राजन ने चेताया- वित्तीय स्थिरता के लिए घातक होगी छूट

Subscribe to Oneindia Hindi

मुंबई। सितंबर महीने की 4 तारीख को भारतीय रिजर्व बैंक से विदा होने वाले गवर्नर रघुराम राजन ने शुक्रवार को रिजर्व बैंक की ओर से 'राष्ट्रीय महत्व' की गतिविधियों के लिए किसी तरह की छूट देने से खारिज किया।

raghuram rajan

रिजर्व बैंक कोई समझौता नहीं कर सकता

उन्होंने कहा कि रिजर्व बैंक प्रणालीगत स्थिरता से कोई समझौता नही कर सकता। सरकार को इन कामों के लिए आर्थिक सहायता देनी चाहिए।

बोले स्वामी- अमेरिका के थोपे हुए हैं रघुराम राजन और अरविंद सुब्रह्मण्यम

राजन ने कहा कि रिजर्व बैंक की ओर से प्रणालीगत स्थिरता को दरकिनार करने से बेहतर है कि सरकार सीधे तौर पर उन गतिविधियों को सहायता प्रदान करें जो राष्ट्रीय महत्व के हैं।

सावधान रहने की जरूरत

फॉरन एक्सचेंज डीलर्स एसोसिएशन के कार्यक्रम में राजन ने कहा कि हालांकि रिजर्व बैंक लिबरलाइज़ कर रहा है लेकिन इसके लिए सावधान रहने की जरूरत है कि मितव्ययी मानकों को सिर्फ इसलिए छूट न दी जाए कि किसी संस्था या फिर गतिविधि को राष्ट्रीय महत्व का मान लिया जाए।

रिजर्व बैंक के नए गवर्नर के सामने होंगी ये 5 चुनौतियां

राजन ने तर्क दिया कि राष्ट्रीय स्तर पर महत्वपूर्ण गतिविधि करना खतरनाक हो सकता है। ऐसी गतिविधियों के लिए कम कीमत प्रदाता की अपेक्षा रखना या फिर बड़े स्तर पर छूट देना या फिर बाहरी वाणिज्यिक उधार लेा प्रणालीगत जोखिम को बढ़ा सकता है।

उर्जित पटेल होंगे नए आरबीआई गवर्नर, राजन की जगह लेंगे

राजन ने आगे कहा कि बुनियादी ढांचे के कई प्रोजेक्ट्स बहुपक्षीय एजेंसियों या फिर जपान सरीखी सरकारों की ओर से वित्तपोषित हैं जहां मुनाफा बहुत कम है।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Raghuram Rajan said Leeway to infra funding will risk financial stability.
Please Wait while comments are loading...