चीन की चेतावनी, चीनी सामानों का किया बायकॉट तो बिगड़ेंगे रिश्ते, निवेश पर होगा असर

Posted By:
Subscribe to Oneindia Hindi

नई दिल्ली। सोशल मीडिया पर चीनी सामानों के बहिष्कार करने की अपील रंग लाने लगी है। दीवाली की खरीददारी के दौरान लोगों ने चाइनीज सामान खरीदने के बजाए स्वदेशी चीजें खरीदने पर जोर दिया है। लोग देशी दिए, मूर्तियां और सजावटी समान खरीद रहे हैं। चाइनीज सामानों के बायकॉट से चीन नाराज है।

china india

अपनी नाराजगी दिखाते हुए चीन ने भारत को चेतावनी दे डाली की अगर उनके सामानों का बायकॉट किया गया तो भारत-चीन के रिश्ते में कड़वाहट आएगी। इतना ही नहीं भारत और चीन के बीच जारी निवेश और व्यापार पर भी असर पड़ेगा।

चीनी सामान के बहिष्कार का दिखा असर, दीयों की बिक्री 45 फीसदी बढ़ी

दिल्ली स्थित चीनी दूतावास के प्रवक्ता जी लियान ने कहा कि चीन इस तरह के बहिष्कार से चिंतित है। इस तरह से चाइनीज सामानों के बहिष्कार से चीनी इन्टरप्रेन्यूर पर नकारात्मक असर पड़ सकता है। जिसका असर दोनों देशों के बीच के संबंध और निवेश पर भी पड़ सकता है।

जानें क्या है 'वाइफ टूरिज्म', दुल्हन की खोज में क्यों साइबेरिया पहुंच रहे हैं चीनी लड़के?

आपको बता दें कि दक्षिण एशिया में भारत चीन का सबसे बड़ा व्यापारिक साझेदार है। भारत चीन के लिए नौवां सबसे बड़ा निर्यातक बाजार है।दोनों देशों के बीच साल 2015 में 71.6 बिलियन डॉलर का व्यापार हुआ था। इस बार सोशल मीडिया पर चलाई जा रही मुहीम की वजह से लोगों ने चीनी सामानों को खरीदने में कोताही बरती है। ऐसा इसलिए क्योंकि उरी हमले के बाद भारत की बजाए चीन ने पाकिस्तान का साथ दिया। वहीं संयुक्त राष्ट्र में एनएसजी की सदस्यता में बारत की दावेदारी का चीन ने विरोध किया, जिसे लेकर भारत के लोग चीन से नाराज है।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
China on Thursday warned India that boycotting of its goods would affect ties and investments between the countries.
Please Wait while comments are loading...