ये है वो 'नंबर' जिससे चुटकी में मिल जाता है लोन, जानिए कैसे

Posted By:
Subscribe to Oneindia Hindi

मुंबई। क्रेडिट ब्यूरो एक दशक से भी अधिक समय से काम कर रहे हैं। हाल ही में हुए एक सर्वे में यह बात सामने आया है कि मेट्रो शहरों में रहने वाले बहुत ही कम लोगों को अपने क्रेडिट स्कोर के बारे में पता है।

क्या कहता है सर्वे

क्या कहता है सर्वे

सर्वे के अनुसार सिर्फ 15 फीसदी लोगों को ही अपने क्रेडिट स्कोर के बारे में पता है। वहीं दूसरी ओर, 50 फीसदी लोगों को यह भी पता नहीं है कि क्रेडिट स्कोर क्या होता है।

सर्वे में पता चला कि 70 फीसदी लोग जानते हैं कि अच्छे क्रेडिट स्कोर की वजह से कर्ज आसानी से मिलता है और 41 फीसदी लोग यह जानते हैं कि अच्छे क्रेडिट स्कोर के चलते ब्याज भी कम देना पड़ता है।

यह सर्वे मुंबई, दिल्ली, कोलकाता, पुणे, अहमदाबाद, चेन्नई और हैदराबाद जैसे 8 शहरों में किया गया, जिसमें 1500 लोगों से सवाल पूछे हैं। अगर आप भी नहीं जानते हैं क्रेडिट स्कोर के बारे में, तो आइए जानते हैं क्या होता है क्रेडिट स्कोर और कैसे पता करें अपना क्रेडिट स्कोर।

पटाखों की दुकान वाले 50 फीसदी छूट देकर ऐसे कमाते हैं 200 फीसदी मुनाफा

क्या होता है सिबिल (CIBIL)?

क्या होता है सिबिल (CIBIL)?

CIBIL का पूरा नाम है CREDIT INFROMATION BUREAU (INDIA) LIMITED [IN]. ट्रांसयूनियन सिबिल लिमिटेड भारत की पहली क्रेडिट इन्फॉर्मेशन कंपनी है जिसे सामान्य रूप से क्रेडिट ब्यूरो भी कहा जाता है। यह व्यक्तियों और गैर-व्यक्तियों (वाणिज्यक निकायों) के लोन और क्रेडिट कार्ड्स से संबंधित भुगतानों के रिकॉर्ड जुटाते और रखते हैं। ये रिकॉर्ड बैंकों और अन्य लेंडर्स द्वारा मासिक आधार पर ट्रांसयूनियन सिबिल लिमिटेड के पास जमा किए जाते हैं।

इस जानकारी का उपयोग करके क्रेडिट इन्फॉर्मेशन रिपोर्ट (सीआईआर) तथा क्रेडिट स्कोर विकसित किया जाता है, जिनकी बदौलत लेंडर्स लोन आवेदनों का मूल्यांकन करते हैं और उन्हें स्वीकार या अस्वीकार करते हैं। क्रेडिट ब्यूरो को आरबीआई द्वारा अनुज्ञप्त किया जाता है और क्रेडिट इन्फॉर्मेशन कंपनीज (रेगुलेशन) एक्ट ऑफ 2005 द्वारा अधिशासित किया जाता है।

ये रहे एयरटेल के 8 धांसू ऑफर, अपनी पसंद का चुनें

क्या होता है क्रेडिट स्कोर?

क्या होता है क्रेडिट स्कोर?

क्रेडिट स्कोर वह संख्या होती है, जिसे देखकर कोई भी बैंक ये फैसला करता है कि आपको कितना लोन देना चाहिए और कितना ब्याज लगाना चाहिए। कुछ लोगों का स्कोर बहुत अच्छा होता है तो कुछ लोगों को स्कोर बहुत बुरा, यही कारण है कि कुछ लोगों को लोन तुरंत मिल जाता है, लेकिन कई लोगों को लाख कोशिशों के बाद भी लोन देने में बैंक कतराते हैं।

यह स्कोर 300 से 900 के बीच होता है। अगर आपका स्कोर 850 से अधिक है, तो आपको कोई भी बैंक बहुत ही आसानी से लोन दे देगा, वहीं दूसरी ओर, अगर आपका क्रेडिट स्कोर 300-500 के बीच में है, तो बैंक आपको लोन देने से कतराएगा। मतलब, जितना अधिक क्रेडिट स्कोर, लोन लेना उतना ही आसान।

भारत की इस परमाणु पनडुब्बी की जद में आएंगे इस्लामाबाद और कराची!

कैसे पता करें अपना क्रेडिट स्कोर?

कैसे पता करें अपना क्रेडिट स्कोर?

क्रेडिट स्कोर तभी जानना सही है जब आपको वाकई में इसकी जरूरत है। दरअसल, अधिकतर लोगों को ये तो पता होता है कि क्रेडिट स्कोर का मतलब क्या है, लेकिन उनका खुद का क्रेडिट स्कोर उन्हें पता नहीं होता है।

ऐसा इसलिए, क्योंकि क्रेडिट स्कोर जानने के लिए आपको कम से कम 550 रुपए का भुगतान करना होता है। अगर आप साल में दो बार रिपोर्ट चाहते हैं तो 880 रुपए और अगर 4 बार चाहते हैं तो 1200 रुपए सिबिल को देने होते हैं।

इसके अलावा, आपको अपना ईमेल एड्रेस, जन्म तिथि, लिंग और पैन कार्ड नंबर ऑनलाइन फॉर्म में भरना होता है। प्रक्रिया पूरी हो जाने के बाद आपको आपका सिबिल स्कोर भेज दिया जाता है। अपना क्रेडिट स्कोर जानने के लिए यहां क्लिक करें और फॉर्म भरकर भुगतान करें।

पाकिस्तान में चर्चा में है एक चायवाला, पूरे मुल्क की कुड़ियां फिदा

देश-दुनिया की तबरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
credit score help you to get loan easily
Please Wait while comments are loading...