ATM से पैसे निकालने से पहले जरूर पढ़ें, कैसे होती है ठगी

Posted By:
Subscribe to Oneindia Hindi

नई दिल्ली। इन दिनों 500 और 1000 रुपए के नोट बंद होने के कारण लोगों को लंबी-लंबी लाइनें लगाकर एटीएम से पैसे निकालने पड़ रहे हैं। ऐसे में आपको यह ध्यान रखने की जरूरत है कि अगर आप अपने कार्ड से पैसे निकालते समय ध्यान नहीं देंगे, तो इसका आपको बड़ा खामियाजा भुगतना पड़ सकता है। आइए जानते हैं कैसे-कैसे होते हैं एटीएम पर फ्रॉड।

atm

जानिए कैसे नोट बैन होने से घट जाएगी आपकी ईएमआई!

स्किमिंग

किसी कार्ड रीडर में डाटा स्किमिंग डिवाइस लगाकर ऐसा किया जाता है। इसमें जब कोई यूजर अपने कार्ड को कार्ड रीडर पर स्वाइप करता है तो उसका डेटा कार्ड की काली मैग्नेटिक स्ट्रिप से स्किमिंग डिवाइस में कॉपी हो जाता है। साथ ही, कई जगह कार्ड रीडर के आस-पास कैमरे भी लगाए गए होते हैं, ताकि यूजर का पिन देखा जा सके।

ताक-झांक करके

जिस वक्त आप एटीएम से पैसे निकालते हैं, अगर उस समय कोई अनजान व्यक्ति एटीएम मशीन में घुसता है और आपकी मदद की बात करता है या फिर आपके पीछे खड़ा हो कर ताक-झांक करता है, तो जरा संभल जाएं। इस तरह से वह आपका पिन जानने की कोशिश कर रहा हो सकता है और बाद में आपके कार्ड से पैसे निकाल सकता है।

माइक्रो एटीएम: ऐसा ATM जो घर आ जाता है पैसे देने, जानिए क्या है ये

कार्ड भूल जाना

अगर आपने अपने कार्ड पर पिन नंबर लिखा हुआ है और आप उसे किसी ट्रांजैक्शन के बाद एटीएम में ही भूल जाते हैं तो ये फ्रॉड करने वालों के लिए सबसे बड़ा न्योता है। कभी भी कार्ड पर नंबर न लिखें और पैसे निकालने के बाद अपना कार्ड लेना न भूलें।

एटीएम मशीन पर फ्रॉड करने के क्या तरीके अपनाते हैं अपराधी?

1- हिडेन कैमरा- एटीएम मशीन पर या फिर एटीएम मशीन के चेंबर में कोई कैमरा लगाकर अपराधी आपके कार्ड की जानकारी और पिन चुराने की कोशिश करते हैं।

2- नकली की-पैड- कई बार यह भी देखा गया है कि नकली की-पैड लगाकर अपराधी फ्रॉड करने की कोशिश करते हैं। अगर आपको की-पैड गद्देदार या फिर ढीला-ढाला लगे, तो ऐसी स्थिति में पिन टाइप न करें तो ही अच्छा है। इसकी जगह, किसी और एटीएम का उपयोग करें।

3- कार्ड स्किमर लगाकर- एटीएम में जहां कार्ड डाला जाता है, वहां पर कई बार फ्रॉड करने वाले स्किमर लगा देते हैं, जिससे आपके कार्ड की जानकारी चोरी हो जाती है। इसे पहचान पाना भी बहुत मुश्किल होता है।

4- कार्ड रीडर- कई बार कार्ड रीडर के ऊपर रीडर जैसी दिखने वाली एक नकली चीज लगा दी जाती है। जैसे ही आप अपना कार्ड स्वाइप करते हैं तो आपकी जानकारी उस नकली रीडर में कॉपी हो जाती है।

सरकार ने दी बड़ी राहत, अब 18 नवंबर तक नहीं लगेगा टोल टैक्स

कैसे बचें?

 

  • इस तरह की किसी धोखेबाजी से बचने के लिए हर एटीएम मशीन के कमरे में घुसते ही पहले इधर-उधर देख लें और अगर ऊपर बताए गए कोई लक्षण नजर आएं तो इसकी जांच करें।
  • कभी भी एटीएम पर पिन डालते वक्त यह ध्यान रखें कि कोई आपके पीछे खड़ा होकर आपका पिन तो नहीं देख रहा है। आपको बता दें कि नियम के मुताबिक एटीएम के कमरे में एक बार में सिर्फ एक ही व्यक्ति के जाने की अनुमति है।
  • अगर आप किसी ऐसी जगह पर लगे एटीएम से पैसे निकाल रहे हैं जो खुले में है तो पिन टाइप करते समय हाथ से की-पैड को ढक लें, ताकि कोई आपका पिन न देख सके।
  • अगर कोई आपकी मदद करने की कोशिश करता है तो पहले यह सुनिश्चित कर लें कि वह कोई धोखेबाज तो नहीं है। अगर ऐसा कुछ शक हो तो कोशिश करें कि पैसे बाद में निकालें।
  • कभी भी अपने एटीएम कार्ड पर पिन न लिखें और ना ही कभी अपने पिन और कार्ड को एक साथ रखें। अगर दोनों एक साथ खोए या चोरी हो गए तो आपके अकाउंट से पैसे निकाले जा सकते हैं।
देश-दुनिया की तबरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Beware of card frauds at atm centers
Please Wait while comments are loading...