नोटबंदी के बाद बैंकों में जमा हुए 3-4 लाख करोड़ रुपए पर आय‍कर विभाग की नजर , हो सकता है कालाधन

देश में 8 नवंबर, 2016 को नोटबंदी के फैसले के बाद से अब तक लोन चुकाने में 80,000 करोड़ रुपए के 500-1000 रुपए ने नोटों का प्रयोग किया जा चुका है।

Subscribe to Oneindia Hindi

नई दिल्‍ली। इनकम टैक्‍स ने अपने अध्‍ययन में इस बात का दावा किया है कि नोटबंदी के बाद बैंकों में जमा हुए कुल रुपयों में से 3 से 4 लाख करोड़ रुपया कालेधन का हिस्‍सा हो सकता है। आयकर विभाग के एक वरिष्‍ठ अधिकारी ने बताया कि करीब 3-4 लाख करोड़ रुपए जमा करने वाले लोगों को जांच के बाद नोटिस भेजा जाएगा। उन्‍होंने उम्‍मीद जताई कि ऐसा हो सकता है कि इतना पैसा टैक्‍स दिए बिना ही लोगों ने जमा किया है। उन्‍होंने यह भी उम्‍मीद जताई कि यह कालेधन का हिस्‍स्‍सा हो सकता है। अधिकारियों ने बताया कि प्रधानमंत्री जन धन योजना के तहत खोले गए बैंक खातों में जमा हुए रुपयों पर सरकार की नजर है। इस खातों में 1 लाख रुपए के ऊपर जमा हुए हर राशि की समीक्षा की जा रही है।

देश में 8 नवंबर, 2016 को नोटबंदी के फैसले के बाद से अब तक लोन चुकाने में 80,000 करोड़ रुपए के 500-1000 रुपए ने नोटों का प्रयोग किया जा चुका है। इस बात का खुलासा आयकर विभाग ने अपनी रिपोर्ट में किया है। वहीं देश के 60 लाख बैंक खातों में 8 नवंबर के बाद से अब तक 2,00,000 लाख रुपए जमा किए जा चुके हैं। इनकम टैक्‍स विभाग का मानना है कि नोटबंदी के फैसले के बाद से अब तक 3-4 लाख करोड़ रुपए की छुपाई गई इनकम को बैंक में जमा किया गया है।

आयकर विभाग ने किया खुलासा नोटबंदी के बाद 80,000 करोड़ के पुराने नोटों से चुका दिया गया लोन
 Read also:2000 रुपए का नोट: RBI ने मई 2016 में दी थी मंजूरी, 500-1000 का नोट बंद नहीं करने पर नहीं हुई थी बात आयकर विभाग की रिपोर्ट में यह तथ्‍य सामने आए हैं कि 16,000 करोड़ रुपए को को-ऑपरेटिव बैंकों में जमा किया जा चुका है। वहीं 25,000 करोड़ रुपए डोरमंट खातों में जमा किए गए हैं। पूर्वोत्‍तर के राज्‍यों में बहुत से बैंक खातों में 10,700 करोड़ रुपया जमा कराया जा चुका है। वहीं आयकर विभाग औार प्रवर्तन निदेशालय का कहना है कि को-ऑपरेटिव बैंकों में जमा कराए गए 16,000 करोड़ रुपए की वो जांच कर रहे हैं।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
income tax department says since november 8, Rs 80,000 crore of loan repayment in old notes
Please Wait while comments are loading...