍यवस्‍था बन सके। उन्‍होंने दावा किया कि गांवों में रहने वाले लोग टेक्‍नोलॉजी का प्रयोग डिजिटल पेमेंट के लिए शहर में रहने वाले शिक्षित लोगों से भी ज्‍यादा तेजी से कर रहे हैं।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Niti Aayog ceo amitabh kant says cards, atms, pos will be redundant by 2020 in India
Please Wait while comments are loading...