पीएम-राष्‍ट्रपति ने बटन दबाकर लागू किया GST, अब एक राष्ट्र एक टैक्स

Posted By:
Subscribe to Oneindia Hindi

नई दिल्ली। कई सालों से जिस टैक्स रिफॉर्म पर बहस चल रही थी, आज से वह टैक्स यानी जीएसटी लागू हो गया है। जीएसटी लागू होने के बाद पहला बिल मुंबई में कटा। जीएसटी को पीएम नरेन्द्र मोदी और राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने एक साथ लागू किया। इसके गवाह बने संसद के केन्द्रीय हॉल में बैठे लोग और पूरे देश की जनता, जो उन्हें टीवी पर देख रही थी। आपको बता दें कि जीएसटी को लागू करने के लिए संसद के केन्द्रीय हॉल में एक कार्यक्रम का भी आयोजन किया गया था। आइए जानते हैं शुरू से लेकर अंत तक क्या क्या हुआ और कैसे चला ये पूरा कार्यक्रम।

संसद पहुंचे दिग्गज

संसद पहुंचे दिग्गज

संसद के केन्द्रीय हॉल में किए गए आयोजन की शुरुआत करीब 11 बजे से होनी थी, जिसके लिए 10 बजे के बाद से दिग्गजों का संसद पहुंचना शुरू हो गया था। इसमें न केवल राजनेता, बल्कि उद्योगपतियों को भी आमंत्रित किया गया था। रतन टाटा भी इस कार्यक्रम में हिस्सा लेने पहुंचे थे। केन्द्रीय हॉल में होने वाले इस कार्यक्रम में हिस्सा लेने के लिए भाजपा अध्यक्ष अमित शाह समेत भाजपा के सभी नेता पहुंचे और वित्त मंत्री अरुण जेटली भी पहुंचे।

ये भी पढ़ें- पीएम मोदी बोले- गुड एंड सिंपल टैक्‍स है GST, नेहरू को याद किया

पीएम और राष्ट्रपति का हुआ स्वागत

पीएम और राष्ट्रपति का हुआ स्वागत

कार्यक्रम शुरू होने से कुछ समय पहले देश के प्रधानमंत्री पीएम मोदी पहुंचे और केन्द्रीय मंत्री अनंत कुमार ने उनका स्वागत किया। पीएम के आने के बाद उपराष्ट्रपति हामिद अंसारी पहुंचे, जिनका स्वागत हुआ। कार्यक्रम शुरू होने से तुरंत पहले पहुंचे राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी, जिनका केन्द्रीय मंत्री अनंत कुमार ने स्वागत किया। इसके बाद कार्यक्रम की शुरुआत की गई। मंच पर पीएम मोदी और राष्ट्रपति के अलावा वित्त मंत्री अरुण जेटली, लोक सभा स्पीकर सुमित्रा महाजन, उप-राष्ट्रपति हामिद अंसारी और पूर्व मुख्यमंत्री एचडी देवेगौड़ा भी उपस्थित थे।

ये भी पढ़ें-...तो इस तरह से PM मोदी ने GST को गीता से जोड़ा

जेटली, पीएम और राष्ट्रपति ने दिया भाषण

जेटली, पीएम और राष्ट्रपति ने दिया भाषण

इसके बाद वित्त मंत्री अरुण जेटली, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने भाषण दिया। अरुण जेटली ने जीएसटी के बारे में बोलते हुए आज के कार्यक्रम से पहले जीएसटी काउंसिल की हुई 18वीं बैठक के बारे में भी बोला। पीएम मोदी ने जीएसटी का नया मतलब बताते हुए इसे गुड एंड सिंपल टैक्स कहा और साथ ही इसकी तुलना भगवत गीता से की। वह बोले कि जिस तरह गीता में 18 अध्याय हैं, उसी तरह जीएसटी लागू करने के लिए भी जीएसटी काउंसिल की 18 बैठकें हुई हैं। इसके बाद राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने जीएसटी काउंसिल को जीएसटी लागू करने से पहले का काम समय पर निपटा लेने के लिए बधाई दी।

ये भी पढ़ें-लॉन्चिंग कार्यक्रम बोले जेटली, जीएसटी से नए भारत का उदय होगा

लागू हुआ जीएसटी

लागू हुआ जीएसटी

देश के इस सबसे बड़े टैक्स रिफॉर्म को पीएम मोदी और राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने एक साथ मिलकर लागू किया। इसी के साथ अब 1 जुलाई से देश भर में जीएसटी लागू हो चुका है। जीएसटी लागू होते ही देश के अलग-अलग हिस्सों में जश्न भी मनाया गया, जिसकी तस्वीरें सोशल मीडिया पर भी चल रही हैं।

जीएसटी के बाद मुंबई में कटा पहला बिल

जीएसटी के बाद मुंबई में कटा पहला बिल

जीएसटी लागू होने के बाद मुंबई में पहला बिल कटा। इस बिल में साफ दिख रहा है कि टूथपेस्ट पर 18 फीसदी जीएसटी लगा है, जिसमें से 9 फीसदी जीएसटी केन्द्र को और 9 फीसदी जीएसटी राज्य को चला गया है। अन्य वस्तुओं पर भी जितना जीएसटी लगा, उसका आधा केन्द्र को और आधा राज्य को चला गया है।

देश-दुनिया की तबरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
biggest tax refrom GST implemented from today
Please Wait while comments are loading...