टाटा ग्रुप की ओर लगे आरोपों पर सायरस मिस्त्री का पलटवार

पद से हटाए जाने के बाद ग्रुप की ओर से लगे आरोपों के जवाब में उन्होंने कहा, 'मेरे कार्यकाल के दौरान लिए गए सभी फैसले ग्रुप की सहमति और नियमों के तहत थे।'

Subscribe to Oneindia Hindi

नई दिल्ली। टाटा ग्रुप के चेयरमैन पद से हटाए गए सायरस मिस्त्री ने कंपनी की ओर से लगाए गए आरोपों को गलत और आधारहीन बताया है। उन्होंने कहा कि डोकोमो मामले में टाटा संस की संस्कृति और मूल्यों के मुताबिक फैसले न लेने का आरोप सरासर गलत है।

Cyrus Mistry

पद से हटाए जाने के बाद ग्रुप की ओर से लगे आरोपों के जवाब में उन्होंने कहा, 'मेरे कार्यकाल के दौरान लिए गए सभी फैसले ग्रुप की सहमति और नियमों के तहत थे। डोकोमो डील पर सभी फैसले टाटा संस के निदेशक मंडल की मंजूरी से ही लिए गए थे।'

पढ़ें: पाकिस्तान को BSF ने दिया करारा जवाब, ध्वस्त कर दीं 14 पोस्ट

अपने जवाब में सायरस मिस्त्री ने कहा, 'डोकोमो के मामले में केस जिस तरह लड़ा गया है उसमें निदेशक मंडल की अनुमति न होने की बात कहना सरासर गलत है। '

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Cyrus Mistry says he is facing baseless charges over Docomo issue by tata group.
Please Wait while comments are loading...